Submit your post

Follow Us

केसर युक्त विमल के पाउच में ये छिपकली कैसे पहुंची?

कहते हैं मौज और मौत का कोई भरोसा नहीं, किस बात पर आने लग जाए. जैसे ये छिपकली मौज में आकर मौत को भूल गई. अब बची हैं तो सिर्फ इसकी यादें. ये तो विमल पान मसाले की फैक्ट्री में खुद को झोंक बैठी. वहां के मजदूरों में छिपकली के लिए रहम नहीं है. और मालिक में इंसानों के लिए. अजय देवगन को अपने साथ मिलाकर दाने दाने में कैंसर का दम बेच रहे हैं. फोटो कब की है, नहीं पता. लेकिन वायरल हो रही है. यक्ष प्रश्न ये है कि छिपकली पाउच में पहुंची कैसे. हमने विमल के हेल्पलाइन नंबर्स पर बात करने की सोची. लेकिन कोई नंबर लगा नहीं. आपकी बात हो पाए तो प्लीज बता दीजिएगा. अजय देवगन से भी संपर्क नहीं हो पाया है. वो किसी टूथपेस्ट का ऐड शूट करने गए हैं. हमारे हिसाब से निम्नलिखित तरीके हो सकते हैं, जिनसे छिपकली अंदर जा पहुंची.

1. छिपकली का टेस्ट बदलने का मन था. कीड़े मकोड़े और चींटे खाकर बोर हो गई थी. तो केसर की महक ने उसे पाउच के अंदर खींच लिया.

2. इस छिपकली की पूंछ नहीं दिख रही है. हो सकता है कि पूंछ की तस्करी के लिए इसे मारा गया हो और फिर इसकी डेडबॉडी पैकेट में छिपा दी गई हो. डेल्टा लेवल सीक्रेट यू नो.

3. इसकी कमजोर हालत देखकर लगता है कि काफी वक्त से इसने खाना पीना छोड़ रखा था. प्यार में धोखा खाकर इंसान ऐसा करता है. इसने भी ऐसा किया होगा और सुसाइड करने के लिए सड़ी सुपारी के डब्बे में छलांग लगा दी होगी.

4. हो सकता है कि इस छिपकली के फ्रिज में बीफ रहा हो.

5. ये ISI की साजिश है. हमारे विमल पान मसाले को बदनाम करने की. वो लोग चाहते हैं कि हम केसर खाना छोड़ दें.

बहरहाल वजह जो भी रही हो. छिपकली तो मर चुकी है. आप क्यों अपने दांतों और जबड़ों को मारना चाहते हैं? हमको नहीं पता  कि फोटो कब की है. छिपकली उसके अंदर से निकली या बाहर से डालकर फोटो खींची गई. लेकिन पान मसाला खाना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. ये बात सरकार भी कहती है और बड़े बुजुर्ग भी.


ये भी पढ़ें:

पार्लियामेंट में साधु बाबा बैठे थे, लोगों ने भूत समझ लिया

ये लॉटरी टिकट दुनिया के सबसे बदनसीब आदमी का है

भारत के इस आदमी ने 66 साल से अपने नाखून ही नहीं काटे हैं

राहुल गांधी से गले मिलने पर पीएम ने क्या कहा, पता चल गया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो 8 बॉलीवुड एक्टर्स, जो इंडियन आर्मी वाले मजबूत बैकग्राउंड से फिल्मों में आए

इस लिस्ट में कुछ एक्टर्स ऐसे भी हैं, जिनके परिवार वालों ने देश की रक्षा करते हुए अपनी जान गंवा दी.

सरोज ख़ान के कोरियोग्राफ किए हुए 11 गाने, जिनपर खुद-ब-खुद पैर थिरकने लगते हैं

पिछले कई दशकों के आइकॉनिक गाने, उनके स्टेप्स और उनके बारे में रोचक जानकारी पढ़ डालिए.

मोहम्मद अज़ीज़ के ये 38 गाने सुनकर हमने अपनी कैसेटें घिस दी थीं

इनके जबरदस्त गानों से कितने ही फिल्म स्टार्स के वारे-न्यारे हुए.

डॉक्टर्स डे पर फिल्मी डॉक्टर्स के 21 अनमोल वचन

बत्ती बुझेगी, डॉक्टर निकलेगा, सॉरी कहेगा. हमारी फिल्मों के डॉक्टर्स के डायलॉग सदियों से वही के वही रह गए हैं.

फादर्स डे बेशक बीत गया लेकिन सेलेब्स के मैसेज अब भी आंखें भिगो देंगे

'आपका हाथ पकड़ना मिस करता हूं. आपको गले लगाना मिस करता हूं. स्कूटर पर आपके पीछे बैठना मिस करता हूं. आपके बारे में सब कुछ मिस करता हूं पापा.'

वो एक्टर जो लोगों को अंग्रेज़ लगता था, लेकिन था पक्का हिंदुस्तानी

जिसकी हिंदी, उर्दू और अंग्रेज़ी पर गज़ब की पकड़ थी.

भारत-चीन तनाव: PM मोदी के बयान पर भड़के पूर्व फौजी, कहा- वे मारते मारते कहां मरे?

पीएम ने कहा था न कोई हमारी सीमा में घुसा है न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है.

'बुलबुल' ट्रेलर: देखकर लग रहा है ये बिल्कुल वैसी फिल्म है, जैसी एक हॉरर फिल्म होनी चाहिए

डर भी, रहस्य भी, रोमांच भी और सेंस भी. ऐसा लग रहा है कि फिल्म 'परी' से भी ज्यादा डरावनी होगी.

इस आदमी पर से भरोसा उसी दिन उठ गया था, जब इसने सनी देओल का जीजा बनकर उन्हें धोखा दिया था

परदे पर अब तक 182 बार मर चुका है ये एक्टर.

'गो कोरोना गो' वाले रामदास आठवले की कही आठ बातें, जिन्हें सुनकर दिमाग चकरा जाए

अब आठवले ने चायनीज फूड के बहिष्कार की बात कही है.