Submit your post

Follow Us

झोला नहीं, महिलाएं नहीं! मस्जिद या मजदूर आंदोलन? बांद्रा में किसे भीड़ का कारण बता रहे लोग?

14 अप्रैल को मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर हज़ारों प्रवासी मजदूर जमा हो गए. मुंबई पुलिस ने क़रीब हज़ार लोगों के ख़िलाफ़ महामारी ऐक्ट के तहत मुक़दमा भी दर्ज किया है. लेकिन लॉकडाउन के बावजूद इतनी भीड़ कैसे जमा हुई, इसे लेकर अलग-अलग थ्योरी चल रही है.

विनय दुबे ने भीड़ जमा की?

मुंबई से प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए मजदूर आंदोलन का दावा करने वाले एक शख्स को मुंबई पुलिस ने गिरफ़्तार किया है. पुलिस को शक है कि 14 अप्रैल को बांद्रा स्टेशन पर हज़ारों मजदूरों के इकट्ठा होने में भी इस शख्स का हाथ हो सकता है. विनय दुबे नाम का ये व्यक्ति अपने फ़ेसबुक पोस्ट से लगातार मजदूरों से अपील कर रहा था कि वो उनको उनके घर ले जाएगा.

ABP Majha की खबर की वजह से भीड़ लगी?

ABP यानी आनंद बाजार पत्रिका ग्रुप. इसका एक मराठी चैनल है. ABP Majha. इस चैनल ने एक खबर चलाई. बताया कि जगह-जगह फंसे प्रवासी मजदूरों को लेकर जाने के लिए अलग-अलग डिविजन से ट्रेन चलने वाली है. खबर की रिपोर्टिंग करने वाले राहुल कुलकर्णी के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है.

सोशल मीडिया पर क्या थ्योरी चल रही है?

ABP के पत्रकार अनुराग मुस्कान ने लिखा,

पहली बात तो ये कि यूपी-बिहार के लिए बांद्रा स्टेशन से कोई ट्रेन नहीं चलती, बल्कि बांद्रा टर्मिनल से चलती है और दूसरी बात ये कि हज़ारों की तादाद में ट्रेन पकड़कर यूपी-बिहार जाने के लिए जुटी भीड़ में किसी के पास कोई सामान नहीं था. इसलिए दिखावे पर मत जाओ, अपनी अकल लगाओ और घंटी बजाओ.

उनके इस ट्वीट पर कई लोगों ने रिप्लाई किया, एक ने लिखा,

ये भीड़ भी खास थी इसे सिर्फ भीड़ ना समझे मकसद लॉक डॉउन फेल करना था घर जाना तो बहाना बताया गया है. ये बहुत बड़ी साजिश है जिसने भी ये अंजाम दिया उसे जेल में होना चाहिए.

कई लोगों ने इस बात पर सवाल उठाए कि जब ये भीड़ घर जाने के लिए स्टेशन आई थी तो उनके पास बैग या लगेज क्यों नहीं था. लोगों ने ये भी पूछा कि औरतें और बच्चे इस भीड़ में क्यों नहीं थे.

इस तरह के कई ट्वीट किए गए.

भीड़ के इकट्ठा होने के लिए एबीपी की रिपोर्ट को भी लोगों ने जिम्मेदार ठहराया.

पर लोगों ने ये सवाल भी उठाया कि क्या एक न्यूज़ चैनल देखकर इतने सारे लोग एकत्र हो सकते हैं? ज़िम्मेदार रेलवे को भी ठहराया गया. जिसने टिकट बुक कीं, जिस कारण लोगों में घर जाने की उम्मीद जगी. सवाल पुलिस पर भी उठे कि इतने लोग घरों से निकलकर वहां पहुंच कैसे गए? उस प्रशासन पर भी जिसके जिम्मे लॉकडाउन को लागू कराने की जिम्मेदारी है.

वहीं दीपेंद्र सिंह शेखावत जैसे कई यूजर्स ने फेसबुक पर एक लंबा चौड़ा पोस्ट लिखा, बांग्लादेश तक से कनेक्शन जोड़ दिया.

बांद्रा स्टेशन का वीडियो देखा. मेरा मुंबई काफी आना जाना होता है. वो वीडियो देखकर कुछ प्रमुख बातें ध्यान में आई.

कुछ न्यूज चैनलों ने इस घटना को हिन्दू-मुस्लिम एंगल देने की कोशिश की. ABP ने कहा कि लोग मस्जिद के पास क्यों जमा हो गए. इंडिया न्यूज ने भी इस तरह का सवाल उठाया.

