Submit your post

Follow Us

#ArrestLucknowGirl Twitter पर ट्रेंड, कैब ड्राइवर को मारने वाली युवती के नए फुटेज के बाद उठी मांग

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में बीती 30 जुलाई की रात एक घटना हुई. शहर की एक सड़क पर एक युवती एक कैब ड्राइवर को थप्पड़ ही थप्पड़ मारती दिखी. घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर अब तक वायरल है. युवती और कैब ड्राइवर दोनों का पक्ष लेने वाले लगातार टिप्पणियां कर रहे हैं. थप्पड़ मारने वाली युवती के लिए कहा जा रहा है कि उसने बिना बात के ड्राइवर को नहीं मारा होगा, जरूर उसने कोई गलत बात या हरकत की होगी. वहीं, कैब ड्राइवर का सपोर्ट कर रहे लोग कह रहे हैं कि वो गरीब था, इसलिए पीटा गया और उसे बचाने कोई नहीं आया. इस बीच, सोमवार 2 अगस्त को इसी वाकये का एक दूसरा पहलू CCTV फुटेज के रूप में सामने आया है. पहले ये फुटेज देख लीजिए, फिर आगे बताते हैं.

वीडियो देखकर ये तो साफ है कि रेड लाइट होने के बावजूद गाड़ियां नहीं रुक रही थीं, जिसके चलते युवती कैब से टकराने से बाल-बाल बची. लेकिन फुटेज में ये भी साफ दिख रहा है कि युवती चलते ट्रैफिक के सामने से इस तरह गुजर रही थी मानो वहां कोई गाड़ी नहीं थी. जबकि उसी चौराहे पर दूसरे लोग और गाड़ी वाले ट्रैफिक पुलिसकर्मी के इशारे का इंतजार कर रहे थे. लेकिन युवती पुलिसकर्मी और ट्रैफिक दोनों से बेफिक्र होकर चल रही थी.

जेबरा क्रॉसिंग पर चलते हुए कैब से पहले युवती दो अन्य वाहनों के बीच आई थी. इनमें से एक ऑटो था, जिसके ठीक पीछे से कैब आ रही थी. ड्राइवर के लिए ये कहा जा सकता है कि उसे ट्रैफिक पुलिस के इशारे से पहले वहां से निकलने की जल्दी नहीं दिखानी चाहिए थी, लेकिन ये भी गौर करने वाली बात है कि कैब से बाल-बाल बचने से पहले युवती एक चलती बस के सामने से बड़े आराम से गुजरी थी. वो बस भी उसके बहुत करीब से होकर निकली. गनीमत रही कि सड़क पर आराम से चल रही युवती से ना वो बस टकराई और ना कोई और वाहन.

लेकिन युवती ने कैब ड्राइवर पर बदसलूकी का आरोप क्यों लगाया?

CCTV फुटेज से तो ये साफ दिख रहा है कि कैब के रुकने के बाद गुस्से में युवती ने ही गाड़ी का दरवाजा खोला और किसी चीज को हिट किया. कुछ दूसरे वीडियो में युवती ड्राइवर को लगातार मारते दिख रही है. यहां तक कि बीचबचाव करने वाले एक शख्स का उसने गिरेबान पकड़ लिया. पहले आई रिपोर्टों में युवती के हवाले कहा गया कि उसने ड्राइवर को संभल कर गाड़ी चलाने को कहा, जिस पर वो बहस करने लगा. लेकिन ये सब फुटेज देखने के बाद ऐसा नहीं लगता. इसमें झगड़े की शुरुआत युवती ही करती दिख रही है. यहां साफ कर दें कि अगर इसके बाद ड्राइवर और उसके दो साथियों ने युवती से बदसलूकी की थी तो उसे भी सही नहीं ठहराया जा सकता.

ट्विटर पर ArrestLucknowGirl ट्रेंड

घटना का नया फुटेज सामने आया तो ड्राइवर का पक्ष लेने वालों की संख्या बढ़ गई. किसी ने युवती की आलोचना की तो कुछ लोग उसके खिलाफ पुलिस ऐक्शन की मांग करने लगे. वहीं, कुछ यूजर्स महिला अधिकार और फेमिनिज्म को इस मामले में घसीट लाए. कुछ ट्वीट्स देखें.

सैफ रंगरेज नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है, “जो लोग कह रहे हैं कि (युवती ने) बिना गलती के नहीं मारा होगा, वे ये देख लें.”

जैक ने कहा, “हमेशा ये पुरुष ही गलत व्यवहार नहीं करते.”

दि बिटर ट्रुथ नाम का ट्विटर हैंडल इस घटना को कहीं से कहीं ले गया. सीएम योगी आदित्याथ को टैग करते हुए उसने कहा,

“क्या इस दोषी लड़की के खिलाफ कोई ऐक्शन लिया जाएगा. या महिलाओं से देवी और पुरुषों से गुलामों जैसा सलूक किया जाएगा. राष्ट्रीय महिला आयोग महिलाओं के मानसिक स्वास्थ्य की जिम्मेदारी ले और लड़कियों को सिखाए कि कैसे व्यवहार करना है.”

वहीं, कुछ ट्विटर यूजर्स ने भारत में ट्रैफिक रूल्स को अनदेखा करने के मुद्दा को उठाया. एक यूजर मोहित ने लिखा,

“ये वीडियो देखें. मैं उसके (युवती) ड्राइवर को मारने का सपोर्ट नहीं करता. लेकिन क्या हमें नहीं पता कि भारत में ड्राइवर्स (ट्रैफिक) सिग्नल का कितना सम्मान करते हैं.”

