Submit your post

Follow Us

कंगना से भी पहले स्वरा ने करण जौहर से नेपोटिज़्म पर सवाल पूछा था तो क्या जवाब मिला था?

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद तरह-तरह के आरोप और सवाल उठने लगे. इसमें नेपोटिज्म यानी भाई-भतीजावाद वाली बात खूब उछली. कयासबाजी हुई कि नेपोटिज्म के चलते उन्होंने सुसाइड कर लिया. करण जौहर समेत बॉलीवुड के बड़े नामों को लेकर सोशल मीडिया पर लोग गुस्सा जाहिर करने लगे. करण जौहर को लेकर नेपोटिज्म वाला आरोप सबसे ज़्यादा तब चर्चा में आया था, जब कंगना रनौत ने इसकी बात उनके शो ‘कॉफी विद करण’ में की थी. लेकिन उनसे पहले एक और ऐक्ट्रेस हैं, जो करण जौहर से नेपोटिज़्म को लेकर सवाल पूछ चुकी हैं. वो ऐक्ट्रेस हैं- स्वरा भास्कर. सोशल और पॉलिटिकल मुद्दों पर अपनी राय खुलकर रखती हैं.

उनका एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर चल रहा है. 9 सितंबर, 2016 को ‘एक्सप्रेस अड्डा’ में करण जौहर से नेपोटिज़्म पर सवाल पूछा था. स्वरा भास्कर करण जौहर से पूछती हैं कि स्टार किड्स को लॉन्च करना क्या उनका सोचा समझा फैसला होता है या सिर्फ हो जाता है क्योंकि वो लोगों को जानते हैं. वो पूछती हैं कि हमारे जैसे आउटसाइडर को ये बहुत सामंती लगता है, क्योंकि उन्हें समझ में नहीं आता कि वो अपनी जगह कैसे बनाएं.

करण जौहर ने बगैर किसी पर्सनल ऑफेंस के सवाल लिया: स्वरा

ये वीडियो स्वरा भास्कर ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर रीट्वीट किया और लिखा- ओह. देखिए, किसने इसकी शुरूआत की थी? हालांकि एक और ट्वीट में स्वरा भास्कर करण जौहर के जवाब की तारीफ करती हैं. वो कहती हैं कि करण जौहर अपने चैट शो से नेपोटिज़्म वाला कमेंट (कंगना) हटवा सकते थे, जो उन्होंने नहीं किया. अपना जो वीडियो स्वरा भास्कर ने रीट्वीट किया, वो InUth के ट्विटर हैंडल का था, जो अब डिलीट हो गया है.

स्वरा भास्कर का सवाल

ये वीडियो करण जौहर की 2016 की फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ के समय का है. स्वरा भास्कर पूछती हैं,

आप एक डायरेक्टर, फिल्ममेकर से ज्यादा है. आपने कई सालों में बॉलीवुड को बदला है, जो कि अच्छा है. एक चीज जो हो सकता है तथ्यात्मक रूप से सही ना हो लेकिन पर्सेप्शन में आप एक शख्स के तौर पर देखे जाते हैं जो स्टार चिल्ड्रेन को लॉन्च करता है और करियर बनाते हैं.

क्या ये जानबूझकर होता है या सिर्फ हो जाता है कि आप लोगों को जानते हैं. आपने बचपन से या जो भी.. लंबे समय से उन्हें जाना है. इससे मेरे जैसे आउटसाइडर को बॉलीवुड बहुत सामंती लगता है. हमारे जैसे लोग नहीं जानते कि कैसे अंदर रास्ता बनाया जाए.

यहां वो बातचीत देख सकते हैं. (वीडियो साभार- इंडियन एक्स्प्रेस)

अब बाहर से आए टैलेंट को क्रेडिट मिल रहा है: करण जौहर

इस सवाल पर करण जौहर जवाब देते हैं कि उन्होंने सिर्फ दो स्टार किड्स वरुण धवन और आलिया भट्ट को लॉन्च किया. जाहिर है ये 2016 तक की बात है. वो कहते हैं कि महेश भट्ट के बारे में उन्हें पता ही नहीं था कि उनकी बेटी है. बाहर से चीजें आसान दिखती हैं . उन्होंने कहा,

मैंने दो लोगों को लॉन्च किया, जो फिल्मों से हैं. वरुण और आलिया. और वो नेपोटिज़्म की वजह से नहीं है. बाहर से ऐसा दिखता है कि इन लोगों की तस्वीरें खिंचती हैं. ये लोग एक दूसरे की चाचियों, बेटों, भतीजों को जानते हैं इसलिए एक दूसरे के साथ काम करना आसान होता है. लेकिन मेरे साथ ऐसा नहीं था. जब मैं स्टूडेंट ऑफ द इयर बना रहा था, मेरे दो असिस्टेंट थे. एक डेविड धवन का बेटा था जो मेरे पास क्योंकि उसकी मां ने मुझे फोन किया कि वो असिस्टेंट बनना चाहता है. ऐक्टर नहीं और सिद्धार्थ मल्होत्रा, करण मल्होत्रा से मिलने ऑफिस आया था.

