Submit your post

Follow Us

दरवाजे पर लगी घंटी खराब हो गई तो पोस्टर लटका दिया- जोर से मोदी मोदी चिल्लाएं

5
शेयर्स

मध्य प्रदेश के मुरैना के एक इलाके में लोगों के घरों के बाहर कुछ पोस्टर्स देखने को मिल रहे हैं. इन पोस्टर्स ने कई लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा है. दरअसल इस तरह की फोटो वायरल हो रही हैं जहां बताया जा रहा है कि रामनगर मुहल्ले में लोगों ने अपने घरों के बाहर पोस्टर लगाए हैं ‘डोरबेल खराब है, कृपया दरवाजा खुलवाने के लिए मोदी-मोदी चिल्लाएं’ कुछ घरों के बाहर ए-4 साइज के पेपर चिपकाए गए हैं. वहीं कुछ घरों की दीवारों पर लोगों ने लिखवा रखा है कि …मोदी-मोदी चिल्लाएं.

मामला है क्या,
मध्य प्रदेश में अखबार नई दुनिया के मुताबिक रामनगर मुहल्ले के लगभग 50 से ज्यादा घरों में इस तरह के पोस्टर लगे हैं. रामनगर निवासी गिरिराज सिंह ने बताया कि उनके घर की डोरबेल खराब हो गई थी. उनके दिमाग में आया कि कुछ अलग किया जाए. इसलिए उन्होंने डोरबोल के नीचे कागज पर लिखवाया कि डोरबेल खराब है. घंटी न बजाएं, मोदी-मोदी चिल्लाएं. मोहल्ले के अन्य लोगों का कहना है कि गिरिराज के देखा देखी सबने अपने घरों के सामने डोरबेल खराब होने और दरवाजा खुलवाने के लिए मोदी-मोदी चिल्लाने वाले पोस्टर लगवा दिए.

घरों के बाहर दीवार पर इस तरह के पोस्टर लगाने वालों का कहना है कि उन्होंने किसी के दबाव में आकर इस तरह के पोस्टर नहीं लगाए हैं. रितिका गर्ग ने ट्विटर पर लिखा,

हमारी डोरबेल बिल्कुल ठीक है. फिर भी चिल्लाइए मोदी-मोदी. आपका दिल से स्वागत होगा.

doorbell

bell
कुछ लोगों ने इसे पीएम मोदी और बीजेपी के प्रचार का नया तरीका बताया है. चुनाव आयोग से संज्ञान लेने की बात कही है. हालांकि अपने घर की दीवारों पर इस तरह के पोस्टर लगाने वालों का कहना है कि उन्होंने खुद से इस तरह का फैसला लिया है. उनके ऊपर किसी राजनीतिक पार्टी का किसी अन्य का दबाव नहीं था. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि चुनाव प्रचार के लिए कोई भी चला आता है. दरवाजे पर ही इस तरह को पोस्टर देखकर समझ जाएगा कि उसे घर के अंदर जाना है कि नहीं. लोगों ने इसे प्रचार का अनोख तरीका बताया है.


पाक प्रधानमंत्री ने कहा ‘मोदी का PM बनना पाकिस्तान के लिए अच्छा’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

जामिया मामले में ट्वीट करने वाले बॉलीवुड सेलेब्स को जनता ने अपनी बातों से बेहाल कर दिया है

हम आपको वो फीलिंग समझा नहीं पाएंगे, जो उन ट्वीट्स को पढ़ने के बाद खुद महसूस होती हैं.

वो कौन सी 10 फ़िल्में हैं जिनकी वजह से 'गली बॉय' ऑस्कर से बाहर हो गई?

ये मूवीज़ हैं भौत हार्ड, भौत हार्ड!

पायल रोहतगी जो चाहती थीं वो राजस्थान पुलिस ने फ्री में कर दिया, खुद करतीं तो पैसे लगते

अभी सिर्फ डेटा पैक का खर्च लगा.

नागराज से पहले इन कॉमिक्स पर भी बन चुकी हैं फिल्में और सीरियल

रणवीर सिंह के साथ करण जौहर नागराज पर फिल्म बना रहे हैं.

देश की वो यूनिवर्सिटीज़, जहां जामिया के समर्थन में प्रोटेस्ट चल रहे हैं

बहुत सी यूनिवर्सिटीज़ जामिया के पक्ष में खड़ी नज़र आ रही हैं.

'घोस्ट स्टोरीज़' ट्रेलर: हॉरर के नाम पर सेक्स देखकर थक गए हैं, तो ये फिल्म आपकी बैंड बजाने वाली है

फिल्म से जुड़ी हर चीज़ काफी भुतही लग रही है. ट्रेलर को रिलीज़ करने की तारीख भी.

दीपिका से पहले ये फिल्में और सुपरस्टार्स एसिड अटैक का दर्द हमें महसूस करवा चुके हैं

ऐसे में दीपिका पादुकोण और शाहरुख खान लोगों के लिए काफी मददगार साबित होंगे.

अशोक कुमार की 32 मज़ेदार बातेंः इंडिया के पहले सुपरस्टार थे पर कहते थे 'भड़ुवे लोग हीरो बनते हैं'

महान एक्टर दिलीप कुमार उनको भैय्या कहते थे और उनसे पूछ-पूछकर सीखते थे.

शैलेंद्र ने 'गाइड' के गीत लिखने के लिए देवानंद से इतने ज़्यादा पैसे क्यूं मांग डाले थे?

'आज फ़िर जीने की तमन्ना है: एक गीत, सात लोग और नौ किस्से

ऋषि कपूर ने बताया कि वो 'चिंटू' नाम से बुलाए जाने पर कितने दुखी हैं

क्या आपको दूसरे स्टार्स के ये 'घर वाले' नाम पता हैं?