Submit your post

Follow Us

वो 10 एक्टर्स, जिन्होंने पिछले एक साल में थिएटर्स बंद होने का गम भुला दिया

कोरोना महामारी के चलते पिछले एक साल से थिएटर्स अपनी पूरी क्षमता पर नहीं खुल पाए हैं. कुछ ही मेकर्स ऐसे थे जिन्होंने अपनी फिल्में थिएटर्स पर लाने का रिस्क लिया. वहीं ऐसे में जनता ने इंटरटेनमेंट का दूसरा रास्ता चुना. ओटीटी प्लेटफॉर्म्स. पिछले एक साल के कैलंडर में थिएटर रिलीज़ भले ही गिनती भर हों. लेकिन ये कहना सरासर गलत होगा कि पिछले एक साल में बढ़िया कंटेंट नहीं आया. कहें तो ऐसा कंटेंट आया जिसने सिनेमा हॉल बंद होने का गम भुला दिया. ओटीटी पर ऐसी फिल्में और शोज़ आए जिन्हें ऑडियंस ने महीनों याद रखा. उन में मौजूद एक्टर्स चर्चा का विषय रहे.

इसलिए आज हम ऐसे ही एक्टर्स की बात करेंगे जिन्होंने पिछले एक साल में झामफाड़ कंटेंट दिया. फिर चाहे वो क्रिटिक्स के नजरिए से हो या फिर कमर्शियल सक्सेस के पैमाने से. ऐसे एक्टर्स, जिन्होंने रिस्क लिया. फिर चाहे वो थिएटर रिलीज़ हो या डायरेक्ट ओटीटी रिलीज़.

Spotlight


#1. अक्षय कुमार

अक्षय कुमार. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के गेम चेंजर. इनकी फिल्म आए और बिना धमाका किए चली जाए, ऐसा मुमकिन नहीं. पिछले साल भी थिएटर पर ऐसा धमाका होने की उम्मीद थी. जब उनकी फिल्म ‘लक्ष्मी’ रिलीज़ होनी थी. लेकिन कोरोना महामारी के चलते खिलाड़ी कुमार के फैन्स उन्हें बड़े परदे पर नहीं देख पाए. फिल्म बनकर तैयार थी. मगर थिएटर्स पर रिलीज़ नहीं की जा सकती थी. ऐसे में अक्षय ने एक बड़ा रिस्क लिया. मेच्योर और कैलकुलेटिड रिस्क. अपनी फिल्म को स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ करने का. ये फैसला इंडस्ट्री के ट्रेड पंडिट्स से लेकर ऑडियंस तक के लिए भी चौंकाने वाला था.

Laxmi
अक्षय वो पहले सुपरस्टार थे जो अपनी फिल्म को थिएटर की जगह डायरेक्ट ओटीटी पर लाए. फोटो – ट्रेलर

इसकी एक बड़ी वजह थी कि उस वक्त तक किसी भी बड़े सुपरस्टार ने अपनी थिएटर पर रिलीज़ होने वाली फिल्म को ओटीटी की ओर नहीं मोड़ा था. अक्षय ऐसा करने वाले पहले सुपरस्टार थे. डिज़्नी प्लस हॉटस्टार को फिल्म के डिजिटल राइट्स बेचने का फैसला लिया. वो भी छोटे-मोटे अमाउंट में नहीं, बल्कि पूरे 125 करोड़ रुपए में. हॉटस्टार ने पिछले साल ही अपनी मल्टीप्लेक्स सर्विस शुरू की थी. जिसके तहत वो थिएटर की जगह डायरेक्ट अपने प्लेटफॉर्म पर फिल्में रिलीज़ कर रहा था. ‘दिल बेचारा’, ‘लूट केस’, ‘खुदा हाफ़िज़’ और ‘सड़क 2’ ऐसी ही कुछ रिलीज़ेस थी. ‘लक्ष्मी’ भी हुई. 09 नवंबर, 2020 को. यानी कि दिवाली वीकेंड पर. फिल्म को बम्पर ओपनिंग मिली.

Sushant Singh Rajput
‘लक्ष्मी’ ने ओपनिंग के मामले में ‘दिल बेचारा’ का रिकॉर्ड तोड़ दिया था.

