Submit your post

Follow Us

फिल्म रिव्यू: इटर्नल्स

दिवाली वीकएंड है. फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए सबसे किफ़ायती हफ़्ता माना जाता है ये वीक. बरसों से बड़े-बड़े स्टार्स की फिल्में रिलीज़ होती आई हैं दिवाली वीकएंड पर. इस वीकएंड भी ओटीटी से लेकर थिएटर तक कई बड़ी फ़िल्में आई हैं. इन कई में से एक हॉलीवुड फ़िल्म ‘इटर्नल्स’ हम आपके लिए देख कर आए हैं. कैसी है फ़िल्म देखने के बाद हमारी इंटर्नल फीलिंग यही बताएंगे आज के रिव्यू में.

# कहानी

बहुत टिपिकल कहानी है ध्यान से सुनना. मार्वल की दुनिया के एलियन गॉड हैं सिलेस्टिअल्स. ये अपनी जादुई शक्तियों से दस सुपरहीरोज़ को बनाते हैं. ताकि ये हीरोज़ धरती की रक्षा दुष्ट डेवीएंट्स से कर सकें. ‘इटर्नल्स’ 7000 सालों से धरती पर बाकी दुनिया से छिपकर इंसानों के रूप में रह रहे हैं. चुपचाप बिना किसी को भनक लगे मानव प्रजाति की मदद करते आ रहे हैं. गुप्ता पीरियड से लेकर हिरोशिमा कांड तक आम मानव की आम रूप में हेल्प करते आए हैं. फ़िल्म शुरू होती है ‘अवेंजर्स एंडगेम’ के बाद की टाइमलाइन से. आयरनमैन, कैप्टन अमेरिका अब नहीं हैं. ऐसे में धरती को दुष्ट डेवीएंट्स से बचाने के लिए ‘इटर्नल्स’ फिर इक्कठा होते हैं. क्या इटर्नल्स दुनिया को बचाने में कामयाब होते हैं या डेवीएंट्स के आगे इनकी शक्तियां कम पड़ जाती हैं, ये आपको मालूम पड़ेगा फिल्म देखने के बाद.

#एक्टर्स कौन-कौन हैं ?

मार्वल ने ‘इटर्नल्स’ की कास्टिंग फिल्म को नज़र में रखकर कम और ग्लोबल मार्केट को नज़र में रखकर ज्यादा की है. इसलिए हर मूल के एक्टर को टीम का हिस्सा बना लिया है. जैसे फ़िल्म में आंखों से कॉस्मिक ऊर्जा निकालने वाले इकारिस का रोल किया है GOT वाले रॉब स्टार्क रिचर्ड मैडेन ने. अगली हैं सरसी, दुश्मनों से लड़ने के साथ-साथ इनकी और इकारिस की लव स्टोरी भी फिल्म में चलती रहती है.  इस चक्कर में फ़िल्म थोड़ी भटक भी जाती है. सरसी का रोल किया है जेम्मा चैन ने. जेम्मा इससे पहले ‘कैप्टन मार्वल’ में भी नज़र आ चुकी हैं मिनर्वा के रोल में. अगले हैं किंगो. हाथों से कॉस्मिक एनर्जी निकालते हैं. आम लाइफ़ में किंगो बॉलीवुड एक्टर बन गए हैं. इस रोल को निभाया है कुमैल नानजियानी ने. कुमैल का काम अच्छा है लेकिन उन्होंने एज़ अ बॉलीवुड एक्टर, जो इंडियन एक्सेंट पकड़ने की कोशिश की है वो बहुत ही लेम लगती है. नेक्स्ट हैं स्पिरिट. ये दिखने में तो छोटी बच्ची लगती है लेकिन असल में सबसे उम्रदराज है. इस किरदार को निभाया है लिया ने.

लिया सिर्फ 14 साल की हैं.
लिया सिर्फ 14 साल की हैं.

