Submit your post

Follow Us

अपने ग़रीब धोबी पर अक्षय कुमार से झूठ बोल गए पीएम मोदी?

ख्यात(‘प्र’ और ‘कु’ अपने हिसाब से लगा लीजिए) मनोवैज्ञानिक फ़्रायड ने कभी कहा था कि ‘झूठ में एक चुम्बकीय नकारात्मक ताक़त होती है, और अक़्सर फ़ौलादी लोग इससे चिपके पाए जाते हैं’.अब इसका मतलब भी अपने हिसाब से समझ लीजिए. प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में एक इंटरव्यू दिया, जो उनके हिसाब से गैर-राजनैतिक था. लेकिन बातें ऐसी कहीं कि मिस्टर खिलाड़ी अक्षय कुमार हर जवाब पर चकरघिन्नी बनकर लोट-पोट होने लगते थे. तमाम फ़ौलादी बातों से भरा हुआ इंटरव्यू .

बस आप तो जुगाड़ सुन लो मोदीजी के – 

अब इसी इंटरव्यू से एक फ़ौलादी बात निकलती है जो सटाक से मैग्नेटिक फ़ील्ड की तरफ़ निकल गई. बात ये थी कि खिलाड़ी कुमार ने मोदी के फ़ैशन सेन्स की पहले तारीफ़ की. फिर पूछा ‘क्या ये फ़ैशन आपने ख़ुद से किया है या किसी को …?  (फ़िल इन दी ब्लैंक्स) क्योंकि आगे बोलने नहीं दिया अक्षय कुमार को.

मोदी जी ने सवाल की तारीफ़ करते हुए जवाब दिया-

“मेरी दूसरी छवि मेरी इन कपड़ों की दुनिया को लेकर बनाई गई है. दर-असल क्या है कि छोटे बैग में मेरी जिंदगी थी. इसी में अपना सामान रखा करता था. और कपड़े मैं ख़ुद धोता था, सीएम बना तब तक मैं अपने कपड़े खुद धोया करता था, फिर मैने सोचा कि लंबी बांह वाले कुर्ते की वजह से मुझे ज्यादा कपड़े धोने पड़ते हैं. दूसरा कि पूरी बांह वाला कुर्ता मेरे बैग में ज्यादा जगह लेता है. तो मैंने खुद ही अपने कुर्ते की बांह काट दी थी, जो बाद में फैशन बन गया”

अब मोदी जी के इसी शॉट को इंडियन एक्सप्रेस अख़बार ने कैच कर लिया, वो भी बाउंड्री पर. वैसे ही जैसे RCB और Kings XI Punjab वाले मैच में गेल भाई साब लपक लिए गए थे. लगना था सिक्स, हो गया विकेट. मोदी जी ने कहा कि जब तक मुख्यमंत्री नहीं बना, तब तक अपने कपड़े ख़ुद ही धोता था. बात सुनने में भौत हार्ड है . लेकिन अख़बार का कहना है कि मोदी जी ने फ़ैक्ट छुपाया है.

झोल कहां है वो समझिए अब-

इसको ऐसे समझिए कि मोदी पहली बार मुख्यमंत्री बने 2001 में. तब मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल के गिरते स्वास्थ्य की वजह से मोदी मुख्यमंत्री बने. यानि अक्षय को दिए इंटरव्यू के हिसाब से मोदी 2001 तक अपने कपड़े धोते रहे होंगे. लेकिन इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट बताती है कि ऐसा है नहीं भाई साहब .

2001 की बात छोड़िए, मुख्यमंत्री बनने के बहुत पहले 1970 के दशक में जब मोदी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के फ़ुल-टाइम प्रचारक थे, तब भी मोदी के पास अपना एक धोबी था. नाम था चांद मोहम्मद .

तब मोदी गोधरा में रहते थे, और गोधरा के ही चांद मोहम्मद ने बतौर धोबी मोदी के कपड़े तक़रीबन दस साल तक धोए.

1970 के दौरान आरएसएस के प्रचारक रहे नरेंद्र मोदी और उनके धोबी चांद मोहम्मद (तस्वीर साभार: इंडियन एक्सप्रेस)
1970 के दौरान आरएसएस के प्रचारक रहे नरेंद्र मोदी और उनके धोबी चांद मोहम्मद (तस्वीर साभार: इंडियन एक्सप्रेस)

इंडियन एक्सप्रेस की इसी रिपोर्ट में कहा गया कि साल 2008 में बतौर मुख्यमंत्री मोदी एक सद्भावना रैली कर रहे थे. ये रैली ‘गोधरा काण्ड’ के बाद सामाजिक सद्भाव के लिए हो रही थी. उस रैली में गोधरा के चांद मोहम्मद को मोदी ने विशेष आमंत्रण दिया था. अपने 62वें जन्मदिन पर मोदी ने 72 घंटों का उपवास रखा था. इसी के बाद चांद मोहम्मद गोधरा में ख़ासे लोकप्रिय हुए थे.

