Submit your post

Follow Us

CAA protest: पांच मौके जब पुलिस वालों ने जीते प्रदर्शनकारियों के दिल

देश के कई राज्यों में Citizenship Amendment Act यानी CAA और National Register of Citizens यानी NRC को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है. लोग सरकार से कानून वापस लेने की मांग कर रहे हैं. 15 दिसंबर को जामिया यूनिवर्सिटी में हुए प्रदर्शन के दौरान पुलिस के रवैये से लोग नाराज हैं. वहीं, इन सब के बीच कुछ पुलिसवालों के कुछ ऐसे वीडियो वायरल हुए, जिसने दिल जीत लिया. हम ऐसे ही पांच वाडियो के बारे में बता रहे हैं, जिनके बारे में खूब चर्चा हुई.

पहला वीडियो मुंबई का है. इसमें IPS मनोज शर्मा नजर आ रहे हैं. वो प्रोटेस्ट कर रहे लोगों से अपील कर रहे हैं. कह रहे हैं पुलिस प्रोटेस्ट कर रहे लोगों का सहयोग कर रही है. वो अपनी बात रखें, पर शांतिपूर्ण तरीके से. क्योंकि उनकी बातों को सरकार तक पहुंचाना उनका यानी पुलिस की जिम्मेदारी है. मनोज कुमार ने कहा कि पुलिस का कोई धर्म नहीं है, वो न तो मुस्लिम है और न ही हिंदू. उन्होंने और क्या-क्या कहा, खुद सुनिए-

दूसरा वीडियो बेंगलुरु का है. वहां टाउनहॉल के बाहर प्रदर्शनकारी जमा थे. यहां प्रोटेस्ट की इजाज़त नहीं थी. पुलिस लोगों को वहां से हटाने की कोशिश कर रही थी. लेकिन वे तैयार नहीं थे. तभी बेंगलुरु सेंट्रल के डीसीपी चेतन सिंह राठौर ने वहां मौजूद लोगों के साथ राष्ट्रगान गाना शुरू कर दिया. राष्ट्रगान के बाद लोगों ने वो जगह भी खाली कर दी.

तीसरा वीडियो भी बेंगलुरु का है. महिला ‘मुसलमानों के हक’ के लिए छात्रों के एक दल का नेतृत्व कर रही थी, तभी इंस्पेक्टर तनवीर अहमद ने मोर्चा संभाला और प्रदर्शन कर रही महिला को डांटकर वहां से वापस भेज दिया.  उन्होंने महिला से कहा-

मेरा नाम तनवीर अहमद है. मैं इस पुलिस थाने का अधिकारी हूं. आप अपने विरोध प्रदर्शन के लिए छात्रों को उकसा रही हैं और कार्रवाई उन्हें झेलनी पड़ेगी. आप अपने मतलब के लिए छात्रों का इस्तेमाल नहीं कर सकतीं. आपको कानून का पालन करना चाहिए। आप प्लीज जाइए यहां से.

चौथा वीडियो अलीगढ़ का है. AMU में CAA को लेकर करीब 5000 छात्रों ने प्रोटेस्ट मार्च शुरू किया. पुलिस भी पहले से तैयार थी. मार्च कर रहे छात्रों को यूनिवर्सिटी के गेट पर ही रोक दिया गया. छात्र उग्र होते जा रहे थे, लेकिन मामला बिगड़ता उससे पहले एसएसपी आकाश कुलहरि ने मामला संभाल लिया. उन्होंने माइक्रोफोन हाथ में थामा और प्रोटेस्ट कर रहे छात्रों को समझाया. जो कहा, आप सुनिए-

पांचवा वीडियो इटावा का है. यहां पर एसएसपी संतोष मिश्रा एक बच्चे को नागरिकता कानून के असर के बारे में बता रहे हैं. वो क्या समझा रहे हैं, आप खुद सुनिए-


वीडियो देखें : AMU के छात्र प्रोटेस्ट कर रहे थे, पर वहां के SSP ने जो कहा, फिर तारीफ होने लगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

नसीरुद्दीन शाह और अनुपम खेर की रगों में क्या है?

एक लघु टिप्पणी दोनों के बीच विवाद पर. जिसमें नसीर ने अनुपम को क्लाउन यानी विदूषक कहा था.

पंगा: मूवी रिव्यू

मूवी देखकर कंगना रनौत को इस दौर की सबसे अच्छी एक्ट्रेस कहने का मन करता है.

फिल्म रिव्यू- स्ट्रीट डांसर 3डी

अगर 'स्ट्रीट डांसर' से डांस निकाल दिया जाए, तो फिल्म स्ट्रीट पर आ जाएगी.

कोड एम: वेब सीरीज़ रिव्यू

सच्ची घटनाओं से प्रेरित ये सीरीज़ इंडियन आर्मी के किस अंदरूनी राज़ को खोलती है?

जामताड़ा: वेब सीरीज़ रिव्यू

फोन करके आपके अकाउंट से पैसे उड़ाने वालों के ऊपर बनी ये सीरीज़ इस फ्रॉड के कितने डीप में घुसने का साहस करती है?

तान्हाजी: मूवी रिव्यू

क्या अपने ट्रेलर की तरह ही ग्रैंड है अजय देवगन और काजोल की ये मूवी?

फिल्म रिव्यू- छपाक

'छपाक' एक ऐसी फिल्म है, जिसके बारे में हम ये चाहेंगे कि इसकी प्रासंगिकता जल्द से जल्द खत्म हो जाए.

हॉस्टल डेज़: वेब सीरीज़ रिव्यू

हॉस्टल में रह चुके लोगों को अपने वो दिन खूब याद आएंगे.

घोस्ट स्टोरीज़ : मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

करण जौहर, अनुराग कश्यप, ज़ोया अख्तर और दिबाकर बनर्जी की जुगलबंदी ने तीसरी बार क्या गुल खिलाया है?

गुड न्यूज़: मूवी रिव्यू

साल की सबसे बेहतरीन कॉमेडी मूवी साल खत्म होते-होते आई है!