Submit your post

Follow Us

क्या होता है 'लैवेंडर मैरिज' जिस पर राजकुमार और भूमि की फिल्म 'बधाई दो' बनी है?

2018 में आई फिल्म ‘बधाई हो’ का स्पिरिचुअल सीक्वल आ रहा है. फिल्म का नाम है ‘बधाई दो’. बेसिक सा वर्ड प्ले है. जिससे सीरीज़ का नाम भी बच गया और क्वर्क फैक्टर भी मेंटेन रह गया. ‘बधाई दो’ लैवेंडर मैरिज नाम के कॉन्सेप्ट पर बेस्ड है. लैवेंडर मैरिज यानी दो अलग सेक्शुअल ओरिएंटेशन के लोगों की शादी. ताकि समाज और परिवार के प्रेशर बचा सके. इंडियन सोसाइटी में अब भी गे और लेस्बियन मैरिज को स्टिग्मा की तरह देखा जाता है. समाज के फर्जी चोंचलों से बचने के लिए जब गे लड़का और लेस्बियन लड़की आपस में शादी कर लेते हैं, तो उसे लैवेंडर मैरिज कहा जाता है. ‘बधाई दो’ इसी कॉन्सेप्ट के बारे में बात करती है.

फिल्म की कहानी क्या है?

देहरादून में शार्दुल ठाकुर नाम का एक पुलिसवाला है. वो पिछले चार सालों से सुमन नाम की एक लड़की से शादी करने की ज़िद ठाने बैठा है. सुमन एक स्कूल में पीटी टीचर है. 31 साल उम्र है. उम्र का ज़िक्र इसलिए क्योंकि भारतीय पैरेंट्स के लिहाज़ से शादी के लिए बहुत देर हो चुकी है. खैर, शार्दुल के लाख मनाने पर भी सुमन शादी के लिए नहीं मानती. क्योंकि उसकी दिलचस्पी लड़कियों में हैं. वो लेस्बियन है. शार्दुल भी समलैंगिक है. इसीलिए वो सुमन को अपने साथ लैवेंडर मैरिज के लिए मना रहा है, ताकि दोनों के घरवालों की चिक-चिक बंद हो जाए. शादी तो हो जाती है. मगर पंगा ये है कि शादी के बाद भी इनके घरवाले इनका पीछा नहीं छोड़ते. क्योंकि अब उन्हें बच्चा चाहिए. कहानी ये है कि घरवालों का क्या होगा, जब उन्हें शार्दुल और सुमन की सेक्शुअल प्रेफरेंस और फर्जी शादी के बारे में पता चलेगा.

फिल्म के एक सीन में सुमन को शादी के लिए मनाता शार्दुल.
फिल्म के एक सीन में सुमन को शादी के लिए मनाता शार्दुल.

कैसा है ‘बधाई दो’ का ट्रेलर?

इस सीरीज़ की पहली फिल्म ‘बधाई हो’ में जहां मिड-एज प्रेग्नेंसी की बात हुई थी, तो इस फिल्म में गे और लेस्बियन रिलेशनशिप को एक्सप्लोर करने की कोशिश दिख रही है. हालांकि इससे पहले ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ जैसी मेनस्ट्रीम फिल्म में समलैंगिकता पर बात हो चुकी है. आयुष्मान खुराना स्टारर उस फिल्म में एक रेलेवेंट टॉपिक पर बात तो हुई थी. मगर फिल्म के तौर पर वो मामला कुछ ज़्यादा ही ओवरबोर्ड चला गया था.

ये फिल्म राजकुमार राव और आयुष्मान खुराना की फिल्मोग्राफी में सबसे बुनियादी फर्क भी बताती है. आयुष्मान ने एक के बाद एक टैबू इशूज़ से जुड़े मसलों पर फिल्में करके एक टेंप्लेट बना दिया. जो कि एक समय के बाद रेपिटिटीव लगने लगा. वहीं राजकुमार राव अलग-अलग तरह की फिल्मो में काम करते रहे. उन्होंने ‘स्त्री’, ‘हम दो हमारे दो’ और ‘बधाई दो’ जैसी फिल्मों के बीच ‘जजमेंटल है क्या’, ‘द वाइट टाइगर’ और ‘छलांग’ जैसी फिल्मों भी काम किया. इसका फायदा ये हुआ कि उन्हें अब भी ‘बधाई दो’ टाइप की फिल्मों में देखकर नया-नया फील होता है. बहरहाल, ‘बधाई दो’ के ट्रेलर में एक और चीज़ गड़बड़ दिख रही है. वो ये कि मेकर्स ने ट्रेलर में ही फिल्म का पूरा प्लॉट खोल दिया है.

फिल्म का ट्रेलर आप यहां देख सकते हैं-

कौन-कौन काम कर रहा है?

