Submit your post

Follow Us

मंदाकिनी के झरने में नहाने वाले सीन को आलोचकों ने अश्लील नग्नता कहा तो राज कपूर ने ये जवाब दिया

बर्थडे पर आज याद मंदाकिनी की. वे 30 जुलाई 1963 को यूपी के मेरठ में पैदा हुई थीं. पिता ब्रिटिश थे और मां कश्मीरी मुस्लिम.

254
शेयर्स

1. ‘राम तेरी गंगा मैली’ में मंदाकिनी कैसे आईं? क्या झरने के नीचे नहाने वाले सीन को लेकर वो कम्फर्टेबल थीं? और फिल्म को अश्लील नग्नता कहने वालों को डायरेक्टर को राज कपूर ने क्या जवाब दिया था?

–  मंदाकिनी को 1985 में रिलीज हुई फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ के इन्हीं दृश्यों से हमेशा याद किया जाता है. उन्होंने फिल्म में गंगा नाम की भोली पहाड़ी लड़की का रोल किया था जिसे शहर के बाबू से प्यार हो जाता है और दोनों लव करते हैं. डायरेक्टर राज कपूर ने पहले इस रोल के लिए डिंपल कपाड़िया का ऑडिशन लिया था. ऑडिशन पसंद आया लेकिन डिंपल को लिया नहीं क्योंकि उन्हें लगा कि पहाड़ी लड़की वाली मासूमियत और भोलापन किसी नई लड़की में ही हो सकता है. उसके बाद उन्हें मंदाकिनी मिली और स्क्रीन टेस्ट के बाद राज कपूर ने उनको चुन लिया. तब उनका नाम यास्मीन जोसेफ था जिसे राज कपूर ने बदलकर मंदाकिनी रख दिया.

फिल्म के एक दृश्य में हीरो राजीव कपूर और शूट के दौरान डायरेक्टर राज कपूर के साथ मंदाकिनी.
फिल्म के एक दृश्य में हीरो राजीव कपूर और शूट के दौरान डायरेक्टर राज कपूर के साथ मंदाकिनी.

फिल्म में अपने झरने वाले सीन के बारे में मंदाकिनी ने कभी खुलकर नहीं बात की. 1986 में फिल्म ‘आग और शोला’ की डबिंग के दौरान फिल्म जर्नलिस्ट खालिद मोहम्मद ने पूछा कि क्या वो दृश्य करने का पछतावा है? तो मंदाकिनी टाल गईं. हर सवाल पर उनका जवाब यही होता – “पता नहीं जी,” ” राज कपूर जी को मना करने की हिम्मत कौन कर सकता है” और “ये अच्छा सवाल नहीं है जी.”

हालांकि 2010 में मिड डे को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा – “मुझे वो सीन करने का कभी पछतावा नहीं होगा. मेरे फैंस और दर्शक मुझे से याद करते हैं. कुछ लोग अच्छे से याद करते हैं, कुछ मज़ाक उड़ाते हैं. लेकिन खुश हूं कि वो मुझे उस सीन के लिए प्यार तो करते हैं. खुशनसीबी है कि मैंने अपने दौर के बेस्ट फिल्ममेकर श्री राज कपूर जी के साथ काम किया.”

आलोचकों ने फिल्म में मंदाकिनी के ऐसे दृश्यों को ‘ललचाने वाली अश्लील नग्नता’ कहा था. जिसके जवाब में राजकपूर ने बोला कि “अगर फैडरीको फैलिनी (महान इटैलियन फिल्ममेकर) अपनी फिल्म ‘अमरकोर्द’ में न्यू़ड महिलाएं दिखाते हैं तो उसे आर्ट कहा जाता है और सबसे प्रीमियम फिल्म फेस्टिवल्स में वो अवॉर्ड जीतती है. अगर मैं न्यूडिटी की तरफ जाने की हिम्मत करता हूं तो उसे शोषण और वोयेअरिस्टिक/दृश्यरति (देखकर कामसुख पाना) कहा जाता है.”

'अमरकोर्द' का एक दृश्य. राज कपूर.
‘अमरकोर्द’ का एक दृश्य. राज कपूर.

2. अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहीन और मंदाकिनी ने क्या शादी की थी? खुद मंदाकिनी ने अपने इस रिश्ते के बारे में क्या कहा है?

– शारजाह, दुबई में एक क्रिकेट मैच के दौरान पास-पास बैठे दाउद और मंदाकिनी की फोटो छपी थी. तब से गॉसिप की बाढ़ आ गई. दोनों के रिश्ते, शादी, बच्चे की कहानियां कही जाने लगीं.

ऐसी ही एक कहानी ये है कि दाउद ने ‘राम तेरी..’ देखी और सम्मोहित हो गया. एक बार उसने बॉलीवुड सितारों के लिए पार्टी रखी थी जिसमें उसने पहली बार मंदाकिनी को देखा. वहां से दोनों की बातचीत चालू हुई. वो कई बहानों से उनसे मिलने लगा. मंदाकिनी की फिल्मों में पैसा लगाया. निर्देशकों पर दबाव डाला कि उसे अपनी फिल्म में लो. मंदाकिनी मॉडलिंग असाइनमेंट के लिए गल्फ देशों में जाती तो दाउद के विला पर रुकती. दोनों दुबई में साथ घूमते और लाइफ एंजॉय करते थे. बॉलीवुड के एक फिल्म प्रोड्यूसर जावेद सिद्दीक की हत्या हो गई थी. कहा जाता है कि दाउद ने ये करवाई क्योंकि उन्होंने अपनी फिल्म में मंदाकिनी को लेने से मना कर दिया. मार्च 1993 में जब बंबई बम धमाके हुए तो दाउद भारत का मोस्ट वॉन्टेड क्रिमिनल हो गया. उसने भारत छोड़ दिया औऱ मंदाकिनी को कथित तौर पर बैंगलोर के एक फार्महाउस में अंडरग्राऊंड होना पड़ा. बाद में पुलिस पूछताछ में उन्हें क्लीन चिट मिली.