कहना पड़ेगा लिया का काम फ़िल्म में सबसे उम्दा है. और हां लिया सिर्फ 14 साल की हैं. अगली हैं मक्कारी. इनकी सुपर पावर है रफ़्तार. मक्कारी को कान से सुनाई नहीं पड़ता है लेकिन रफ़्तार में बिजली से भी तेज़ है. ये भूमिका निभाई है लॉरेन रिडलॉफ ने. लॉरेन ने किरदार के लिए मेहनत की है, ये उनकी परफॉरमेंस में दिखता है. एक धावक की जिस हिसाब से मसल्स होनी चाहिए, लॉरेन ने वैसी मसल्स बना रखी हैं. अब बात सबसे ताकतवर इटर्नल गिल्गामेश की. इस रोल को किया है डॉन ली ने. अपने जॉन स्नो यानी किट हैरिंगटन ने म्यूजियम में काम करने वाले डेन व्हिटमैन का रोल किया है. इटर्नल्स लीडर अजक के रोल में हैं सलमा हायेक. सलमा का अभिनय बहुत कमाल रहा. एंड लास्ट बट नॉट द लीस्ट इंडियन एक्टर हरीश पटेल फ़िल्म में किंगो के मैनेजर करुण के रोल में हैं. हरीश के सीन कम ही हैं लेकिन जितने भी सीन में वो आए, खूब हंसाया. वी होप इस फ़िल्म के बाद उनके करियर को अच्छा बूस्ट मिलेगा.

# जिसकी फिल्म उसी को साजे

‘इटर्नल्स’ के साथ वही हुआ, जो आज से दस साल पहले ‘रा वन’के साथ हुआ था. वही, जो किसी चाइनीज़ से डोसा बनवाने और मद्रासी से नूडल बनवाने पर होगा. वही, जो कॉमन मैन द्वारा पॉलिटिक्स बदलने की कोशिश में होता है. रायता फ़ैल गया. मार्वल वालो, आपको क्या लगा ‘अवेंजर्स’ की तरह एक और टीम खड़ी कर दोगे! जनता खुश होगी! शाबाशी देगी! इतने सारे सुपर हीरोज़ के बारे में समझने में ही 50% ब्रेन उलझ गया. किस की क्या पावर है, क्या पंगा है, बहुत देर में समझ आया. फ़िल्म में आगे कभी कैरेक्टर्स की ह्यूमन साइड को दिखाया जाता, फिर कट टू एक्शन होने लगता. ये पावर ऑन एंड ऑफ फ़िल्म को लगातार बोरिंग बनाते रहे. और हां एज़ अ इंडियन, अमेरिकन फ़िल्म मेकर्स को एक बात कहना बहुत ज़रूरी है. कि भाईसाब इंडिया में आपको सिर्फ़ गरीबी और स्लम ही नज़र आते हैं और इंडियन फ़िल्मों में सिर्फ़ रंग बिरंगे कपड़े और टिपिकल भरतनाट्यम डांस नज़र आता है क्या! फ़िल्म में कुमैल इंडियन एक्टर बने हैं. और उन्हें इतना टिपिकल इंडियन एक्टर बनाया गया है कि पूछो नहीं. जैसे अपने यहां सेवंटीज़ में होते थे उनसे भी चिरांद. हॉलीवुड वालो हमारी नई फ़िल्में देख लो यार और ये स्टीरियोटाइपिंग बंद कर दो एकदम. खैर यहां फिल्म की सिनेमेटोग्राफी और विज़ुयल इफेक्ट्स की तारीफ़ बनती है. पूरी फिल्म के दौरान काफी मनमोहक सीन्स आते हैं. फिल्म का एक यही पहलू है, जो दिल खुश करता है.

इंडियन एक्टर्स सिर्फ़ रंग-बिरंगे कपड़े पहन नाचते नहीं हैं विलायती बाबू.
इंडियन एक्टर्स सिर्फ़ रंग-बिरंगे कपड़े पहन नाचते नहीं हैं विलायती बाबू.

