Submit your post

Follow Us

वो 9 टीवी और वेब सीरीज जो 2019 के गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में जीती हैं

Golden Globe Awards हर साल 'हॉलीवुड फॉरेन प्रेस एसोसिएशन' द्वारा दिए जाते हैं. इसमें 100 से भी कम वोटर होते हैं. ये वोटर वो एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट और फोटोग्राफर होते हैं जो अमेरिका में रहते हुए अलग-अलग तरह के, विदेशी मीडिया (अधिकतर) के लिए काम करते हैं.

152
शेयर्स

अमेरिका में ऑस्कर के बाद (या उसकी बराबरी में) दूसरा सबसे बड़ा अवॉर्ड है गोल्डन ग्लोब. महत्व में ये ऑस्कर से कम भी नहीं है. इसमें फिल्मों के अलावा टीवी के कंटेंट को भी चुना जाता है. इसी अवॉर्ड से हर साल पॉपुलर फिल्मों के इंटरनेशनल अवॉर्ड सीजन की शुरुआत होती है. भारतीय समय मुताबिक 7 जनवरी, सोमवार सुबह अमेरिका में (6 जनवरी) कैलिफोर्निया के होटल बेवर्ली हिल्टन में 76वें गोल्डन ग्लोब्स का आयोजन हुआ. विनर्स के नाम अनाउंस हुए, उन्होंने आकर्षक स्पीच दीं.

ये अवॉर्ड कुल 25 श्रेणियों में दिए गए. इनमें फिल्म अवॉर्ड्स की 14 और टीवी अवॉर्ड्स की 11 कैटेगरी थीं. टीवी कैटेगरी में ये 9 सीरीज जीतीं. जानें इनके बारे में.

~ 1. द कोमिन्स्की मेथड

प्रसारणः नेटफ्लिक्स, सीजन-1    ।    अवॉर्डः माइकल डगलस – 1. बेस्ट एक्टर (म्यूजिकल/कॉमेडी), 2. बेस्ट टीवी सीरीज (म्यूजिकल/कॉमेडी)

कभी प्रसिद्ध अभिनेता रहा सैंडी कोमिन्स्की (डगलस) अब एक एक्टिंग कोच बनकर जिंदगी गुजार रहा है. उसकी जिंदगी में जो चंद लोग हैं – उनमें एक है उसका दोस्त नॉर्मन (एलन आर्किन) जो उसका एजेंट हुआ करता था और दूसरे हैं उससे एक्टिंग सीखने आने वाले अलग-अलग लोग.

सीरीज जीती क्योंकिः डगलस और आर्किन जैसे एक्टर्स की मौजूदगी की वजह से. सीरीज के कॉन्सेप्ट की वजह से. जो लीड एक्टर डगलस की जिंदगी से भी प्रतिध्वनित होता है. इस सीरीज का लीड एक्टर कोमिन्सकी कभी एक स्टार था, जैसे डगलस कभी अपने करियर के पीक पर सुपरस्टार थे. अब कोमिन्स्की भी बिना किसी महत्वाकांक्षा के जीवन की धीमी गति को एंजॉय कर रहा है, और डगलस भी ‘द कोमिन्स्की मेथड’ जैसी हल्की, सरल सीरीज में खुद को री-इन्वेंट कर रहे हैं.

~ 2. द मार्वलस मिसेज़ मेज़ल

प्रसारणः एमेजॉन वीडियो, सीज़न-2    ।    अवॉर्डः रैचल ब्रोज़नाहन – बेस्ट एक्ट्रेस (म्यूजिकल या कॉमेडी सीरीज)

ये कहानी 1958 के मैनहैटन से शुरू हुई थी जहां मिज नाम की शादीशुदा युवती स्टैंडअप कॉमेडियन बनने का फैसला लेती है और पारंपरिक समाज हिल जाता है. लेकिन वो परफॉर्म करती है और उसका स्टेज नेम ‘मिसेज़ मेज़ल’ पड़ता है. दूसरे सीजन में वो पैरिस पहुंच जाती है लेकिन जिंदगी उसे फिर से अतीत के किरदारों के बीच ले जाती है. लेकिन इस बीच भी बतौर स्टैंड अप कॉमेडियन वो कितना ग्रो करती है ये कहानी में दिखता है.

सीरीज जीती क्योंकिः कहानी आधी सदी पहले की है लेकिन 2019 में भी ताजा लगती है. अपने कंटेंट की वजह से दूसरों के मुकाबले ज्यादा प्रासंगिक.

~ 3. द अमेरिकन्स

प्रसारणः एफएक्स टीवी नेटवर्क, सीज़न-6    ।    अवॉर्डः बेस्ट टीवी सीरीज (ड्रामा)

अमेरिका और सोवियत संघ के बीच शीत युद्ध के 1980 के दौर की ये कहानी दो सोवियत जासूसों के बारे में है जो अपनी पहचान छुपाकर पति-पत्नी की तरह अमेरिका में रहते हैं और यहां की गोपनीय जानकारियां केजीबी को भेजते हैं. इनके दो बच्चे भी हैं.