दाउद और मंदाकिनी की शारजाह मैच के दौरान की फोटो जिसने सारी गॉसिप को जन्म दिया.
दाउद और मंदाकिनी की शारजाह मैच के दौरान की फोटो जिसने सारी गॉसिप को जन्म दिया.

इन गॉसिप के इतर मंदाकिनी का पक्ष भी था. उन्होंने 2005 में एक इंटरव्यू में कहा कि वे भारत से बाहर शो करने जाती थी तो दुबई में दाउद से मुलाकात हुई थी. वे एक फिल्म स्टार की तरह ही उससे मिलीं. लेकिन न तो वे उसकी गर्लफ्रेंड थीं, न उनके बीच कुछ था. मंदाकिनी ने कहा – “जब 1994-95 में मेरी और दाउद की वो फोटो आई तो मेरी जिंदगी बदल गई. रिपोर्ट आने लगीं कि मैंने उससे शादी कर ली और मेरा-उसका एक बेटा है, और मैं उसके साथ दुबई में रहती थी. ये सब झूठ था. मेरी शादी किसी और से 1990 में ही हो गई थी और मैं तब से मुंबई में ही रह रही थी.”

3. मंदाकिनी अब कहां हैं और क्या कर रही हैं?

– मुंबई के अंधेरी में यारी रोड़ पर अपने परिवार के साथ मंदाकिनी रहती हैं. एक सामान्य जीवन बिता रही हैं. उन्होंने 1990 में शादी कर ली थी. उनके पति हैं डॉ. काग्यूर रिनपोचे. जो मंदाकिनी से शादी से पहले काफी समय बौद्ध भिक्षु बनकर रहे थे. वो दलाई लामा के समर्थक हैं और तिब्बत के समर्थक हैं. वे और मंदाकिनी मिलकर एक तिब्बती औषधि केंद्र चलाते हैं. मंदाकिनी योग भी सिखाती हैं.

अपने पति डॉ. काग्यूर रिनपोचे ठाकुर और बेटी राब्जी के साथ मंदाकिनी.
अपने पति डॉ. काग्यूर रिनपोचे ठाकुर और बेटी राब्जी के साथ मंदाकिनी.

वीडियो देखें : अनुराग कश्यप की अगली फिल्म ‘हज़्बैंड मटीरियल’: जिसे देख लगेगा नहीं कि उन्होंने बनाई है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो 15 गाने, जिनके बिना छठ पूजा अधूरी है

पुराने गानों के बिना व्रत ही पूरा नहीं होता.

राग दरबारी : वो किताब जिसने सिखाया कि व्यंग्य कितनी खतरनाक चीज़ है

पढ़िए इस किताब से कुछ हाहाकारी वन लाइनर्स.

वो 8 कंटेस्टेंट जो 'बिग बॉस' में आए और सलमान खान से दुश्मनी मोल ले ली

लड़ाईयां जो शुरू घर से हुईं लेकिन चलीं बाहर तक.

जॉन अब्राहम की फिल्म का ट्रेलर देखकर भूतों को भी डर लगने लगेगा

'पागलपंती' ट्रेलर की शुरुआत में जो बात कही गई है, उस पर सभी को अमल करना चाहिए.

मुंबई में भी वोट पड़े, हीरो-हिरोइन की इंक वाली फोटो को देखना तो बनता है बॉस!

देखिए, कितने लाइक्स बटोर चुकी हैं ये फ़ोटोज.

जब फिल्मों में रोल पाने के लिए नाग-नागिन तो क्या चिड़िया, बाघ और मक्खी तक बन गए ये सुपरस्टार्स

अर्जुन कपूर अगली फिल्म में मगरमच्छ के रोल में दिख सकते हैं.

जब शाहरुख की इस फिल्म की रिलीज़ से पहले डॉन ने फोन कर करण जौहर को जान से मारने की धमकी दी

शाहरुख करण को कमरे से खींचकर लाए और कहा- '' मैं भी पठान हूं, देखता हूं तुम्हें कौन गोली मारता है!''

इस अजीबोगरीब साइ-फाई फिल्म को देखकर पता चलेगा कि लोग मरने के बाद कहां जाते हैं

एक स्पेसशिप है, जो मर चुके लोगों को रोज सुबह लेने आता है. लेकिन लेकर कहां जाता है?

वो इंडियन डायरेक्टर जिसने अपनी फिल्म बनाने के लिए हैरी पॉटर सीरीज़ की फिल्म ठुकरा दी

आज अपना 62 वां बड्डे मना रही हैं मीरा नायर.

अगर रावण आज के टाइम में होता, तो सबसे बड़ी दिक्कत उसे ये होती

नम्बर सात पढ़ कर तो आप भी बोलेंगे, बात तो सही है बॉस.