Submit your post

Follow Us

वायरल वीडियो : हरियाणा में मुस्लिमों की बस पर लगे पाकिस्तानी झंडे का सच

14.71 K
शेयर्स

साल 2002. (घबरायें नहीं, आगे भी पढ़ें.) फ़िल्म आई देवदास. दनादन चमकते हुए सेट आर भौंहे उठाये माधुरी दीक्षित ने शाहरुख खान से अभी अभी कहा, “हम पे ये किसने हरा रंग डाला…” साल 2002 होने के बावजूद ये गाना उस कदर सांप्रदायिक नहीं था जिस कदर ये आज के दिन रिलीज़ होने पर हो सकता था. वजह – हरा रंग.

दुनिया में कई ऐसी चीज़ें होती हैं जो ट्रिगर का काम करती हैं. वो आंखों के सामने आ जाएं और आप एक विशिष्ट प्रकार की हरकत करने लग जाएं. आपके शरीर में ऐसी हरकतें हों जिनके लिए आपको कोई खास प्रयास न करना पड़े. देश में वही हाल हरे रंग का है. हरा रंग दीखते ही आदमी हल्क और देवदास की माधुरी दीक्षित की बजाय पड़ोसी मुल्क पहुंच जाता है. ताज़ा उदाहरण आया है हरियाणा से. पश्चिम बंगाल की एक बस हरियाणा की सड़क पर दौड़ रही थी. इस पूरे वाकये का एक विडियो मिला है जो सोशल मीडिया पर काफ़ी तेज़ी से शेयर हो रहा है.

हरियाणा पर चल रही इस बस को एक कार में बैठे कुछ लोगों ने ताड़ लिया. उन्हें दिखाई पड़ी एक बस और उसके पीछे हरा रंग – हरे रंग का झंडा. झंडे पर चांद और तारा. चांद और तारे से भी एक समय था जब इंसान कहो न प्यार है के ‘चांद सितारे फूल और शबनम, ये तो सारे नज़ारे हैं…’ गाने पर पहुंच जाता था. लेकिन अब नहीं. अब वो पड़ोसी मुल्क पर पहुंचता है. कार में बैठे देश के होनहार भी पहुंच गए. उन्होंने चार गालियां निकालीं, और लगे बस को रुकवाने.

west bengal haryana bus national flag

बस के आगे अपनी गाड़ी रोकी और बस से लोगों को नीचे उतरवाया. बस से नीचे दो बुज़ुर्ग उतरे. उन्हें जी भर गालियां दीं. जितनी भद्दी गालियां दी जा सकती थीं, दे दी गईं. उन बुज़ुर्ग लोगों को इस बात का अहसास करवाया गया कि उन्होंने पाकिस्तान का झंडा बस पर लगाया हुआ था. इसके बात उन्हें उस झंडे पर पैर रखने को कहा. इसके बाद भी मन नहीं भरा तो उन बुजुर्गों से ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ कहने को कहा गया. उन्होंने तुरंत ही वो भी कह दिया. कार में बैठे ‘सज्जन’ ने झंडे को पैर से उड़ाकर हवा में फेंक दिया और चार गालियां बककर  चलते बने. उनका काम हो गया. देश सुरक्षित हो गया क्यूंकि हरे रंग का चांद सितारे वाला झंडा अब हरियाणा की सड़क पर पड़ा था न कि किसी बस पर लगा हुआ था.

बस असल में अजमेर शरीफ जा रही थी. और उस पर जो झंडा लगा हुआ था वो पाकिस्तान का नहीं बल्कि इस्लामिक झंडा था. इस्लामिक झंडा यानी पॉपुलर कल्चर की बात करूं तो भगवा झंडे का अपोज़िट. जैसे कितने ही घरों पर भगवा झंडे लहराते हुए दिख जाते हैं वैसे ही ये इस्लामिक झंडा भी उतना ही ‘एक्सेप्टेबल’ है. इन दोनों ही झंडो की उतनी ही अहमियत है और ये उतने ही लीगल हैं. ज़रुरत है कि अगली ‘मन की बात’ में इस बात को भी एड्रेस किया जाए और देश भर को एक इस्लामिक झंडे और पाकिस्तान के झंडे के बीच के अंतर को समझाया जाए. एक हरे बैकग्राउंड पर सफ़ेद रंग के चांद और सितारे को देख उसे पाकिस्तान का झंडा समझ लेना वैसा ही है जैसे चुनाव हारने पर ‘पाकिस्तान की साज़िश है’ जैसा बयान दे देना.


ये भी पढ़ें:

क्या है SC-ST ऐक्ट, जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा बदलाव किया है

 तय कर लो कि इस लड़की ने गीता पर पेशाब किया या कुरान पर, जिसकी इसे ये सजा मिली?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Bus spotted at Delhi-Haryana border carrying an Islamic flag which the mob mistook for Pakistan’s national Flag

10 नंबरी

हटके फिल्मों के लिए मशहूर आयुष्मान की अगली फिल्म भी ऐसी ही है

'बधाई हो' से भी बम्पर हिट हो सकती है ये फिल्म, 'स्त्री' बनाने वाली टीम बना रही है.

Impact Feature: ZEE5 ओरिजिनल अभय के 3 केस जो आपको ज़रूर देखने चाहिए

रोमांचक अनुभव देने वाली कहानियां जो सच के बेहद जाकर अपराधियों के पागलपन, जुनून और लालच से दो-चार करवाती हैं.

कभी पब्लिश न हो पाई किताब पर शाहरुख़ खान की फिल्म बॉबी देओल के करियर को उठा सकेगी!

शाहरुख़, एस. हुसैन ज़ैदी की कहानी पर फिल्म ला रहे हैं, जिन्हें इंडिया का मारियो पुज़ो कहा जा सकता है.

सलमान ने सुनील ग्रोवर के बारे में ऐसी बात कही है कि सुनील कोने में ले जाकर पूछेंगे- 'भाई सच में?'

साथ ही कटरीना कैफ ने भी कुछ कहा है.

जेब में चिल्लर लेकर घूमने से दुनिया के दूसरे सबसे महंगे सुपरस्टार बनने की कहानी

जन्मदिन पर जानिए ड्वेन 'द रॉक' जॉन्सन के जीवन से जुड़ी पांच मजेदार बातें.

कहानी पांच लोगों की, जिन्होंने बिना सरकारी पैसे और गोली के इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड आतंकवादी को पकड़ा

इस आतंकवादी को इंडिया का ओसामा-बिन-लादेन कहा जाता था.

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. पर अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.

बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने के बाद सबसे पहले करें ये दस काम

आत्महत्या जैसे ख्याल मन में आने ही न दीजिए. रिश्तेदार जीते-जी आपकी जिंदगी नरक बनाने आ रहे हैं.

जापान में मुर्दे क्यों लगते हैं बरसों लम्बी लाइनों में, इन 7 तस्वीरों से जानिए

मुस्कुराइए, कि आप भारत में हैं. जापान में नहीं.

उन 43 बॉलीवुड स्टार्स की तस्वीरें, जिन्होंने मुंबई में वोट डाले

जानिए कैनडा के नागरिक अक्षय कुमार ने वोट दिया या सिर्फ वोट अपील ही करते रहे?