सीरीज जीती क्योंकिः छठे और आखिरी सीजन तक आते-आते भी ये पोलिटिकल-स्पाय ड्रामा दर्शकों को बांधे हुए है. दर्शक बीते दो-तीन साल से अमेरिकी चुनावों में रूस के साइबर हस्तक्षेप और हैकिंग की खबरों का उपभोग कर ही रहे हैं, जिसे लेकर उनकी कल्पनाओं को विस्तार ‘द अमेरिकन्स’ की सिनेमाई कहानी में मिल रहा है.

~ 4. बॉडीगार्ड

प्रसारणः बीबीसी वन/नेटफ्लिक्स, सीजन-1    ।    अवॉर्डः रिचर्ड मैडन – बेस्ट एक्टर (ड्रामा)

आर्मी से रिटायर होकर लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस में भर्ती हुए डेविड बड (रिचर्ड मैडन) को गृह मंत्री जूलिया मोंटैग (कीली हॉज़) की सुरक्षा का जिम्मा दिया जाता है लेकिन कड़ी सिक्योरिटी के बाद भी जूलिया पर जानलेवा हमले होते हैं. डेविड को उसे बचाना है और पता लगाना है कि इन सबके पीछे कौन है.

सीरीज क्यों जीतीः कहीं न कहीं इसमें एक एंटी-वॉर धारणा भी उपस्थित है इसलिए. डेविड का पात्र युद्ध से लौटने के बाद पीटीएसडी से जूझ रहा है. उसने युद्ध की विभीषिका देखी है और वो ऐसे पोलिटिकल फैसले पसंद नहीं करता. इसके अलावा स्कॉटिश एक्टर रिचर्ड दूसरे नामांकित एक्टर्स के मुकाबले नया और याद्दाश्त में रहने वाला चेहरा हैं.

~ 5. किलिंग ईव

प्रसारणः बीबीसी अमेरिका, सीजन-1    ।    अवॉर्डः सैंड्रा ओ – बेस्ट एक्ट्रेस (ड्रामा)

ब्रिटेन की गुप्तचर एजेंसी एमआई5 की एजेंट ईव (सैंड्रा) डेस्क पर काम करती है. लेकिन देश में जब एक राजनैतिक हत्या होती है और जो सुराग ईव को दिख रहे होते हैं, उसके साथ वालों को नहीं, ऐसे में वो खुद के स्तर पर हत्यारे का पता लगाना शुरू करती है. और वो हत्यारा एक खतरनाक महिला निकलती है.

सीरीज क्यों जीतीः सीरीज के काफी अच्छा होने के अलावा दो कारणों से. पहला, ऐसी कोई सीरीज या फिल्म याद नहीं आती जिसमें हत्यारा भी महिला है, और जांच अधिकारी भी. हमेशा ऐसी कहानियों में पुरुष पात्रों की अधिकता होती है. जबकि ये सीरीज दोनों महिला पात्रों पर केंद्रित है. दूसरा, एशियाई होने के नाते सैंड्रा, वोटरों के विविधता को सपोर्ट करने वाले मानक पर खरा उतरती थीं क्योंकि अन्य चारों नामांकित रेग्युलर वाइट एक्ट्रेसेज़ थीं.

~ 6. द असेसिनेशन ऑफ जियानी वर्साचेः द अमेरिकन क्राइम स्टोरी

प्रसारणः एफएक्स/बीबीसी2, सीज़न-2    ।    अवॉर्डः 1. डैरेन क्रिस – बेस्ट एक्टर (मिनी-सीरीज/टीवी फिल्म), 2. बेस्ट मिनी-सीरीज/टीवी फिल्म

वर्साचे जैसे मशहूर फैशन ब्रांड को लाने वाले जियानी वर्साचे (एडगर रमायरेज़) की 1997 में गोली मार कर हत्या कर दी जाती है. वो हत्यारा (डैरेन क्रिस) कौन है और उसने ऐसा क्यों किया, इसकी पूरी कहानी यहां बताई जाती है.

सीरीज क्यों जीतीः पता नहीं क्यों. वर्साचे की स्टोरी की लोकप्रियता एक वजह हो सकती है. क्राइम स्टोरीज़ में दर्शकों की रुचि दूसरी वजह.

~ 7. एस्केप ऐट डानेमोरा

प्रसारणः शोटाइम, मिनी-सीरीज    ।    अवॉर्डः पट्रिशिया आरकेट – बेस्ट एक्ट्रेस (मिनी-सीरीज/टीवी फिल्म)

न्यू यॉर्क की एक जेल में काम करने वाली एक शादीशुदा कर्मचारी (पट्रिशिया) वहां के दो कैदियों के साथ शारीरिक हो जाती है और उन्हें जेल से फरार होने में मदद करती है.

सीरीज क्यों जीतीः पट्रिशिया आरकेट का अभिनय साल के बेस्ट परफॉर्मेंसेज़ में से एक. 2015 की एक असली घटना पर आधारित इस पूरी सीरीज के दौरान उन्हें देखते हुए आप कल्पना भी नहीं कर सकते कि वे असल में कैसी दिखती हैं.