लोगों की अपनी-अपनी थ्योरी चल रही है, अपने प्रोपैगैंडा चल रहे हैं. लेकिन अगर कोई पटना स्टेशन पर जाए तो स्टेशन के ठीक सामने उसे मंदिर मिलेगा. बनारस जाएं तो आपको स्टेशन के बाहर वहां भी मंदिर मिलेगा. देश में कई स्टेशनों के आसपास इस तरह के मंदिर-मस्जिद और अन्य धार्मिक स्थल दिख जाएंगे. ऐसे में स्टेशन आने वाले लोगों को आप कहां का काउंट करेंगे?


Video: COVID-19: CM नीतीश कुमार का ऐलान, बिहार के बाहर फंसे राज्य के लोगों को मिलेगी मदद

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

अशोक कुमार की 32 मज़ेदार बातेंः इंडिया के पहले सुपरस्टार थे पर कहते थे 'भड़ुवे लोग हीरो बनते हैं'

अशोक कुमार की 32 मज़ेदार बातेंः इंडिया के पहले सुपरस्टार थे पर कहते थे 'भड़ुवे लोग हीरो बनते हैं'

महान एक्टर दिलीप कुमार उनको भैय्या कहते थे और उनसे पूछ-पूछकर सीखते थे.

फ़्लिपकार्ट, ऐमज़ॉन की सालाना सेल में ये होंगी 10 सबसे बड़ी डील्स

फ़्लिपकार्ट, ऐमज़ॉन की सालाना सेल में ये होंगी 10 सबसे बड़ी डील्स

फ़ोन खरीदने का बढ़िया मौक़ा है

आईफोन 12 से लेकर वनप्लस 8T तक, कौन-कौन से फोन लॉन्च हो रहे हैं इस महीने

आईफोन 12 से लेकर वनप्लस 8T तक, कौन-कौन से फोन लॉन्च हो रहे हैं इस महीने

सवा लाख का फ़ोन लेहेव?

राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर दर्शक तालियों पे तालियां कूट देते थे

राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर दर्शक तालियों पे तालियां कूट देते थे

हिंदी सिनेमा में सबसे ज्यादा अकड़ इनसे ज्यादा किसी सुपरस्टार के किरदारों में नहीं थी

मिर्ज़ापुर-2 : गजबे ट्रेलर है, पूरा सिस्टम हिलाने की इस बार धमाकेदार तैयारी है

मिर्ज़ापुर-2 : गजबे ट्रेलर है, पूरा सिस्टम हिलाने की इस बार धमाकेदार तैयारी है

23 अक्टूबर को रिलीज़ होगी सीरीज़.

एक प्रेरक कहानी जिसने विनोद खन्ना को आनंदित होना सिखाया

एक प्रेरक कहानी जिसने विनोद खन्ना को आनंदित होना सिखाया

हिंदी फिल्मों के इन कद्दावर अभिनेता के जन्मदिन पर आज पढ़ें उनके 8 किस्से.

अब कहां हैं वो विलेन, जो शक्तिमान और जूनियर जी का जीना हराम किए रहते थे

अब कहां हैं वो विलेन, जो शक्तिमान और जूनियर जी का जीना हराम किए रहते थे

ये सुपरविलेन आजकल कहां हैं, आइए बताते हैं.

6 किस्से: इमरजेंसी के दौरान इंदिरा की नाक में दम करने वाला अखबार मालिक

6 किस्से: इमरजेंसी के दौरान इंदिरा की नाक में दम करने वाला अखबार मालिक

आज ही के दिन 1991 में निधन हुआ था बेखौफ रामनाथ गोयनका का.

बाबरी विध्वंस केस: आरोप लगाने वाले पक्ष की गवाही पर कोर्ट ने क्या-क्या टिप्पणी की?

बाबरी विध्वंस केस: आरोप लगाने वाले पक्ष की गवाही पर कोर्ट ने क्या-क्या टिप्पणी की?

सीबीआई ने कोर्ट के सामने 351 गवाह पेश किए.

सितंबर में कौन-कौन से फ़ोन लॉन्च हुए, फीचर-प्राइस सब इधर ही देख लो

सितंबर में कौन-कौन से फ़ोन लॉन्च हुए, फीचर-प्राइस सब इधर ही देख लो

कीमत 6,499 रुपए से शुरू!