इससे पहले दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ को इतनी बड़ी ओपनिंग मिली थी. लेकिन ओपनिंग के मामले में ‘लक्ष्मी’ ने ‘दिल बेचारा’ का रिकॉर्ड चूर कर दिया. सिर्फ इतना ही नहीं, लेट्स ओटीटी की माने तो फिल्म पिछले साल स्ट्रीम की गई डायरेक्ट ओटीटी रिलीज़ेस में चौथे नंबर पर रही. अक्षय ने अपनी फिल्म डायरेक्ट ओटीटी पर लाने का रिस्क लिया. और गेम बदल के रख दिया. अपने इसी ट्रेंड को जारी रखते हुए उन्होंने हाल ही में अपनी फिल्म ‘बेल बॉटम’ की रिलीज़ डेट भी अनाउंस की है. फिल्म रिलीज़ होगी 27 जुलाई, 2021 को. वो भी थिएटर्स पर. बेजान पड़ी थिएटर इंडस्ट्री में फिर जान फूंकने का रिस्क लिया है अक्षय ने. उनका रिस्क कितना कारगर साबित होगा, ये फिल्म रिलीज़ के वक्त पता चलेगा.


#2. थलपति विजय

थलपति विजय. महीनों पहले पता चल जाता है जब भी उनकी फिल्म आने वाली होती है. और ऐसा होता है उनके फैन्स की बदौलत. एक स्टार अपने फैन्स से पहचाना जाता है. विजय के केस में ये बात सौ टका सच बैठती है. कभी उनके जन्मदिन पर उनके फैन्स उनकी फिल्में रिलीज़ करवाते हैं. तो कभी उनके कटआउट्स पूरे शहर में लगाते हैं. विजय की फिल्म ‘मास्टर’ पिछले साल रिलीज़ होनी थी. रिलीज़ से पहले फैन्स अपने थलपति के लिए महल खड़ा करना चाहते थे. वो भी 70 फीट ऊंचा. लेकिन कोरोना महामारी की वजह से फिल्म रिलीज़ नहीं हो पाई. और ना ही महल खड़ा हो पाया.

Vijay In Master 2
50% क्षमता के साथ थिएटर खुले, फिर भी ‘मास्टर’ ने धमाका मचा दिया. फोटो – ट्रेलर

लेकिन विजय ने अपने फैन्स को भरोसा दिलाया. फिल्म जब भी आएगी, थिएटर्स पर ही आएगी. वादा पूरा भी किया. 13 जनवरी, 2021 को. जब फिल्म सीमित क्षमता के साथ खुले थिएटर्स पर रिलीज़ हुई. ‘मास्टर’ इस साल की पहली बड़ी रिलीज़ थी. इंतज़ार भी लंबे समय से हो रहा था. थिएटर भले भी 50% क्षमता के साथ खुले. फिर भी बिज़नेस को ज्यादा घाटा नहीं हुआ. विजय के फैन्स बड़ी तादाद में उमड़े. देखते ही देखते रिलीज़ के तीन दिनों के अंदर फिल्म ने 100 करोड़ का मार्क क्रॉस कर लिया. सिर्फ इतना ही नहीं, फिल्म ने तमिल नाडु बॉक्स ऑफिस पर 200 करोड़ रुपए का कलेक्शन किया. इससे पहला ऐसा कलेक्शन विजय की ‘मर्सल’, ‘बीगिल’ और ‘सरकार’ जैसी फिल्मों के नाम था.


#3. समांथा अक्किनेनी

‘द फैमिली मैन’ का दूसरा सीज़न रिलीज़ हुआ है. और जब से हुआ है, तब से देखने वालों के मुंह पर एक ही नाम है. राजी का. शो की विलन. राजी एक बागी ग्रुप से ताल्लुक रखती है. खतरनाक किस्म की फाइटर है. बिल्कुल निडर. शो में राजी बनी हैं समांथा अक्किनेनी. इनका मुकाबला था मनोज बाजपेयी से. मनोज बाजपेयी, जिनकी एक्टिंग किसी परिचय की मोहताज नहीं. फिर भी समांथा आसानी से स्टैंड आउट करती हैं. उन्होंने जिस तरह से अपने किरदार को अपनी परछाई की तरह ओढा है, वो वाकई में काबिल-ए-तारीफ है.

Raji 8
समांथा की विलन राजी शो की हाईलाइट थी. फोटो – ट्रेलर

हर क्रिटिक के कॉलम में समांथा की तारीफ हो रही है. उनके नाम कसीदे पढे जा रहे हैं. जो अब तब समांथा को सिर्फ कमर्शियल एक्ट्रेस समझते थे, वो भी शो देखकर अपना ओपिनियन बदल चुके हैं.


