Submit your post

Follow Us

उत्तराखंड का वो ज़िला जो इस वक़्त देश के पांच ताकतवर लोगों का घर है

उत्तराखंड, जिसके बारे में लोगों का मानना है कि ये देवों और वीरों की भूमि है. यानि देवभूमि और वीरभूमि. एक ऐसा राज्य जहां हिन्दू धर्म के बड़े मंदिर हैं. इंडियन आर्मी में सबसे ज्यादा सैनिक भी यहीं से आते हैं. 1 नवंबर सन 2000 को यूपी से अलग होकर ये 27वां राज्य बना, तब नाम रखा गया उत्तरांचल. जिसका नाम अब उत्तराखंड है. इसी का एक जिला है, जहां से देश के कुछ बड़े लोग निकले हैं. मौजूदा वक़्त में इसी जिले के दो लोग अलग अलग राज्यों के सीएम हैं. यही नहीं देश की टॉप सुरक्षा एजेंसियों के हेड भी इसी जिले के ही रहने वाले हैं. ये जिला है उत्तराखंड का पौड़ी गढ़वाल.

पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड के दक्षिण में ये यूपी के बॉर्डर के पास है. यही कारण है कि यूपी की राजनीति में भी इस राज्य के लोगों का नाम रहा है.

1. योगी आदित्यनाथ

यूपी के नए नवेले सीएम योगी का होमटाउन है यहां. योगी यूपी के गोरखपुर मठ के महंत हैं. गोरखपुर सीट से 1998 से लगातार 5 बार सांसद रहे हैं. योगी भाजपा का हिंदुत्व का सबसे बड़ा चेहरा हैं. ‘हिन्दू युवा वाहिनी’ के संस्थापक भी हैं. अक्सर अपने बयानों की वजह से विवादों में रहने वाले योगी का असली नाम अजय सिंह बिष्ट है. ये पौड़ी गढ़वाल के पंचौर गांव में पैदा हुए थे.

सीएम पद की शपथ के बाद मोदी-शाह के साथ योगी
सीएम पद की शपथ के बाद मोदी-शाह के साथ योगी

2. त्रिवेंद्र सिंह रावत

उत्तराखंड में बड़े अंतर से जीतने के बाद 18 मार्च को स्टेट में भाजपा की सरकार बन गई. त्रिवेंद्र सिंह रावत को सीएम बनाया गया. रावत 2002 में पहली बार डोईवाला सीट से एमएलए बने. तब से वहां से तीन बार विधायक चुने जा चुके हैं. ये आरएसएस के प्रचारक रहे हैं और अमित शाह के काफी करीबी बताये जाते हैं. 2007 से 2012 के दौरान कृषि मंत्री भी रहे हैं. कृषि मंत्री रहते हुए बीज घोटाले में इनका नाम आया, पर जांच में कुछ साबित नहीं हुआ. रावत पौड़ी गढ़वाल के खैरासेन गांव में पैदा हुए थे. इन्होंने उत्तराखंड की हेमवती नन्दन बहुगुणा यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है.

trivendra singh rawat
उत्तराखंड के नए सीएम- त्रिवेंद्र सिंह रावत अपने समर्थकों के बीच.

इनके इलावा भी चार और सीएम पौड़ी गढ़वाल डिस्ट्रिक्ट से रहे हैं. हेमावती नन्दन बहुगुणा, मेजर जनरल भुवन चंद खंडूरी, रमेश पोखरियाल निशंक और विजय बहुगुणा.

ये तो हुई मंत्रियों की बात. अब बात करते हैं सुरक्षा एजेंसियों के हेड की. इस वक्त भारत के NSA (नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर), रॉ चीफ और आर्मी चीफ, इस डिस्ट्रिक्ट से आते हैं. है ना भौचक जानकारी.

