Submit your post

Follow Us

राइटर अपूर्व ने बताया, इंडस्ट्री वालों ने सुशांत पर रेप और अन-प्रोफेशनल होने के आरोप लगाए!

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को 20 से ज़्यादा दिन बीत चुके हैं. लेकिन उनकी मौत की वजह को लेकर जो बहस चली थी, वो अब भी बदस्तूर जारी है. कुछ समय पहले कमाल आर. खान शॉर्ट में के.आर.के के पुराने वीडियोज़ खोदकर निकाले गए, जिसमें वो सुशांत के बारे में कई नेगेटिव बातें करते सुने जा सकते हैं. लेकिन उनकी डेथ के बाद के.आर.के खूब सारे वीडियोज़ बनाकर खुद को सुशांत का शुभचिंतक बताने लगे. के.आर.के की टीम ने एक नैरेटिव लॉन्च किया, जिसमें बताया गया कि सुशांत को कई बड़े प्रोडक्शन हाउसों ने बैन कर दिया था. इस मामले को विस्तार से आप यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं. मनोज बाजयेपी समेत कई सेलेब्रिटीज़ ने ट्विटर पर के.आर.के की क्लास लगानी शुरू की. कहा गया कि के.आर.के की बेहूदा बातें किसी को बुरी तरह से हर्ट करने वाली हैं.

यहां सीन में आते हैं ‘शाहिद’, ‘अलीगढ़’ और ‘सिमरन’ जैसी फिल्मों के राइटर अपूर्व असरानी. अपूर्व इस बातचीत में ब्लाइंड आइटम्स को ले आए. ब्लाइंड आइटम्स किसी भी फील्ड से जुड़ी भीतरी बातें होती हैं. कई बार भ्रामक और मनगढंत भी. इसमें जिसके बारे में बात हो रही है, उसका नाम नहीं लिखा होता. उस शख्स के बारे में हिंट देकर, नाम गेस करने का काम पाठक पर छोड़ दिया जाता है. वो राइट-अप लिखा किसने है, इस बात का भी कहीं कोई ज़िक्र नहीं होता. ये चीज़ आपको किसी भी (चूंकी हम सिनेमा की बात कर रहे हैं, इसलिए) सिनेमा वेबसाइट्स पर मिल जाएगी. खैर, अपूर्व ने मनोज को सलाह दी कि के.आर.के तो जो है, सो है. हमें इस गेम के बड़े खिलाड़ियों का नाम सामने लाना चाहिए. अपूर्व बताते हैं कि फिल्म जर्नलिस्ट राजीव मसंद ने सुशांत के बारे में कई ब्लाइंड आइटम्स लिखे हैं.

मनोज ने जवाब देते हुए कहा कि उन्हें राजीव मसंद के बारे में ऐसी बात सुनकर ज़ाहिर है बुरा लग रहा है. और वो इसमें अपूर्व के साथ हैं. लेकिन के.आर.के जैसे लोगों को रोकने के लिए उन्हें साथ खड़े होना चाहिए. अपूर्व के ट्वीट पर कमेंट किया आलिया भट्ट की मां सोनी राजदान ने. सोनी अपने ट्वीट में लिखती हैं-

”मुझे ये चीज़ परेशान कर रही है कि इस हल्ले और गुस्से के चक्कर में डिप्रेशन और मेंटल हेल्थ जैसी असल चीज़ों को दरकिनार कर दिया गया. पॉइंट साफ है कि डिप्रेशन यानी अवसाद से ग्रसित होने के लिए किसी वजह की ज़रूरत नहीं पड़ती. ये अमीर और सफल लोगों के जीवन में भी उसी तरह से आता है, जैसे किसी और की लाइफ में. रॉबिन विलियम्स (एक्टर), केट स्पेड (फैशन डिज़ाइनर), एंथनी बोर्डेन (शेफ) और दूसरे अनगिनत लोगों के बारे में सोचिए. जब आप किसी मेन इशू के इर्द-गिर्द बात करते हैं, तो वो चीज़ इससे जूझ रहे तमाम लोगों को हानी पहुंचाती है. क्योंकि उन्हें लगता है, उनके साथ जो हो रहा है, वो बाहरी वजहों से हो रहा है. जबकि वजह भीतरी है क्योंकि वो इंसान अपनी पीड़ा को सहन नहीं कर पा रहा है.”

अपूर्व ने ससम्मान सोनी के साथ अपनी असहमति दर्ज करवाते हुए लिखा-

”गलत मैम. डिप्रेशन बाहरी वजहों, जैसे- सामाजिक अलगाव और तनावपूर्ण वर्कप्लेस की वजह से भी ट्रिगर हो सकता है. ट्विटर पर सुशांत के डिप्रेशन के पीछे की वजह की पहचान करना सही नहीं है. हमें उस कैंपेन के बारे में पता है, जिसमें सुशांत को रेपिस्ट, अन-प्रोफेशनल और पता नहीं क्या-क्या कहा गया. इसे छुपाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए.”

