Submit your post

Follow Us

'गेम ऑफ थ्रोन्स' फैंस के लिए मेट्रो ने जो किया है, वो जानकार आप भी ताली बजाएंगे

5
शेयर्स

जब हम घर से निकलने को होते हैं, तो पानी की बोतल, फोन और वॉलेट के अलावा एक और ऐसी चीज़ है, जिसके बिना हम ट्रैवल नहीं कर सकते हैं. वो है ईयरफोन या हेडफोन. लेकिन घरवाले इस बात से बहुत गुस्सा खाते हैं. उन्हें अखबार में खबरें पढ़कर लगता है कि जो लोग ईयरफोन लगाते हैं, वो मर जाते हैं. हालांकि उनकी कही बात ठीक है क्योंकि वो हमारी चिंता करते हैं. लेकिन दूसरी ओर है दिल्ली मेट्रो, जो इसका ठीक उल्टा कह रही है. इनका कहना है कि अगर मेट्रो में सफर कर रहे हैं, तो प्लीज़ ईयरफोन्स लगा लें. उनके ऐसा कहने के पीछे एक बहुत दिलचस्प कारण है.

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के ऑफिशियल हैंडल से 20 मई को एक ट्वीट आया. इसमें उन्होंने ‘गेम ऑफ थ्रोन्स’ के रेफरेंस का इस्तेमाल किया. 2011 में शुरू हुए इस शो का ये आठवां और आखिरी सीज़न था. इसका आखिरी एपिसोड 19 मई को टीवी पर दिखाई जा चुकी है और अब वो कभी भी ऑनलाइन देखी जा सकती है. नए सीज़न के आते ही इस टीवी शो को लेकर हर ओर चर्चा शुरू हो जाती है. लेकिन ये उन लोगों के बीच होती है, जिन्होंने इसे शुरुआत से फॉलो किया है. बाकी वो लोग बचते हैं, जिन्होंने ये शो नहीं देखा है. उन्हें जहां मौका मिलता है वहां इसे देखना शुरू कर देते हैं. कुछ लोग तो इतने अजीब होते हैं कि मेट्रो में लॉउडस्पीकर पर ये शो देखने लगते हैं. इससे दो चीज़ें होती हैं. पहली लोगों को इरिटेशन होता है और दूसरी जिन्होंने ये शो अभी तक देखा नहीं है लेकिन उनकी प्रायोरिटी लिस्ट में सबसे ऊपर है. उनके लिए ये स्पॉयलर हो जाता है. स्पॉयलर ठीक वही चीज़ है, जैसे सरप्राइज़ गिफ्ट के बारे में कोई आपको पहले ही बता दे और आपका सारा मज़ा किरकिरा हो जाए.

मेट्रो ने ये चीज़ नोटिस की और लोगों से एक गुज़ारिश की. उन्होंने कहा कि अगर आप दिल्ली मेट्रो में सफर कर रहे हैं और फोन पर गेम ऑफ थ्रोन्स देख रहे हैं, तो प्लीज़ ईयरफोन का इस्तेमाल करें. ताकि जिन्होंने वो एपिसोड अब तक नहीं देखा है, तो उनके लिए स्पॉयलर न हो. उन्होंने इसके लिए बाकायदा एक ट्वीट किया. दिल्ली मेट्रो अपने इस ट्वीट में लिखती है-

”ये सीज़न का आखिरी स्टॉप है! आप ट्रेन की सीट रूप सिंहासन पर बैठकर ये शो देखिए, लेकिन दूसरों का मज़ा खराब करते मत जाइए. अगर आप मेट्रो में ये शो देख रहे हैं, तो प्लीज़ ईयरफोन का इस्तेमाल करना न भूलें.”