#4. जयदीप अहलावत

तारीख 15 मई, 2020. अमेज़न प्राइम वीडियो पर एक शो रिलीज़ हुआ था. किसे पता था कि इसके बाद एक एक्टर की लाइफ हमेशा के लिए बदल जाएगी. बधाई भरे मैसेज और कॉल्स से उसका फोन इतना बजेगा कि हैंग होने की नौबत आ पड़ेगी. हम बात कर रहे हैं ‘पाताल लोक’ के लीड हाथीराम चौधरी यानी जयदीप अहलावत की. ‘पाताल लोक’, वो शो जिसे वैराइटी मैगजीन ने 2020 के बेस्ट इंटरनेशनल शोज़ में से एक बताया. वो शो जिसे फिल्मफेयर ओटीटी अवॉर्ड्स की आठ श्रेणियों में नॉमिनेशन मिला. जिसमें से शो ने पांच अवॉर्ड जीते. जयदीप अहलावत को अपने काम के लिए बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर ओटीटी अवॉर्ड भी मिला.

Jamnapaar Thana Wala Hathiram Chaudhary
जमनापार थाने वाले हाथीराम चौधरी को कौन नहीं पहचानता भला.

जयदीप अहलावत को शायद लोग फैजल खान के दादा और सरदार खान के पिता शाहिद खान के तौर पर नहीं पहचानें. विद्युत जामवाल से लड़ने वाले अमृत कंवल के तौर पर भी याद नहीं रखें. लेकिन जमनापार थाने वाला हाथीराम चौधरी सबको याद रहेगा.


#5. प्रतीक गांधी

2020 में एक शो आया था. कनवेंशनल ओटीटी शोज़ से एकदम जुदा. शो था ‘स्कैम 1992’. हर्षद मेहता पर बेस्ड था. लीड रोल निभाया था प्रतीक गांधी ने. जो बिल्कुल भी हर्षद की तरह नहीं दिखते थे. लेकिन उन्होंने ऐसा डूबकर काम किया कि लोग कंविंस हो गए. कि हर्षद ऐसे ही हंसता होगा. ठीक ऐसे ही हर लाइन में ‘लाला’ शब्द को अपने तकिया कलाम की तरह इस्तेमाल करता होगा. ये कमाल था प्रतीक गांधी का. जिन्हें ‘स्कैम’ ने रातों-रात स्टार बना दिया. ओटीटी का नया पोस्टर बॉय बना दिया. लेकिन प्रतीक की ये कामयाबी कोई ओवरनाइट सक्सेस नहीं. पिछले 15 सालों की मेहनत का नतीजा है.

Pratik In Scam 3
‘स्कैम 1992’ में प्रतीक गांधी.

प्रतीक सिर्फ वन हिट वंडर बनकर नहीं रहेंगे. अपना उम्दा काम जारी रखेंगे. उनकी दो फिल्में आने वाली हैं, ‘रावण लीला’ और ‘अतिथि भूतो भवा’. साथ ही ‘स्कैम’ की बदौलत उन्हें तिग्मांशु धूलिया का प्रोजेक्ट भी मिला है. जिसकी कहानी विकास स्वरूप के नॉवल ‘सिक्स सस्पेक्ट्स’ पर आधारित है. यहां उनके साथ ऋचा चड्ढा भी हैं. 07 मई, 2021 को ही प्रतीक की एक गुजराती सीरीज़ भी रिलीज़ हुई थी. टाइटल था ‘विट्ठल तीडी’. शो में प्रतीक के काम को काफी सराहा गया था.


