Submit your post

Follow Us

पुनीत इस्सर और अमिताभ के बीच हुए हादसे के बारे में इस एक्ट्रेस को पहले पता चल गया था!

1.52 K
शेयर्स

साल 1982 से इंडिया की एक खौफनाक याद जुड़ी है, जिसे सोचने भर से बदन में डर का संचार अपने आप हो जाता है. ये वही साल है, जब इंडिया अपना सबसे बड़ा सितारा अमिताभ बच्चन को बस खोने ही वाला था. 1982 में  अमिताभ को फिल्म ‘कुली’ की शूटिंग के दौरान पुनीत इस्सर के मुक्के ने घायल कर दिया था. इस चक्कर में फिल्म तो बड़ी हिट हो गई, लेकिन बेचारे पुनीत बेरोजगार हो गए. 2 दिसंबर 1983 को ये फिल्म रिलीज हुई थी. आज इस फिल्म को रिलीज़ हुए 36 साल हो चुके हैं. इसका एक ही किस्सा इतनी बार कहा-सुना-पढ़ा जा चुका है कि फिल्म ‘कुली’ का नाम आते ही दिमाग में वही अमिताभ-पुनीत की लड़ाई चलने लगती है. लेकिन हम आज उससे इतर फिल्म के कुछ मजेदार किस्से लाए हैं.

अमिताभ बच्चन की ये फिल्म बहुत बड़ी हिट रही थी.
अमिताभ बच्चन की ये फिल्म बहुत बड़ी हिट रही थी.

#1. मशहूर अदाकारा स्मिता पाटिल को पहले ही अमिताभ के साथ कुछ अनहोनी होने की बात पता लग गई थी. ये किस्सा खुद अमिताभ ने स्मिता की 60वीं जयंती पर हुई मैथिली राव की किताब Smita Patil: A Brief Incandescence के लॉन्च पर बताई.

उन्होंने कहा कि वो फिल्म की शूटिंग के लिए बैंगलोर में थे. शूटिंग के बाद अपने कमरे में सो रहे अमिताभ को रात दो बजे एक कॉल आया. दूसरी तरफ स्मिता पाटिल थीं. अमिताभ को उतनी देर रात कभी स्मिता का फोन नहीं आया. उन्हें समझ आ गया कि मामला कुछ सीरियस है. लेकिन फोन उठाते ही स्मिता उनसे उनके स्वास्थ्य और सब कुछ ठीक होने की बात पूछने लगीं. आखिर में उन्होंने बाद में बताया कि उन्हें उनसे जुड़ा एक बहुत बुरा सपना आया था. ठीक उसके अगले दिन सेट पर अमिताभ के साथ ये हादसा हो गया.

अमिताभ और स्मिता 1982 में आई फिल्म 'नमक हलाल' में एक दूसरे के सह कलाकार भी रह चुके हैं.
अमिताभ और स्मिता 1982 में आई फिल्म ‘नमक हलाल’ में एक दूसरे के साथ काम कर चुके हैं.

#2. जिस दिन ये सब हुआ उस दिन मामला इतना सीरियस नहीं था. अमिताभ ने बस उस दिन शूटिंग कैंसिल करवा दी. लेकिन अगले दिन उनकी तकलीफ बढ़ गई. फौरन उन्हें आपाधापी में बैंगलोर के अस्पताल पहुंचाया गया. लोगों का आना-जाना शुरू हो गया. फैन्स ने हॉस्पिटल के बाहर अलग जमावड़ा लगा दिया था. देशभर में दुआएं होने लगीं. जब ये बात राजीव गांधी को पता चली तब वो अपनी मां और भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के साथ यूएस दौरे पर थे. उन्होंने तत्काल प्रभाव से अमिताभ के साथ होने के लिए अपना अमेरिकी दौरा कैंसिल किया और इंडिया आ गए. तब तक अमिताभ को मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में लाया जा चुका था.

अमिताभ बच्चन और राजीव गांधी काफी अच्छे दोस्त माने जाते थे.
अमिताभ बच्चन और राजीव गांधी काफी अच्छे दोस्त माने जाते थे.

इंदिरा गांधी भी भारत आने पर सबसे पहले अमिताभ से ही मिलने पहुंची लेकिन डॉक्टरों को इससे शिकायत थी. उनका कहना था कि लोगों की आवाजाही की वजह से पूरे हॉस्पिटल में दिक्कत आ रही है. बाकी के पेशेंट भी परेशान हो रहे हैं और उनके इलाज में भी परेशानी आ रही है.

#3. अमिताभ की इस चोट का फिल्म पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ा और उसका अंत बदलना पड़ा. प्रयाग राज और कादर खान की लिखी शुरुआती स्क्रिप्ट में अमिताभ के मरने के साथ फिल्म खत्म होने वाली थी. लेकिन उनकी चोट की वजह से मेकर्स को लगा की ऑडियंस मौत के मुंह से बचकर आए अपने स्टार को परदे पर मरता हुआ देखना पसंद नहीं करेंगे. इसलिए फिल्म के स्क्रिप्ट को बदल दिया गया.

फिल्म 'कूली' के एक सीन में अमिताभ बच्चन.
फिल्म ‘कुली’ के एक सीन में अमिताभ बच्चन.