# डायरेक्शन और राइटिंग में दम लगा?

‘इटर्नल्स’ को लिखा है मैथ्यू और रायन फिप्रो ने. सैडली राइटिंग के मामले में ‘इटर्नल्स’ दूर-दूर तक ‘अवेंजर’ के बराबर नहीं आ पाती. फिल्म का ह्यूमर बहुत ही बचकाना और पुरानी डिज्नी फिल्मों जैसा है. एक तो इतने सारे करैक्टर एक साथ फिल्म में आ जाते हैं, ऊपर से ऑडियंस से उनका सीन्स के द्वारा परिचय करवाने के बजाय ज्यादातर किरदारों का तो यूं ही बोलकर इंट्रो कर दिया जाता है.

‘एटर्नल्स’ को डायरेक्ट किया है ऑस्कर विनिंग डायरेक्टर क्लोई झाओ ने. इस साल दुनिया भर के सारे प्रतिष्ठित अवार्ड समारोह में क्लोई झाओ की फ़िल्म ‘नोमैडलैंड’ ने और क्लोई ने अपने बेहतरीन निर्देशन के लिए ढेरों इनाम जीते हैं. झाओ ने पहली बार सुपरहीरो फ़िल्म डायरेक्ट की है. और बस यहीं सबसे बड़ी गड़बड़ हो गई है. संवेदनशील फिल्में बनाने के लिए विख्यात क्लोई ने मार्वल फ़िल्मों की रीत को बरकरार रखने की कोशिश करते हुए अपना एलिमेंट डाला लेकिन फ़ॉर्मूला बुरी तरह फेल हो गया. कोशिश एकदम विफ़ल गई है. फिल्म देख ऐसा लगा, मानो किसी साइकल राइडर को स्पोर्ट्स बाइक का हैंडल पकड़ा दिया हो. फिल्म में ऐसा लगता है, जैसे पंद्रह-बीस कहानियां एक साथ चल रही हैं. बॉटमलाइन, इस फिल्म के डूबने की मुख्य वजह ढीला डायरेक्शन है. डायरेक्शन के मामले में क्लोई ने मार्वल फैन्स को बहुत निराश किया है.

एंजेलिना जोली.
एंजेलिना जोली.

# देख ली जाए ?

हमारी जनरेशन मार्वल फ़िल्मों पर बड़ी हुई है. ‘आयरनमैन’ से लेकर ‘एंडगेम’ के बीच जितनी भी मार्वल फ़िल्में आईं, किसी में कम तो किसी में ज़्यादा लेकिन मज़ा सब में आया. लेकिन ‘इटर्नल’ पहली मार्वल फ़िल्म है, जिसमें मज़ा तो दूर की बात उल्टा दिवाली का मज़ा भी खराब हो गया. इससे ज़्यादा मज़ा तो रात की जली मोमबत्ती का बचा हुआ मोम जमा करने में आ जाता. ख़ैर हम मजबूर हैं लेकिन आप नहीं. बाकी निराश ना हों, चाहे तो कोई पुलिस वालों की पिच्चर देख लो. क्या समझे?


जब प्रणब मुखर्जी को ‘रंग दे बसंती’ दिखाई गई और उन्होंने कहा ‘ये मेरा काम नहीं है’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

आर्मी-एयर फोर्स पर आनेवाली वो 7 फिल्में, जो 2022 को देशभक्ति के रंग में रंग देंगी

आर्मी-एयर फोर्स पर आनेवाली वो 7 फिल्में, जो 2022 को देशभक्ति के रंग में रंग देंगी

कुछ हिस्ट्री की वो कहानियां दिखाएंगी, जो हर इंडियन को जाननी चाहिए.