#6. फहद फ़ाज़िल

कहते हैं कि अगर इंडियन सिनेमा में नयापन खोजना है तो मलयालम सिनेमा का रुख कीजिए. मलयालम सिनेमा वाले दो कदम आगे की सोच रहे होते हैं. सिर्फ सोच ही नहीं रहे होते, बल्कि उस पर काम करना भी शुरू कर चुके होते हैं. मलयालम सिनेमा के स्टार हैं फहद फ़ाज़िल. अच्छे सिनेमा में इंटरेस्ट रखने वाले लोग इन से भली-भांति परिचित हैं. इनकी फिल्मोग्राफी में ऐसा कमाल का काम दर्ज है कि किसे छोड़े और किसे गिनें. पिछले साल जब सब कुछ बंद था, तो ऐसे समय में भी फहद ने सिनेमा का नया फॉर्म खोज लिया. और डायरेक्टर महेश नारायणन के साथ मिलकर बनाई ‘सी यू सून’. इंडिया की पहली कंप्युटर स्क्रीन फिल्म. जिसका शुरू से एंड तक का पूरा काम लॉकडाउन में ही हुआ. यहां तक कि फिल्म आई फोन पर शूट की गई थी. ये था आपदा को अवसर में बदलने वाला मोमेंट.

Joji 1
फहद फ़ाज़िल यानी अच्छे सिनेमा की गारंटी.

इसी साल फहद की दो और फिल्में ओटीटी पर आ चुकी हैं. पहली है ‘इरुल’ और दूसरी ‘जोजी’. विलियम शेक्सपियर की रचना ‘मैकबेथ’ से प्रेरित ‘जोजी’ को क्रिटिक्स ने मस्ट वॉच फिल्म बताया. महेश नारायणन और फहद की जोड़ी फिर लौट रही है. फिल्म ‘मलिक’ के साथ. पहले फिल्म थिएटर्स पर रिलीज़ होनी थी. लेकिन थिएटर्स बंद होने की वजह से अब मेकर्स डायरेक्ट ओटीटी रिलीज़ प्लान कर रहे हैं. फहद की शानदार फिल्मों का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा. 13 अगस्त, 2021 को रिलीज़ होने वाली ‘पुष्पा’ के जरिए. वो फहद की पहली तेलुगु फिल्म होगी. इस बड़े बजट की फिल्म में फहद के सामने होंगे अल्लु अर्जुन.


#7. सलमान खान

इस साल ईद के मौके पर सलमान खान की फिल्म रिलीज़ हुई. ‘राधे: योर मोस्ट वॉन्टेड भाई’. इंडिया में फिल्म को डायरेक्ट ओटीटी पर रिलीज़ किया गया. लेकिन सलमान ऐसा नहीं चाहते थे. शुरू से फिल्म को लेकर सलमान का स्टैंड क्लियर था. कि फिल्म चाहे जब भी आए, आएगी थिएटर्स पर ही. ताकि थिएटर इंडस्ट्री को बूस्ट मिल सके. लेकिन लॉकडाउन के चलते ऐसा नहीं हो सका. फिल्म को और ज्यादा नुकसान ना हो, इसलिए मेकर्स ने फिल्म के सारे राइट्स ज़ी को बेचने का फैसला लिया. बॉलीवुड हंगामा की एक रिपोर्ट के मुताबिक ज़ी ने सलमान की फिल्म के राइट्स करीब 190 करोड़ रुपए में खरीदे. फिल्म को पे-पर-व्यू मॉडल के तहत रिलीज़ किया गया. यानी कि फिल्म देखने के लिए आपको थिएटर की तरह ही टिकट लेनी पड़ेगी. बस फर्क इतना था कि फिल्म को आप घर बैठे स्ट्रीम कर सकेंगे.

Radhe 2
‘राधे’ रिलीज़ हुई और जनता ने ज़ी5 क्रैश करा दिया.

ट्रेड एनलिस्ट्स ने सलमान के इस कदम को इंडियन सिनेमा बिज़नेस के लिए एक टर्निंग पॉइंट बताया. कहा कि अब तक ऐसा मॉडल सिर्फ हॉलीवुड फिल्म स्टार्स ही अपनाते थे. फिल्म रिलीज़ हुई और जनता टूट पड़ी. खुद ज़ी ने बताया कि रिलीज़ के वक्त उनके प्लेटफॉर्म पर इतना ट्राफिक आया कि उनका प्लेटफॉर्म ही क्रैश हो गया. ‘राधे’ को इंडिया से बाहर थिएटर्स में रिलीज़ किया गया. जहां फिल्म ने करीब 18 करोड़ रुपए का कलेक्शन किया.