 

दूसरी तरफ ट्विटर पर लड़की की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अभियान चल पड़ा. नया फुटेज सामने आने के बाद यहां #ArrestLucknowGirl ट्रेंड करने लगा. खबर लिखे जाने तक इस हैशटैग के साथ 60 हजार से ज्यादा ट्वीट किए गए थे. कुछ ट्वीट देखें.

  कुछ लोगों ने ड्राइवर से मारपीट का बचाव तो नहीं किया है, लेकिन ये जरूर कहा है कि सड़क पार करते हुए लड़की ट्रैफिक रूल्स का पालन कर रही थी. जैसे अमीदुल नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा,

  “हर कोई सिग्नल तोड़ रहा है. केवल लेफ्ट साइड का सिग्नल ग्रीन था, जिसके लिए अलग से लेन थी. लड़की ट्रैफिक नियमों का सही पालन कर रही थी. लड़की ने ड्राइवर को मारकर कानून अपने हाथ में लिया. इसका नारीवाद से कोई लेना-देना नहीं है.”

 

भारत में ट्रैफिक रूल्स के नियमों का पालन अक्सर नहीं होता है. कई लोगों को रेड लाइन, ग्रीन लाइन से कोई मतलब नहीं. ये रवैया सड़क पर चल रहे या गाड़ियां चला रहे दूसरे लोगों के लिए खतरा है. लखनऊ की घटना इसका उदाहरण है. अगर ड्राइवर गाड़ी की रफ्तार को कंट्रोल नहीं कर पाता तो सड़क पर कोई अप्रिय घटना हो सकती थी. लेकिन जब आप सड़क पर वाहन चलाने वालों के रवैये से वाकिफ हों, तो वहां से गुजरते समय ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए. भारत में आप रेड लाइट पर जेबरा क्रॉसिंग से सड़क पार करते हुए भी लापरवाह नहीं हो सकते. बहरहाल, आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक नए वीडियो के सामने आने के बाद कृष्णा नगर (लखनऊ) के एसीपी ने पूरी घटना पर जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि लड़की ने कैब ड्राइवर के साथ थाने आए अन्य लोगों पर भी उसे परेशान करने का आरोप लगाया. लेकिन अब अगर लड़कों की तरफ से कोई तहरीर दी जाएगी तो कानूनी कार्रवाई जरूर होगी. पुलिस को लड़कों की तरफ से तहरीर का इंतजार है.


वीडियो- सोशल लिस्ट: ट्रोल का अकाउंट सस्पेंड हुआ तो ट्विटर को ‘फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन’ की घुट्टी देने लगे दक्षिणपंथी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

KRK के इस ह्रदय परिवर्तन का राज़ क्या है?

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

इस तरह का एक्शन आपने इससे पहले इंडियन सिनेमा में नहीं देखा होगा.

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

पड़ोसी केतन ने सलमान के पनवेल वाले फार्महाउस के बारे में कुछ ऐसा बोल दिया, जो उन्हें ठीक नहीं लगा.

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

'अला वैकुंठपुरमुलो' के हिंदी रीमेक 'शहज़ादा' में कार्तिक आर्यन और कृति सैनन लीड रोल्स कर रहे हैं.

2022 में आने वाली वो 23 बड़ी फिल्में, जिनका पब्लिक को बेसब्री से इंतज़ार है

2022 में आने वाली वो 23 बड़ी फिल्में, जिनका पब्लिक को बेसब्री से इंतज़ार है

इस लिस्ट में हिंदी से लेकर अन्य भाषाओं की बहु-प्रतीक्षित फिल्मों के नाम भी शामिल हैं.

क्या होती हैं ये एनिमे फ़िल्में या सीरीज़, जिनके पीछे सब बौराए रहते हैं

क्या होती हैं ये एनिमे फ़िल्में या सीरीज़, जिनके पीछे सब बौराए रहते हैं

ये कार्टून और एनिमे के बीच क्या अंतर होता है? साथ ही जानिए ऐसे पांच एनिमे शोज़, जो देखने ही चाहिए.

सायना नेहवाल ट्वीट मामले में एक्टर सिद्धार्थ की मुश्किलें बढ़ीं, बीजेपी हुई इन्वॉल्व

सायना नेहवाल ट्वीट मामले में एक्टर सिद्धार्थ की मुश्किलें बढ़ीं, बीजेपी हुई इन्वॉल्व

सिद्धार्थ ने सायना को लेकर एक ट्वीट किया, जो सेक्सिस्ट और अपमानजनक था.

RRR के लिए अजय और आलिया ने जितनी फीस ली, उतने में एक फिल्म बन जाती

RRR के लिए अजय और आलिया ने जितनी फीस ली, उतने में एक फिल्म बन जाती

कमाल की बात ये कि दोनों राजामौली की इस फिल्म में सिर्फ कैमियो कर रहे हैं.

अमरीश पुरी: उस महान एक्टर के 18 किस्से, जिसे हमने बेस्ट एक्टर का एक अवॉर्ड तक न दिया

अमरीश पुरी: उस महान एक्टर के 18 किस्से, जिसे हमने बेस्ट एक्टर का एक अवॉर्ड तक न दिया

जिनके बारे में स्टीवन स्पीलबर्ग ने कहा था, 'अमरीश जैसा कोई नहीं, न होगा'.

मलयालम एक्ट्रेस भावना मेनन ने 5 साल बाद अपनी किडनैपिंग और मोलेस्टेशन पर बात की

मलयालम एक्ट्रेस भावना मेनन ने 5 साल बाद अपनी किडनैपिंग और मोलेस्टेशन पर बात की

इस सब का आरोप एक्टर दिलीप के ऊपर है.