कपिल शर्मा ने बताया, कैसे पीएम मोदी को किया ट्वीट उन्हें 9 लाख रुपए का फटका दे गया

कपिल शर्मा ने बताया, कैसे पीएम मोदी को किया ट्वीट उन्हें 9 लाख रुपए का फटका दे गया

कपिल शर्मा ने नेटफ्लिक्स स्पेशल I Am Not Done Yet के ट्रेलर में अपने ड्रंक ट्वीट्स पर बात की.

वो लेखक, जिसके नाटकों को अश्लील, संस्कृति के मुंह पर कालिख मलने वाला बोला गया

वो लेखक, जिसके नाटकों को अश्लील, संस्कृति के मुंह पर कालिख मलने वाला बोला गया

जब एक नाटक में गुंडों ने तोड़फोड़ की, तो बालासाहेब ठाकरे को राज़ी करके उसका मंचन करवाया गया.

'स्वदेस' के 16 डायलॉग्स, जिन्होंने सिखाया कि देशभक्ति सिर्फ चीखने से नहीं साबित होती

'स्वदेस' के 16 डायलॉग्स, जिन्होंने सिखाया कि देशभक्ति सिर्फ चीखने से नहीं साबित होती

के. पी. सक्सेना की कलम का जादू पढ़िए.

जब सिनेमा मैग्ज़ींस ने रवीना टंडन का नाम उनके भाई के साथ जोड़ दिया

जब सिनेमा मैग्ज़ींस ने रवीना टंडन का नाम उनके भाई के साथ जोड़ दिया

हालिया इंटरव्यू में रवीना टंडन ने बताया कि उन्होंने कई रातें रोते-रोते गुज़ारी हैं.

नेटफ्लिक्स एंड चिल: 2021 में नेटफ्लिक्स पर आए कंटेंट में ये 26 फ़िल्में और शोज़ टॉप के हैं

नेटफ्लिक्स एंड चिल: 2021 में नेटफ्लिक्स पर आए कंटेंट में ये 26 फ़िल्में और शोज़ टॉप के हैं

हिंदी, इंग्लिश, तमिल, फ्रेंच, स्पेनिश, इटालियन, ब्राज़ीलियन जैसी तमाम भाषाओं के शोज़ और फ़िल्में हैं इस लिस्ट में.

पीएम मोदी का नाम लिए बगैर कपिल शर्मा ने अक्षय कुमार की मौज ले ली

पीएम मोदी का नाम लिए बगैर कपिल शर्मा ने अक्षय कुमार की मौज ले ली

वायरल वीडियो में कपिल, अक्षय कुमार से आम खाने के तरीके पूछते देखे जा सकते हैं.

2021 की 17 दमदार नॉन-हिंदी फिल्में, जिन्हें देखकर लोगों ने हिंदी वालों से कहा- 'ऐसी फ़िल्में बनाओ'

2021 की 17 दमदार नॉन-हिंदी फिल्में, जिन्हें देखकर लोगों ने हिंदी वालों से कहा- 'ऐसी फ़िल्में बनाओ'

बेस्ट ऑफ नॉन-हिंदी सिनेमा.

भारतीय सिनेमा के वो 6 किरदार, जो 2021 में हमारे दिमाग में अटक गए

भारतीय सिनेमा के वो 6 किरदार, जो 2021 में हमारे दिमाग में अटक गए

कोई अपनी फन की वजह से याद रहा, तो कोई अपनी सनक की वजह से. कोई सिर्फ इसलिए याद रहा क्योंकि वो रेगुलर से अलग था.

साल भर चर्चा में रहे ये 10 यू-ट्यूबर्स, किसी को बॉलीवुड में काम मिला तो किसी के खिलाफ FIR हुई

साल भर चर्चा में रहे ये 10 यू-ट्यूबर्स, किसी को बॉलीवुड में काम मिला तो किसी के खिलाफ FIR हुई

इनमें से कितनों को आप फॉलो करते हैं?