#8. मनोज बाजपेयी

पिछले एक साल में मनोज बाजपेयी ने क्रिटिक्स और ऑडियंस दोनों का दिल गार्डन-गार्डन कर दिया. इसकी शुरुआत हुई ‘भोंसले’ से. जो 26 जून, 2020 को सोनी लिव पर रिलीज़ हुई. अनेकों फिल्म फेस्टिवल्स में घूमकर आई ‘भोंसले’ को पॉज़िटिव रिस्पॉन्स मिला. मनोज बाजपेयी के काम को हर ओर से सिर्फ सराहना ही मिली. अपने काम के लिए नैशनल अवॉर्ड से भी सम्मानित किए गए. उसके बाद उनकी अगली रिलीज़ थी ‘सूरज पे मंगल भारी’. पहली फिल्म जो आठ महीने बंद रहे थिएटर्स पर रिलीज़ हो रही थी. लाइट हार्टेड कॉमेडी थी. जनता ने इसे सिरीयसली नहीं लिया और इंजॉय करने के पर्पस से देखी. और किया भी. डिटेक्टिव मधू मंगल राणे बने मनोज बाजपेयी का कॉमेडी अवतार पसंद किया गया.

Manoj Bajpayeein Family Man 11
‘द फैमिली मैन 2’ में मनोज बाजपेयी.

2021 की शुरुआत की दो प्रोजेक्ट्स के साथ. पहली थी नीरज पांडे की डाक्यूमेंट्री, ‘सीक्रेट्स ऑफ सिनौली’. दूसरी थी ज़ी5 पर रिलीज़ हुई फिल्म, ‘साइलेंस कैन यू हियर इट’. फिर आया तीसरा प्रोजेक्ट. ‘द फैमिली मैन 2’. जिसने भी देखा, गुणगान करता नहीं थका. फिर से मनोज बाजपेयी का फैन हो जाने को मन किया. उन्होंने अपने किरदार के हर शेड को बिना किसी फिल्टर सामने आने दिया. उसकी कमजोरी, उसकी बेचैनी सब कुछ. क्रिटिक्स कहने लगे कि किसी भी शो का दूसरा सीज़न ऐसा होना चाहिए.


#9. धनुष

धनुष एक पल आपको हंसते-खेलते, एक लड़की के प्यार में डूबे स्टूडेंट की तरह दिखेंगे. दूसरे ही पल वो अपने समाज के लिए लड़ते हुए दिखेंगे. उनकी इंटेंसिटी इतनी गहरी होगी कि फर्क कर पाना मुश्किल होगा कि क्या ये वही स्टूडेंट है. जिसकी ज़िंदगी में ज़ोया से बढ़कर कुछ नहीं था. ऐसी कमांड है धनुष की अपनी क्राफ्ट पर. किरदार से किरदार का फर्क समझते हैं. मिक्स एंड मैच नहीं होने देते.

Dhanush In Karnan 1
ये पूछिए कि धनुष क्या-कुछ नहीं कर सकते. फोटो – कर्णन से एक स्टिल

2021 में आई उनकी दो रिलीज़ेस से ही ये पॉइंट समझाते हैं. पहली थी ‘कर्णन’. 09 अप्रैल, 2021 को रिलीज़ हुई. कहानी थी फर्क की. समाज में छोटे और बड़े समझे जाने का फर्क. कर्णन बने धनुष का खून गर्म है. वो इस अंतर करती लाइन को सिर्फ धुंधला नहीं करना चाहता. बल्कि, इसे सदा के लिए मिटाना चाहता है. धनुष ने यहां एक जवान लड़के का किरदार निभाया. जो हमेशा जोश में रहता है. बात-बात पर बिगड़ जाता है. अब कट टू उनकी दूसरी रिलीज़, ‘जगमे थंडीरम’. यहां धनुष बने हैं एक गैंगस्टर. बिंदास किस्म का. टेंशन, स्ट्रेस, लोड टाइप शब्द तो जैसे इसकी डिक्शनरी में हों ही नहीं. फुल-ऑन मसाला फिल्म टाइप किरदार है. दोनों किरदारों की रेंज देखेंगे तो समझ जाएंगे कि धनुष सिर्फ ‘रांझणा’ वाले धनुष नहीं. वो ‘राउडी बेबी’ पर डांस कर गाने को हिट भी कर सकते हैं. और ‘असुरन’ में अपने रोल के लिए नैशनल अवॉर्ड भी जीत सकते हैं. ऐसी कला के धनी हैं धनुष.