~ 8. शार्प ऑब्जेक्ट्स

प्रसारणः एचबीओ, लिमिटेड-सीरीज    ।    अवॉर्डः पट्रिशिया क्लार्कसन – बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस (सीरीज/लिमिटेड-सीरीज/टीवी फिल्म)

कैमिल प्रीकर (एमी एडम्स) एक क्राइम जर्नलिस्ट है. निजी जिंदगी में कई परेशानियों से जूझ रही है. इस बीच दो बच्चियों के मर्डर की पड़ताल करने के लिए उसका अपने शहर लौटना होता है. यहां उसकी सख्त मां (पट्रिशिया) भी है जिसे स्थानीय लोगों से बनाकर रखना है. लेकिन जब कैमिल हत्याओं की जांच शुरू करती है तो उसके अतीत के पन्ने भी खुलते हैं.

सीरीज क्यों जीतीः ‘वेस्टवर्ल्ड’, ‘हैंडमेड्स टेल’ और ‘मार्वलस मिसेज़ मेज़ल’ जैसी सीरीज की एक्ट्रेस भी इस सपोर्टिंग एक्ट्रेस कैटेगरी में नामांकित हुई थीं लेकिन संभवतः उन्हें 2018 से पहले के सीज़न्स में देखा जा चुका है और ‘शार्प..’ में पट्रिशिया का किरदार नया था इसलिए उन्हें ग्लोब मिला.

~ 9. द वैरी इंग्लिश स्कैंडल

प्रसारणः बीबीसी वन, मिनी-सीरीज    ।    अवॉर्डः बेन वीशॉ – बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर (सीरीज/मिनी-सीरीज/टीवी फिल्म)

ब्रिटिश लिबरल पार्टी के नेता जैरेमी थोर्प (ह्यू ग्रांट) पर नॉर्मन (बेन वीशॉ) नाम का युवक आरोप लगाता है कि दोनों के (1961 के बाद में वर्षों में) समलैंगिक संबंध रहे हैं और जैरेमी ने उसकी हत्या करवाने की कोशिश की है. जैरेमी इन आरोपों से इनकार करते हैं और उन पर केस चलता है.

सीरीज क्यों जीतीः 70 के दशक के असली जैरेमी थोर्प स्कैंडल पर आधारित इस सीरीज में बेन वीशॉ का काम उल्लेखनीय था. उनका अभिनय अलग तरह की लेयर्स,  नाटकीयता और बेचैनियों वाला होता है.

Also Read:

ये 10 फिल्में 2019 के गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में क्यों जीतीं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
9 TV or Web series that won at the Golden Globe Awards 2019

10 नंबरी

हटके फिल्मों के लिए मशहूर आयुष्मान की अगली फिल्म भी ऐसी ही है

'बधाई हो' से भी बम्पर हिट हो सकती है ये फिल्म, 'स्त्री' बनाने वाली टीम बना रही है.

Impact Feature: ZEE5 ओरिजिनल अभय के 3 केस जो आपको ज़रूर देखने चाहिए

रोमांचक अनुभव देने वाली कहानियां जो सच के बेहद जाकर अपराधियों के पागलपन, जुनून और लालच से दो-चार करवाती हैं.

कभी पब्लिश न हो पाई किताब पर शाहरुख़ खान की फिल्म बॉबी देओल के करियर को उठा सकेगी!

शाहरुख़, एस. हुसैन ज़ैदी की कहानी पर फिल्म ला रहे हैं, जिन्हें इंडिया का मारियो पुज़ो कहा जा सकता है.

सलमान ने सुनील ग्रोवर के बारे में ऐसी बात कही है कि सुनील कोने में ले जाकर पूछेंगे- 'भाई सच में?'

साथ ही कटरीना कैफ ने भी कुछ कहा है.

जेब में चिल्लर लेकर घूमने से दुनिया के दूसरे सबसे महंगे सुपरस्टार बनने की कहानी

जन्मदिन पर जानिए ड्वेन 'द रॉक' जॉन्सन के जीवन से जुड़ी पांच मजेदार बातें.

कहानी पांच लोगों की, जिन्होंने बिना सरकारी पैसे और गोली के इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड आतंकवादी को पकड़ा

इस आतंकवादी को इंडिया का ओसामा-बिन-लादेन कहा जाता था.

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. पर अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.

बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने के बाद सबसे पहले करें ये दस काम

आत्महत्या जैसे ख्याल मन में आने ही न दीजिए. रिश्तेदार जीते-जी आपकी जिंदगी नरक बनाने आ रहे हैं.

जापान में मुर्दे क्यों लगते हैं बरसों लम्बी लाइनों में, इन 7 तस्वीरों से जानिए

मुस्कुराइए, कि आप भारत में हैं. जापान में नहीं.

उन 43 बॉलीवुड स्टार्स की तस्वीरें, जिन्होंने मुंबई में वोट डाले

जानिए कैनडा के नागरिक अक्षय कुमार ने वोट दिया या सिर्फ वोट अपील ही करते रहे?