#4. अमिताभ के इलाज के वक्त उन्हें बहुत खून की ज़रूरत पड़ी थी. इसमें सबसे ज़्यादा खून पुनीत इस्सर की पत्नी ने दिया था. लेकिन डॉक्टरों को और खून की दरकार थी. डॉक्टरों की डिमांड पर तकरीबन 200 लोगों ने अपने चहेते स्टार के लिए 60 बोतल खून दिया. उनके इस खून ने अमिताभ को तब तो बचा लिया, लेकिन जीवन भर के लिए बीमार कर दिया.

हुआ यूं कि जो लोगों ने खून दिया था उनमें से किसी एक का ब्लड हैपेटाइटिस पॉज़िटिव था. साल 2000 में अमिताभ की तबीयत एक बार फिर खराब हुई और तब जाकर ये पता लगा कि उनका लिवर 75 परसेंट तक खराब हो चुका है. उन्हें ‘लिवर सिरोसिस’ नाम की बीमारी है.

#5. फिल्मों में अमिताभ की पर्सनालिटी पर सबसे ज़्यादा मो. रफी की आवाज जंचती थी. 1980 में रफी की डेथ के बाद अमिताभ की फिल्मों में किशोर कुमार अमिताभ के लिए गाते थे. लेकिन इस फिल्म में कुछ आपसी खटपट की वजह से किशोर कुमार ने अमिताभ के लिए गाने से मना कर दिया. अब डायरेक्टर के सामने बहुत बड़ी समस्या आन पड़ी. ऐसे में उन्होंने इसका एक काट निकाला और मो. रफी के अंदाज में गाने वाले वाले सिंगर शब्बीर कुमार को फिल्म के लिए साइन कर लिया गया. फिल्म ‘कुली’ में अमिताभ के लिए सभी गाने शब्बीर कुमार ने ही गाए.

पहले अमिताभ और किशोर कुमार की अच्छी बनती थी लेकिन बाद में दोनों के बीच कुछ खटपट हो गई.
पहले अमिताभ और किशोर कुमार की अच्छी बनती थी. लेकिन बाद में दोनों के बीच कुछ खटपट हो गई.

शब्बीर रफी के फैन थे और उनके जैसा ही बनना चाहते थे. शब्बीर के बारे में एक किस्सा बहुत मशहूर है. वो ये कि रफी साहब के अंतिम संस्कार में पहुंचे शब्बीर की घड़ी उनके कब्र में गिर गई. इसे शब्बीर कोई दैवीय इशारा मान खुद को रफी का उत्तराधिकारी समझने लगे.


ये भी पढ़ें: 

अमिताभ ने फिर याद दिलाया ‘कुली’ वाला हादसा, पर जानिए पुनीत इस्सर क्या कहते हैं

वो औरत जिसे मुहब्बत के मारों का मसीहा कहा जाता था

स्मिता पाटिल से दोस्ती पर क्या बोले अमिताभ

फिल्म रिव्यू ‘पिंक’: जरूर देखें, न देखने का ऑप्शन न रखें


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: कमांडो 3

इस फिल्म में विद्युत का एक्शन देखकर आप टाइगर श्रॉफ पर 'किड्स' वाला जोक मारने के लिए मजबूर हो जाएंगे.

होटल मुंबई: मूवी रिव्यू

‘होटल मुंबई’ एक बेहतरीन मूवी है. लेकिन इसे 'बेहतरीन' कहते हुए आप गिल्ट तले दब जाते हो.

रामगोपाल वर्मा की मूवी में पीएम मोदी, अमित शाह और चंद्रबाबू नायडू ही नहीं, और भी कई राजनेता हैं

पिक्चर तो रामू ने बना दी. अब रिलीज़ कैसे करेंगे?

पागलपंती: मूवी रिव्यू

फिल्म के ट्रेलर में ही अनिल कपूर कह देते है,'और हां तुम लोग दिमाग मत लगाना'.

फ्रोज़न 2: मूवी रिव्यू

...जब मेरे बचपन के दिन थे चांद में परियां रहती थीं.

तानाजी ट्रेलर के दो डायलॉग जिन्हें सुनकर मन बहुत खराब हो गया है!

अजय देवगन स्टारर इस हिस्टोरिकल ड्रामा की ये गलती इसका पीछा नहीं छोड़ेगी.

हाउस अरेस्ट: मूवी रिव्यू

पूरी दुनिया के लिए उम्दा कॉन्टेंट बनाने वाला नेटफ्लिक्स हम भारतीयों के साथ सौतेला व्यवहार क्यूं कर रहा है, समझ से बाहर है.

मरजावां: मूवी रिव्यू

‘परिंदा’, ‘ग़ुलाम’, ’देवदास’, ‘अग्निपथ’, ‘कयामत से कयामत तक’, ‘गजनी’, ‘काबिल’, ‘लावारिस’ और ‘केजीएफ’ जैसी ढेरों मूवीज़ की याद दिलाती है मरजावां.

फिल्म रिव्यू: मोतीचूर चकनाचूर

आप पैसे खर्च करके सिर्फ हंसने नहीं जा सकते, साथ में कुछ चाहिए होता है, जो ये फिल्म नहीं देती.

बाला: मूवी रिव्यू

'आज खुशी का दिन है आया बिल्कुल लल्लनटॉप. सोडा, पानी, नींबू के साथ क्या पिएंगे आप?'