#10. सुष्मिता सेन

19 जून, 2020 को डिज़्नी प्लस हॉटस्टार पर एक विमन सेंट्रिक शो रिलीज़ हुआ. शो एक बड़ी क्रिटिकल सक्सेस साबित हुआ. क्योंकि रिलीज़ के चंद दिनों में दूसरे सीज़न की मांग जोरों-शोरों से उठने लगी. वो शो था ‘आर्या’. टाइटल रोल निभाया सुष्मिता सेन ने. एक इंडिपेंडेंट महिला जो अपने परिवार के लिए खड़ी होती है. माफिया गैंग जॉइन कर लेती है ताकि अपने पति के हमलावरों से बदला ले सके. सुष्मिता ने शो का भार अपने कंधों पर बखूबी निभाया. फैन्स और क्रिटिक्स, दोनों ही उनके काम की प्रशंसा करते नजर आए.

Ott Shows
‘आर्या’ में अपने रोल के लिए सुष्मिता सेन ने बेस्ट एक्ट्रेस का फिल्मफेयर ओटीटी अवॉर्ड भी जीता. फोटो – शो से स्टिल

यहां तक कि शो को फिल्मफेयर ओटीटी अवॉर्ड्स की आठ श्रेणियों में नॉमिनेट किया गया. सुष्मिता ने अपने काम के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का फिल्मफेयर ओटीटी अवॉर्ड भी जीता. शो को सेकंड सीज़न के लिए रिन्यू कर दिया गया है. और इस पर काम भी शुरू हो चुका है.


वीडियो: प्रोफेसर से डायरेक्टर बनने वाले बुद्धदेब दासगुप्ता, जिनकी तारीफ खुद सत्यजीत रे करते थे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू- सरदार उधम

फिल्म रिव्यू- सरदार उधम

सरदार उधम सिंह ने कहा था- 'टेल पीपल आई वॉज़ अ रिवॉल्यूशनरी'. शूजीत ने उस बात को बिना किसी लाग-लपेट के लोगों को तक पहुंचा दिया है.

फ़िल्म रिव्यू: सनक

फ़िल्म रिव्यू: सनक

ये फिल्म है या वीडियो गेम?

मूवी रिव्यू: रश्मि रॉकेट

मूवी रिव्यू: रश्मि रॉकेट

ये रॉकेट फुस्स हुआ या ऊंचा उड़ा?

वेब सीरीज़ रिव्यू: स्क्विड गेम, ऐसा क्या है इस शो में जो दुनिया इसकी दीवानी हुई जा रही है?

वेब सीरीज़ रिव्यू: स्क्विड गेम, ऐसा क्या है इस शो में जो दुनिया इसकी दीवानी हुई जा रही है?

लंबे अरसे के बाद एक शानदार सर्वाइवल ड्रामा आया है दोस्तो...

फिल्म रिव्यू- शिद्दत

फिल्म रिव्यू- शिद्दत

'शिद्दत' एक ऐसी फिल्म है, जो कहती कुछ है और करती कुछ.

फिल्म रिव्यू- नो टाइम टु डाय

फिल्म रिव्यू- नो टाइम टु डाय

ये फिल्म इसलिए खास है क्योंकि डेनियल क्रेग इसमें आखिरी बार जेम्स बॉन्ड के तौर पर नज़र आएंगे.

ट्रेलर रिव्यू: हौसला रख, शहनाज़ गिल का पहला लीड रोल कितना दमदार है?

ट्रेलर रिव्यू: हौसला रख, शहनाज़ गिल का पहला लीड रोल कितना दमदार है?

दिलजीत दोसांझ और शहनाज़ गिल की फ़िल्म का ट्रेलर कैसा लग रहा है?

नेटफ्लिक्स पर आ रही हैं ये आठ धांसू फ़िल्में और सीरीज़, अपना कैलेंडर मार्क कर लीजिए

नेटफ्लिक्स पर आ रही हैं ये आठ धांसू फ़िल्में और सीरीज़, अपना कैलेंडर मार्क कर लीजिए

सस्पेंस, थ्रिल, एक्शन, लव सब मिलेगा इनमें.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कोटा फैक्ट्री

वेब सीरीज़ रिव्यू: कोटा फैक्ट्री

कैसा है TVF की कोटा फैक्ट्री का सेकंड सीज़न? क्या इसकी कोचिंग ठीक से हुई है?

फिल्म रिव्यू- सनी

फिल्म रिव्यू- सनी

इट्स नॉट ऑलवेज़ सनी इन फिलाडेल्फिया!