3. अजित डोभाल

भारत के जेम्स बॉन्ड कहे जाने वाले अजीत डोभाल देश के NSA (नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर) हैं. ये 1968 बैच के आइपीएस ऑफिसर हैं. मई 2014 में इन्हें NSA बनाया गया था. डोभाल अटल बिहारी वाजपेयी के काफी करीबी समझे जाते थे. वाजपेयी सरकार में आईबी के निदेशक भी रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी के भी काफी करीबी हैं. कंधार हाईजैक हो या पाकिस्तान में दाऊद का पीछा करना, ऐसे न जाने कितने ऑपरेशन को इन्होने अंजाम दिया है. ये पौड़ी गढ़वाल के घीड़ी बानेलस्यूं में पैदा हुए थे.

अजित डोवल
अजित डोभाल

4. बिपिन रावत

रावत दिसम्बर 2016 में 27वें आर्मी चीफ बने. ये भी पौड़ी गढ़वाल डिस्ट्रिक्ट में पैदा हुए. इनके पिता लछु सिंह रावत भी आर्मी में लेफ्टिनेंट जनरल थे. रावत ने 1978 में आर्मी ज्वाइन की थी. जनरल दलबीर सिंह सुहाग के बाद गोरखा राइफल से लगातार दूसरे चीफ बने हैं. हेलिकॉप्टर क्रैश में भी बाल-बाल बचे थे. रावत 2008 में कांगो में यूएन के शांति ऑपरेशन के दौरान इंडियन ब्रिगेड के हेड भी रह चुके हैं. रावत को उनके दो सीनियर ऑफिसर्स लेफ्टिनेंट जनरल प्रवीण बख्शी और पी एम हरीज को पीछे छोड़ आर्मी चीफ बनाया गया था.

लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत
लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत

5. अनिल कुमार धस्माना

धस्माना 1981 बैच के आइपीएस ऑफिसर हैं. इन्होने 1993 में रॉ ज्वाइन किया था. बाहरी खुफिया एजेंसियों के पाकिस्तान डेस्क के साथ बड़े पैमाने पर काम कर चुके हैं. धस्माना अजीत डोभाल के काफी करीबी माने जाते हैं. ये भी पौड़ी गढ़वाल डिस्ट्रिक्ट में पैदा हुए.

अनिल कुमार धस्माना
अनिल कुमार धस्माना

ये स्टोरी भूपेंद्र सोनी ने की है. 


ये भी पढ़ें:

मिलिए यूपी के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सभी मंत्रियों से

कांग्रेसी पिक्चर का पोस्टर, ‘प्रशांत किशोर को लाओ, पांच लाख ले जाओ’

संसद में योगी का रोने वाला वीडियो देखा? ये थी असली वजह 

योगी आदित्यनाथ का मोदी से ये कनेक्शन खोजने वालों को हमारा सैल्यूट

बहुत हो गया, अब अयोध्या में मंदिर ही बना दो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

इस सीरीज़ की सभी 5 कहानियों में एक चीज़ कॉमन है- सबकुछ बेहतर हो जाने की उम्मीद.

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

ट्रेलर आया है, जिसमें एक बड़े वैज्ञानिक का कैमियो भी है.

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

अगर Knives Out को बहुत ही बुरे ढंग से बनाया जाए, तो रिज़ल्ट ’36 फार्महाउस’ जैसी फिल्म होगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

'ये काली काली आंखें' में आपको बहुत सी ऐसी चीज़ें दिखेंगी, जो आप पहले देख चुके हैं. बस उन चीज़ों के मायने, यहां थोड़ा हटके हैं.

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

न ही इसे सिरे से खारिज किया जा सकता है, न ही इसे मस्ट वॉच की कैटेगरी में रखा जा सकता है

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

अब इनकी हिंदी डब फिल्में खोजने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

अगर पॉलिटिकल कॉमेडी से ऑफेंड होते हैं, तो दूर ही रहिए.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

नसीरुद्दीन शाह, रघुबीर यादव और लारा दत्ता जैसे एक्टर्स लिए लेकिन....

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

Cubicles 2 एक सपने के साथ शुरू होती है. और इसका एंड भी बिल्कुल ड्रीमी होता है. एक ऐसा सपना, जिसके पूरे होने की सिर्फ उम्मीद और इंतज़ार किया जा सकता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

कैसा है यूट्यूब स्टार्स हर्ष बेनीवाल और सलोनी गौर का ये नया शो?