‘बधाई दो’ में राजकुमार राव शार्दुल ठाकुर नाम के पुलिसवाले का रोल कर रहे हैं. इंडियन टीम में एक क्रिकेटर हैं, जिनका नाम भी शार्दुल ठाकुर है. शार्दुल को उनके ऑलराउंड परफॉरमेंस के लिए जाना जाता है. सुमन सिंह के किरदार में दिख रही हैं भूमि पेडणेकर. ये वो पहली फिल्म है, जिसमें राजकुमार राव और भूमि पेडणेकर साथ काम कर रहे हैं. इन दोनों के अलावा इस फिल्म में शीबा चड्ढा, लवलीन मिश्रा और चम दरांग जैसे एक्टर्स भी काम कर रहे हैं.

किन्होंने बनाई है?

‘बधाई दो’ को डायरेक्ट किया है हर्षवर्धन कुलकर्णी ने. हर्षवर्धन पेशे से पेट्रोकेमिकल इंजीनियर हैं. मगर पूरी इंजीनियरिंग के दौरान नाटक लिखने और डायरेक्ट करने में व्यस्त रहे. फिल्मलाइन में करियर की शुरुआत की सोनी टीवी पर आने वाले हॉरर शो ‘आहट’ की स्क्रिप्ट लिखने से. इसके बाद लगा कि कोई प्रोफेशनल कोर्स कर लेना चाहिए, तो FTII से एडिटिंग का कोर्स कर लिया. 2014 में आई फिल्म ‘हंसी तो फंसी’ का स्क्रीनप्ले और डायलॉग्स हर्षवर्धन ने ही लिखे था. हर्ष के डायरेक्शन करियर की शुरुआत हुई 2015 में आई फिल्म ‘हंटर’ से. इस फिल्म को काफी क्रिटिकल अक्लेम मिला. अब वो ‘बधाई दो’ लेकर आ रहे हैं.

फिल्म के एक सीन में सुमन और उसकी पार्टनर के साथ शार्दुल.
फिल्म के एक सीन में सुमन और उसकी पार्टनर के साथ शार्दुल.

कब आ रही है ‘बधाई दो’?

‘बधाई दो’ की शूटिंग 5 जनवरी, 2021 को देहरादून में शुरू हुई थी. 6 मार्च, 2021 को फिल्म की शूटिंग पूरी हो गई. पहले अनाउंस किया गया था कि ‘बधाई दो’ 4 फरवरी को रिलीज़ होगी. मगर 25 जनवरी को आए ट्रेलर में बताया गया कि फिल्म 11 फरवरी, 2022 को सिनेमाघरों में रिलीज़ होगी.


वीडियो देखें: ‘रॉकेट बॉयज़’ का ट्रेलर फिल्मी कम, हिस्ट्री बुक की फ़ील ज्यादा देता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

सीरीज़ की सबसे अच्छी और शायद बुरी बात सिर्फ यही है कि इसका पूरा फोकस सिर्फ शील पर है.

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

एक मौलवी और बच्चे की ये फिल्म इस दौर में बेहद ज़रूरी है.

फिल्म रिव्यू- KGF 2

फिल्म रिव्यू- KGF 2

KGF 2 एक धुआंधार सीक्वल है, जो 2018 में शुरू हुई कहानी को एक सैटिसफाइंग तरीके से खत्म करती है.

फ़िल्म रिव्यू: बीस्ट

फ़िल्म रिव्यू: बीस्ट

विजय के फैन हैं तो ही फ़िल्म देखने जाएं. नहीं तो रिस्क है गुरु.

वेब सीरीज रिव्यू: अभय-3

वेब सीरीज रिव्यू: अभय-3

विजय राज ने महफ़िल लूट ली.

वेब सीरीज़ रिव्यू : गुल्लक 3

वेब सीरीज़ रिव्यू : गुल्लक 3

बाकी दोनों सीज़न्स की तरह इस सीज़न की राइटिंग कमाल की है.

फिल्म रिव्यू- दसवीं

फिल्म रिव्यू- दसवीं

'इतिहास से ना सीखने वाले खुद इतिहास बन जाते हैं'.

फिल्म रिव्यू: कोबाल्ट ब्लू

फिल्म रिव्यू: कोबाल्ट ब्लू

मूलत: ये फिल्म प्रेम और उससे उपजे दुख की बात करती है.

विजय की फिल्म 'बीस्ट' के ट्रेलर में पबजी फैन्स ने क्या ग़लती निकाल दीं?

विजय की फिल्म 'बीस्ट' के ट्रेलर में पबजी फैन्स ने क्या ग़लती निकाल दीं?

डिफेंस वालों को भी शिकायत हो सकती है.

फिल्म रिव्यू- मॉर्बियस

फिल्म रिव्यू- मॉर्बियस

अगर आपने मार्वल की कोई फिल्म नहीं देखी, तब भी 'मॉर्बियस' को देख सकते हैं. क्योंकि इसका मार्वल की पिछली फिल्मो से कोई लेना-देना नहीं है.