एक सभा में जब मोदी ने चांद मोहम्मद को 5 लाख रुपये का चेक सौंपा तो उन्होंने इसे लेने से मना कर दिया. बदले में चांद मोहम्मद ज़मीन का एक टुकड़ा चाहते थे, जिसपर वो अपना घर बना सकें. मोदी तुरंत मान गए और मंच से ही अधिकारियों को प्रक्रिया पूरी करने को कहा.

साल 2017 में चांद मोहम्मद ने दिल का दौरा आने के बाद वड़ोदरा के एक अस्पताल में आख़िरी सांस ली. अंत में फ़ल बेचकर गुज़ारा कर रहे चांद मोहम्मद उस ज़मीन का न्यूनतम मूल्य नहीं चुका पाए जो 2008 में उन्हें देने की बात चली थी. एक टूटे हुए झोपड़े में चांद ने अपने आख़िरी दिन गुज़ारे.

76 साल के चांद मोहम्मद ने वड़ोदरा में आख़िरी सांस ली. (तस्वीर साभार: इंडियन एक्सप्रेस)
76 साल के चांद मोहम्मद ने वड़ोदरा में आख़िरी सांस ली. (तस्वीर साभार: इंडियन एक्सप्रेस)

ख़ैर अब प्रधानमंत्री मोदी ने क्या सोचकर ख़ुद को ही ख़ुद का धोबी और दर्जी बता दिया, ये मिर्ज़ा ग़ालिब से पूछें तो बेहतर होगा. उन्होंने ही कहा था कि ‘हर एक बात पे कहते हो तुम, कि तू क्या है ? तुम्हीं कहो कि ये अन्दाज़-ए-गुफ़्तगू क्या है’

बहरहाल ग़ालिब और मोदी जी का इंटरव्यू, दोनों जा चुके हैं. आप अगली ख़बर की तरफ़ बढ़िए और ये वीडियो देखिए.

बुजुर्ग ने समझाया नरेंद्र मोदी का सबसे बुरा और सबसे अच्छा काम

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

शादी से पहले कटरीना-विकी के खिलाफ FIR क्यों हो गई?

शादी से पहले कटरीना-विकी के खिलाफ FIR क्यों हो गई?

होटल मैनेजर के खिलाफ भी शिकायत दर्ज हुई है.

25 साल काम करने के बाद भी अरशद वारसी जॉब क्यों खोज रहे?

25 साल काम करने के बाद भी अरशद वारसी जॉब क्यों खोज रहे?

उन्होंने इंडस्ट्री और अपने करियर को लेकर कई बातें बताई.

विकी-कैटरीना की शादी में मेहमानों के लिए रखी गईं अजीबो-गरीब शर्तें?

विकी-कैटरीना की शादी में मेहमानों के लिए रखी गईं अजीबो-गरीब शर्तें?

शादी में आए मेहमानों को एक सीक्रेट कोड दिया जाएगा.

रणबीर कपूर ने आलिया भट्ट के लहंगे को लात मारी, सोशल मीडिया पर हंगामा मच गया

रणबीर कपूर ने आलिया भट्ट के लहंगे को लात मारी, सोशल मीडिया पर हंगामा मच गया

रणबीर की ये हरकत लोगों को कुछ ज़्यादा ही बुरी लग गई.

एड्स के बारे में 10 बातें समझ लो कोई और नहीं बताएगा

एड्स के बारे में 10 बातें समझ लो कोई और नहीं बताएगा

जानकारी बहुत जरूरी है.

गाना लॉन्च करने के दौरान बॉडीगार्ड ने क्या कर दिया, जिससे सारा अली खान उखड़ गईं?

गाना लॉन्च करने के दौरान बॉडीगार्ड ने क्या कर दिया, जिससे सारा अली खान उखड़ गईं?

सारा ने पूरी मीडिया के सामने बॉडीगार्ड को डांट लगा दी.

दिसंबर में आने वाली 15 कमाल की फिल्में और वेब सीरीज़!

दिसंबर में आने वाली 15 कमाल की फिल्में और वेब सीरीज़!

'मनी हाइस्ट' से शुरू होने वाला महीना '83', 'जर्सी' पर जाकर रुकेगा.

मुनव्वर फारूकी के कॉमेडी छोड़ने पर किन एक्टर्स ने उनका साथ दिया

मुनव्वर फारूकी के कॉमेडी छोड़ने पर किन एक्टर्स ने उनका साथ दिया

मुन्नवर के पहले भी कई शोज़ कैंसिल हो चुके हैं.

पहले टेस्ट में शतक बनाने वाले 16 भारतीय बल्लेबाज़, 1933 से अब तक की पूरी कहानी

पहले टेस्ट में शतक बनाने वाले 16 भारतीय बल्लेबाज़, 1933 से अब तक की पूरी कहानी

जिस लिस्ट में श्रेयस पहुंचे वहां कौन-कौन है?

अवॉर्ड्स पर भरोसा ना करने वाले एक्टर्स को अभिषेक की ये बात चुभेगी

अवॉर्ड्स पर भरोसा ना करने वाले एक्टर्स को अभिषेक की ये बात चुभेगी

अभिषेक जल्द ही फिल्म 'बॉब बिस्वास' में नज़र आने वाले हैं.