ये दोनों लड़के सेट पर समय पर होते थे. आलिया को लेकर कहूं तो महेश भट्ट के साथ मेरा कोई नाता नहीं रहा. बल्कि लंबे समय तक महेश भट्ट के साथ मुझे दिक्कत रही और मुझे पता भी नहीं था कि उनकी बेटी भी है. लेकिन मैं आपसे सहमत हूं स्वरा. कई बार जो सामने दिखता है वो आसान दिखता है. लेकिन मुझे लगता है अब चीजें बदल रही हैं. बहुत सा टैलेंट बाहर से इंडस्ट्री में आ रहा है और उन्हें अच्छे से क्रेडिट भी मिल रहा है.

स्वरा भास्कर ने करण जौहर के इस जवाब की एक और ट्वीट में तारीफ की है. उन्होंने कहा,

हम रुकें और देखें कि करण जौहर ने ये सवाल लिया और पर्सनल ऑफेंस लेने की बजाय बहुत साफगोई और ईमानदारी से जवाब दिया. ये भी स्वीकार करना चाहिए कि वो चर्चित नेपोटिज़्म वाली टिप्पणी उन्होंने अपने चैट शो से नहीं हटवाई, जो कि वो कर सकते थे.

हाल ही में स्वरा भास्कर की नई वेब सीरीज ‘रसभरी’ एमेज़ॉन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई है.


करण जौहर ने फिल्म ‘कभी खुशी-कभी गम’ के बारे में क्या कह दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

फादर्स डे बेशक बीत गया लेकिन सेलेब्स के मैसेज अब भी आंखें भिगो देंगे

'आपका हाथ पकड़ना मिस करता हूं. आपको गले लगाना मिस करता हूं. स्कूटर पर आपके पीछे बैठना मिस करता हूं. आपके बारे में सब कुछ मिस करता हूं पापा.'

वो एक्टर जो लोगों को अंग्रेज़ लगता था, लेकिन था पक्का हिंदुस्तानी

जिसकी हिंदी, उर्दू और अंग्रेज़ी पर गज़ब की पकड़ थी.

भारत-चीन तनाव: PM मोदी के बयान पर भड़के पूर्व फौजी, कहा- वे मारते मारते कहां मरे?

पीएम ने कहा था न कोई हमारी सीमा में घुसा है न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है.

'बुलबुल' ट्रेलर: देखकर लग रहा है ये बिल्कुल वैसी फिल्म है, जैसी एक हॉरर फिल्म होनी चाहिए

डर भी, रहस्य भी, रोमांच भी और सेंस भी. ऐसा लग रहा है कि फिल्म 'परी' से भी ज्यादा डरावनी होगी.

इस आदमी पर से भरोसा उसी दिन उठ गया था, जब इसने सनी देओल का जीजा बनकर उन्हें धोखा दिया था

परदे पर अब तक 182 बार मर चुका है ये एक्टर.

'गो कोरोना गो' वाले रामदास आठवले की कही आठ बातें, जिन्हें सुनकर दिमाग चकरा जाए

अब आठवले ने चायनीज फूड के बहिष्कार की बात कही है.

विदेशी मीडिया को क्यों लगता है कि भारत-चीन सीमा पर हालात बेकाबू हो सकते हैं?

सब जगह लद्दाख झड़प की चर्चा है.

वो 7 इंडियन एक्टर्स/सेलेब्रिटीज़, जिन्होंने आत्महत्या कर ली थी

इस लिस्ट में लीजेंड्स से लेकर स्टार्स सब शामिल हैं.

सुशांत सिंह राजपूत के 50 ख्वाब, जो उन्होंने पर्चियों में लिख रखे थे

उनके ख्वाबों की लिस्ट में उनके व्यक्तित्व का सार छुपा हुआ है.

डेथ से पहले इन 5 प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे थे सुशांत सिंह राजपूत

इनमें से एक फिल्म अगले कुछ दिनों में रिलीज़ होने वाली है, जो सुशांत के करियर की आखिरी फिल्म होगी.