साथ में उन्होंने ‘गेम ऑफ थ्रोन्स’ की अहम किरदार सांसा स्टार्क की एक एनिमेटेड तस्वीर लगाई और तस्वीर पर लिखा-

”सांसा भी ट्रेन में बैठकर पिछले अनदेखे एपिसोड्स देखती है. लेकिन वो हेडफोन का इस्तेमाल करती है और दूसरों को स्पॉयलर नहीं देती. सांसा जैसे बनिए.”

ऐसी चीज़ें हमें आम तौर मुंबई पुलिस के ट्वीट्स में देखने को मिलती हैं. किसी भी नई फिल्म को पॉपुलर हो रहे डायलॉग की मदद से वो लोग कुछ काम की बात बता देते हैं. इसका एक उदाहरण आप नीचे देख सकते हैं. ज़ोया अख्तर डायरेक्टेड फिल्म ‘गली बॉय’ का ट्रेलर आने के बाद आलिया का कहा ये डायलॉग खूब फेमस हुआ था. सोशल मीडिया पर भी इस लाइन पर खूब जोक्स और मीम्स बने. इसके बाद मुंबई पुलिस ने भी बहती गंगा में हाथ धो दिया. ऐसा वो कई बार करते हैं. हालांकि दिल्ली मेट्रो की ओर से की गई ये शुरुआत भी अच्छी है.

mumbai police memes

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

प्रियंका-निक के अलावा, 77वें गोल्डन ग्लोब्स अवॉर्ड सैरेमनी से जुड़ी 8 जाबड़ बातें ये थीं

जानिए साल की पहली इंटरनेशनल फिल्म-टीवी प्राइज सैरेमनी में क्या-क्या हुआ?

'मलंग' ट्रेलर- वो फिल्म जिसमें हीरो, हीरोइन, पुलिस, विलेन सब हत्याएं करने की बात कर रहे हैं

इस फिल्म में हीरो-हीरोइन नहीं सिर्फ विलन हैं, चार विलन.

वो लेखक, जिसके नाटकों को अश्लील, संस्कृति के मुंह पर कालिख मलने वाला बोला गया

जब एक नाटक में गुंडों ने तोड़फोड़ की, तो बालासाहेब ठाकरे को राज़ी करके उसका मंचन करवाया गया.

CAA मिस्ड कॉल नंबर पर सन्नी लियोनी से बात कराने का दावा करने वाले को पीएम मोदी फॉलो करते हैं!

88662-88662 पर मिस्ड कॉल के लिए घटिया बातें शेयर हो रही हैं.

विजय देवरकोंडा की अगली फिल्म, जो 'अर्जुन रेड्डी' से भी दो कदम आगे की चीज़ लग रही

'वर्ल्ड फेमस लवर' का टीज़र आया है, जिसमें विजय चार हीरोइनों के साथ काम करने के बावजूद दिल तुड़वा बैठे.

इस साल बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले ये 10 लोग, पर्दे पर आग लगाने वाले है

इसमें सुपरस्टार से लेकर स्टारकिड्स और नेशनल क्रश तक शामिल हैं.

सिंगर अनुराधा पौडवाल पर आरोप, करियर के लिए चार दिन की बेटी को छोड़ दिया

ऐसे आरोप झेलने वाली अनुराधा पहली सेलेब्रिटी नहीं हैं, शाहरुख से लेकर ऐश्वर्या तक इसके शिकार हो चुके हैं.

2019 की वो 15 फिल्में जिन्हें कहीं से भी ढूंढकर आपको देखना ही चाहिए

साल की सबसे सॉलिड साबित हुई फिल्में.

2019 की ये पांच शानदार मराठी मूवीज़ देखिए, यकीनन थैंक यू बोलेंगे

बायोपिक से लेकर हिस्टॉरिकल ड्रामा तक सब कुछ है इसमें.

सिनेमा की वो हस्तियां जो 2019 में दुनिया छोड़ कर चली गईं

केदारनाथ सिंह ने कहा था,'जाना हिंदी की सबसे खौफनाक क्रिया है.'