Submit your post

Follow Us

पसीने से तरबतर शख्स की ये फोटो वायरल क्यों है?

कोविड काल में सबसे बड़ी, सबसे अहम भूमिका निभाने वालों में सबसे आगे हैं हमारे डॉक्टर्स. हमारे माने दुनियाभर के डॉक्टर्स. यहां बात किसी एक देश की नहीं हो रही. लंबी, अनियमित ड्यूटी की चुनौतियों को बढ़ाने का काम कर रही है PPE किट्स. इसके बिना इंफेक्शन का ख़तरा रहता है और पहनकर ड्यूटी करने में क्या हाल होता है, वो डॉ सोहिल के ट्वीट से आसानी से देखा जा सकता है.

 

ट्विटर पर वायरल ये तस्वीर है डॉ सोहिल मकवाना की. वे GMERS Hospitals, Dharpur, Patan, गुजरात में कार्यरत हैं. डॉक्टर सोहिल ने दिखाया कि मरीज़ों से भरे अस्पताल में PPE किट पहने डॉक्टर, जब किट से बाहर निकलते हैं उनका ये हाल होता है. लेकिन उन्हें देश की सेवा करने पर गर्व है. लिखते हैं-

“देश की सेवा करके गर्व है. और ये बात मैं सभी डॉक्टर्स, सभी हेल्थकेयर वर्कर्स की तरफ से कह रहा हूं. हम सभी अपने परिवार से दूर हैं, कड़ी मेहनत कर रहे हैं. कभी (कोविड) पॉज़िटिव मरीज़ों से एक कदम दूर. कभी गंभीर बीमार बुज़ुर्गों से एक इंच दूर. मैं आप सबसे निवेदन करता हूं कि जाइए, वैक्सीन लगवाइए. यही एकमात्र रास्ता है. सुरक्षित रहिए.”

सोशल मीडिया पर लोग डॉ सोहिल और पूरी डॉक्टर कम्युनिटी के इन प्रयासों को जमकर सराह रहे हैं. हरप्रीत सिंह ने लिखा –

“आपको शुक्रिया और सैल्यूट. ये शर्म की बात है कि हम सुपरपावर होने का दावा करते हैं और अस्पताल में कायदे के एसी और ऑक्सीजन प्लांट तक नहीं लगवा सके हैं.”

सौरभ शुक्ला लिख रहे हैं –

“हम वैक्सीन लेंगे. घर में रहेंगे. हेल्दी खाना खाएंगे. हर वो काम करेंगे, जिससे स्थितियां नियंत्रण में रहें. आपकी निस्वार्थ सेवा के लिए शुक्रिया. आप भगवान से भी ऊपर हैं. अपना ख़्याल रखें.”

मेघना ने लिखा –

“हमें हमारे डॉक्टर्स पर, हेल्थकेयर वर्कर्स पर गर्व है, जो बिना रुके लगातार काम कर रहे हैं. उम्मीद है कि लोग वैक्सीनेशन को लेकर आपकी सलाह पर अमल करेंगे.”

योगेश ने लिखा –

“आप लोग जो कर रहे हैं, उसके लिए शब्द नहीं हैं. भगवान आपकी रक्षा करे.”

डॉक्टर्स वाकई कड़ी मेहनत कर रहे हैं. कई बार ‘सिस्टम’ के आगे वो भी लाचार दिखते हैं. लेकिन ये हमें-आपको समझना होगा कि इसका गुस्सा डॉक्टर्स पर न उतारें. कोविड की पहले वेव से लेकर अब तक कई बार डॉक्टरों को लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा है. जैसा कि हाल ही में दिल्ली के अपोलो अस्पताल में भी हुआ. समय मुश्किल है. हमें संयम रखना है, सुरक्षित रहना है. और अपने साथ-साथ दूसरों की मनोदशा को, समस्या को समझना होगा.


सरकार अगर ये फॉर्मुला अपनाए, तो भारत में वैक्सीनेशन ड्राइव सफल हो जाएगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

ये 5 वेबसाइट कोविड मरीज़ के लिए ऑक्सीजन, बेड, दवा की खोज को आसान बना देती हैं

ये 36 जगहों पर डाली हुई ज़रूरत की पोस्ट को एक जगह पर समेट देती हैं!

कोरोना संकट के बीच ये ऐप्स आपकी मानसिक सेहत का ख्याल रखने में मदद करेंगे!

मेडिटेशन और योगा ऐप्स की मदद लीजिए और खुद को शांत रखिए.

ऑस्कर 2021 की नौ जोरदार बातें और सबसे बड़े हाइलाइट्स

क्या हुआ जब ऑस्कर जीतने बाद डेनियल कलूया ने सेक्स की बात की और उनकी मां ने सुन लिया?

ऑस्कर अवॉर्ड्स में धमाका मचाने वाली 12 जाबड़ फिल्में, जिन्हें आप घर बैठे देख सकते हैं

इनमें से कई फिल्मों ने तो ऑस्कर का इतिहास बदल के रख दिया.

ऑक्सीमीटर न मिले तो ये 5 सस्ती स्मार्टवॉच कोविड मरीज़ों के लिए बहुत काम की हैं

इन वॉच का SpO2 सेन्सर खून में ऑक्सीजन का लेवल नापकर बताता है.

घर में कोई कोरोना संक्रमित है तो ये छह बातें आपको माननी ही पड़ेंगी

क्या करें और क्या न करें, मेदांता अस्पताल ने बताया है.

आग में कलम डुबाकर लिखने वाले रामधारी सिंह 'दिनकर' की ये 10 बातें सुन लीजिए

आज़ादी की लड़ाई में कलम को बिगुल बना दिया था इस कवि ने.

इन वेबसाइट्स पर पता चल रहा है कि शहर के किन अस्पताल में कोविड बेड खाली हैं

मगर साइट इस्तेमाल करते हुए इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

वो 6 सरकारी कंपनियां जो कोरोना संकट में अस्पतालों को ऑक्सीजन दे रही हैं

जानिए ये कौन सी PSUs हैं जो बेशकीमती मदद कर रही हैं.

ये वेबसाइट्स प्लाज्मा मांगने और डोनेट करने में आपकी मदद करेंगी!

आपके आसपास में प्लाज़्मा डोनर कौन हैं, किसे है प्लाज़्मा की जरूरत?