Submit your post

Follow Us

ये घोंघा बेहोशी की हालत में डिस्को क्यों कर रहा है?

69
शेयर्स

ट्विटर पे एक वीडियो क्लिप वायरल हो रही है. ये क्लिप एक स्नेल(घोंघे) की है. इसको लोग डिस्को स्नेल कह रहे हैं. डिस्को इसलिए कि इस घोंघे के शरीर के अंदर होली मच रखी है. हम समझ सकते हैं कि इस दृश्य की कल्पना करना थोड़ा मुश्किल है इसलिए ये वीडियो देखिए –

पहली बात तो ये कि ये क्लिप VFX वाली कलाकारी नहीं है. लेकिन आखिर ये घोंघा ऐसा कर क्यों रहा है? कर नहीं रहा है, इससे ऐसा कराया जा रहा है. और इसकी ये दशा करने के पीछे एक पैरासाइट(परजीवी) का हाथ है. इस पैरासाइट का नाम है ‘ल्यूकोक्लोरिडियम’. लंबा नाम है न? तो आगे अपन इसको ल्यूको कह कर बुलाएंगे. लेकिन ल्यूको से पहले हम पैरासाइट जमात के बारे में जान लेते हैं.

पैरासाइट पूरे ब्रह्माण्ड में पाए जाने वाले सबसे चतुर जीव होते हैं. इनका खुद का कुछ जुगाड़ होता नहीं है. तो ये किसी कायदे के जीव के साथ हो लेते हैं. फिर उस कायदे के जीव को अपने लिए इस्तेमाल करते हैं. आप पैरासाइट को किसी प्रेत की तरह समझ सकते हैं जो किसी के शरीर में घुस जाता है और उससे अपने हिसाब से काम करवाता है.

प्रेत का किसी शरीर पर कब्जा करना कल्पना है, और पैरासाइट का कब्जा करना साइंस है. सोर्स - भूल भुलैया
प्रेत का किसी शरीर पर कब्जा करना कल्पना है, और पैरासाइट का कब्जा करना साइंस है. सोर्स – भूल भुलैया

अब ल्यूको पैरासाइट और घोंघे पे आते हैं. ल्यूको पैरासाइट घोंघे को हाइजैक कर लेता है और इससे अपने हिसाब से काम करवाता है. क्या क्या करवाता है? ये घोंघे के जो दो सींघ टाइप के निकले हैं न, उनको बोलते हैं ‘टेन्टेकल्स’. सबसे पहले ल्यूको टेन्टेकल्स में डिस्को वाली हरकत करवाता है. ताकि ये कैटरपिलर(कमला) जैसा दिख सके. ऐसा करने से ऊपर उड़ रहे किसी पक्षी को ऐसा लगता है कि ‘ऊ देखो कैटरपिलरवा जा रहा है.’ और कैटरपिलर उनका खाना होता है. जब कोई जीव किसी और की तरह दिखने की नकल करता है, बायोलॉजी के सर्किल में इस फिनॉमिना को ‘अग्रेसिव मिमिक्री’ कहते हैं.

पक्षियों को घोंघा आसानी से दिख जाए इसलिए ल्यूको इसको पौधों के शिखर पे चढ़ा देता है. पंछी आता है और घोंघे को कैटरपिलर समझ के खा लेता है. और साथ ही खा जाता है ल्यूको को. आपको लग रहा होगा कि ल्यूको के साथ खेल हो गया. नहीं दोस्त, खेल यहां शुरू होता है. अब ल्यूको पक्षी के पेट में पहुंच जाता है और यहां ये देता है नन्हे-मुन्हे ल्यूकोज़ को जनम.

अब पंछी के पेट में पैदा होकर ये ल्यूको सेना उसको हाइजैक नहीं करते. ये लोग सीधे पक्षी के गुदा-द्वार से मल के साथ बाहर निकल जाते हैं. और इस मल को पता है कौन खाता है? घोंघे लोग खाते हैं. और फिर घोंघे को पंछी खाते हैं और फिर घोंघे पंछी का मल खाते हैं. और ये चक्र चलता रहता है. ल्यूको फैलता रहता है. ल्यूको की ज़िंदगी का एक्कई मकसद है – फैलना.


वीडियो : यूट्यूब पर हिट होने के लिए ट्रेन के सामने सिलेंडर रखकर वीडियोज़ बनाए, पुलिस ने पकड़ लिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो 15 गाने, जिनके बिना छठ पूजा अधूरी है

पुराने गानों के बिना व्रत ही पूरा नहीं होता.

राग दरबारी : वो किताब जिसने सिखाया कि व्यंग्य कितनी खतरनाक चीज़ है

पढ़िए इस किताब से कुछ हाहाकारी वन लाइनर्स.

वो 8 कंटेस्टेंट जो 'बिग बॉस' में आए और सलमान खान से दुश्मनी मोल ले ली

लड़ाईयां जो शुरू घर से हुईं लेकिन चलीं बाहर तक.

जॉन अब्राहम की फिल्म का ट्रेलर देखकर भूतों को भी डर लगने लगेगा

'पागलपंती' ट्रेलर की शुरुआत में जो बात कही गई है, उस पर सभी को अमल करना चाहिए.

मुंबई में भी वोट पड़े, हीरो-हिरोइन की इंक वाली फोटो को देखना तो बनता है बॉस!

देखिए, कितने लाइक्स बटोर चुकी हैं ये फ़ोटोज.

जब फिल्मों में रोल पाने के लिए नाग-नागिन तो क्या चिड़िया, बाघ और मक्खी तक बन गए ये सुपरस्टार्स

अर्जुन कपूर अगली फिल्म में मगरमच्छ के रोल में दिख सकते हैं.

जब शाहरुख की इस फिल्म की रिलीज़ से पहले डॉन ने फोन कर करण जौहर को जान से मारने की धमकी दी

शाहरुख करण को कमरे से खींचकर लाए और कहा- '' मैं भी पठान हूं, देखता हूं तुम्हें कौन गोली मारता है!''

इस अजीबोगरीब साइ-फाई फिल्म को देखकर पता चलेगा कि लोग मरने के बाद कहां जाते हैं

एक स्पेसशिप है, जो मर चुके लोगों को रोज सुबह लेने आता है. लेकिन लेकर कहां जाता है?

वो इंडियन डायरेक्टर जिसने अपनी फिल्म बनाने के लिए हैरी पॉटर सीरीज़ की फिल्म ठुकरा दी

आज अपना 62 वां बड्डे मना रही हैं मीरा नायर.

अगर रावण आज के टाइम में होता, तो सबसे बड़ी दिक्कत उसे ये होती

नम्बर सात पढ़ कर तो आप भी बोलेंगे, बात तो सही है बॉस.