 

इसके जवाब में सोनी राजदान ने लिखा-

”मानसिक बीमारी एक ऐसी चीज़ है, अधिकतर लोग जिसके साथ पैदा होते हैं. (मेरे पिछले ट्वीट्स में) मेरा सिर्फ यही कहना था. और आप किसी भी मसले के सिर्फ आधे हिस्से पर बात नहीं कर सकते. मैं ये भी मानती हूं कि डिप्रेशन को कई चीज़ें बढ़ावा दे सकती हैं. किसी भी तरह से इस पर बात होनी चाहिए लेकिन इन दिनों ट्विटर पर बहुत कुछ हो रहा है, जो बेजा है.”

अपूर्व ने सोनी को दिए जवाब में एक बार फिर से अपना पक्ष मजबूती से रखा. वो लिखते हैं-

”फिर से गलत. अधिकतर लोग मानसिक बीमारी के साथ पैदा नहीं होते. कई ट्रिगर हैं, जो शुरुआत का कारण बन सकते हैं. ट्विटर पर बहुत कुछ गलत हो रहा है लेकिन उससे कहीं ज़्यादा गलत (फिल्म इंडस्ट्री में) कैंप और बुलिंग है. बड़े दुख की बात है कि इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहता.”

 

सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को अपने मुंबई वाले घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. पुलिस को सुशांत के घर से एक मेडिकल प्रेस्क्रिप्शन मिला था, जिससे पता चला कि पिछले कुछ समय से उनका डिप्रेशन का इलाज चल रहा था. मुंबई पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. अभी तक करीब 30 लोगों से पूछताछ हो चुकी है लेकिन कुछ ठोस जानकारी सामने नहीं आई है.


वीडियो देखें: सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ का ट्रेलर इमोशनल कर देगा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो 7 बॉलीवुड सुपरस्टार्स, जिनकी आखिरी फिल्में उनकी मौत के बाद रिलीज़ हुईं

सुशांत सिंह राजपूत की 'दिल बेचारा' से पहले इन दिग्गजों के साथ भी ऐसा हो चुका है.

वो 8 बॉलीवुड एक्टर्स, जो इंडियन आर्मी वाले मजबूत बैकग्राउंड से फिल्मों में आए

इस लिस्ट में कुछ एक्टर्स ऐसे भी हैं, जिनके परिवार वालों ने देश की रक्षा करते हुए अपनी जान गंवा दी.

सरोज ख़ान के कोरियोग्राफ किए हुए 11 गाने, जिनपर खुद-ब-खुद पैर थिरकने लगते हैं

पिछले कई दशकों के आइकॉनिक गाने, उनके स्टेप्स और उनके बारे में रोचक जानकारी पढ़ डालिए.

मोहम्मद अज़ीज़ के ये 38 गाने सुनकर हमने अपनी कैसेटें घिस दी थीं

इनके जबरदस्त गानों से कितने ही फिल्म स्टार्स के वारे-न्यारे हुए.

डॉक्टर्स डे पर फिल्मी डॉक्टर्स के 21 अनमोल वचन

बत्ती बुझेगी, डॉक्टर निकलेगा, सॉरी कहेगा. हमारी फिल्मों के डॉक्टर्स के डायलॉग सदियों से वही के वही रह गए हैं.

फादर्स डे बेशक बीत गया लेकिन सेलेब्स के मैसेज अब भी आंखें भिगो देंगे

'आपका हाथ पकड़ना मिस करता हूं. आपको गले लगाना मिस करता हूं. स्कूटर पर आपके पीछे बैठना मिस करता हूं. आपके बारे में सब कुछ मिस करता हूं पापा.'

वो एक्टर जो लोगों को अंग्रेज़ लगता था, लेकिन था पक्का हिंदुस्तानी

जिसकी हिंदी, उर्दू और अंग्रेज़ी पर गज़ब की पकड़ थी.

भारत-चीन तनाव: PM मोदी के बयान पर भड़के पूर्व फौजी, कहा- वे मारते मारते कहां मरे?

पीएम ने कहा था न कोई हमारी सीमा में घुसा है न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है.

'बुलबुल' ट्रेलर: देखकर लग रहा है ये बिल्कुल वैसी फिल्म है, जैसी एक हॉरर फिल्म होनी चाहिए

डर भी, रहस्य भी, रोमांच भी और सेंस भी. ऐसा लग रहा है कि फिल्म 'परी' से भी ज्यादा डरावनी होगी.

इस आदमी पर से भरोसा उसी दिन उठ गया था, जब इसने सनी देओल का जीजा बनकर उन्हें धोखा दिया था

परदे पर अब तक 182 बार मर चुका है ये एक्टर.