Submit your post

Follow Us

ख़लील ज़िब्रान के ये 31 कोट 'बेहतर इंसान' बनने का क्रैश कोर्स हैं

केवल 48 वर्ष की अवस्था में मृत्यु को प्राप्त हो चुके ख़लील ज़िब्रान को, उनके लेखन के चलते उस समय के धर्म-गुरुओं और रसूख वाले लोगों ने जाति से बहिष्कृत करके देश निकाला दे दिया था. ऐसे ‘क्रांतिकारी’ लेखक की पुस्तक, Sand & foam (रेत और झाग) से 31 झमाझम कोट्स पढ़िये और बेहतरी की तरफ़ एक कदम और बढ़ाइए:


#1

SNF - 1


#2

SNF - 2


#3

SNF - 3


#4

SNF - 4


#5

SNF - 5


#6

SNF - 6


#7

SNF - 7


#8

SNF - 8


#9

SNF - 9


#10

SNF - 10


#11

SNF - 11


#12

SNF - 12


#13

SNF - 13


#14

SNF - 14


#15

SNF - 15


#16

SNF - 16


#17

SNF - 17


#18

SNF - 18


#19

SNF - 19


#20

SNF - 20


#21

SNF - 21


#22

SNF - 22


#23

SNF - 23


#24

SNF - 24


#25

SNF - 25


#26

SNF - 26


#27

SNF - 27


#28

SNF - 28


#29

SNF - 29


#30

SNF - 30


#31

SNF - 31


ये भी पढ़ें:

मोदी के पास फरियाद लेकर आई थी शहीद की बहन, रैली से घसीटकर निकाला गया

कहानी गुजरात के उस कांग्रेसी नेता की, जो निर्विरोध विधायक बना

वो ईमानदार प्रधानमंत्री जिसका चुनाव धांधली के चलते रद्द हो गया

EVM में गड़बड़ी के इल्ज़ामों का ‘भेड़िया आया भेड़िया आया’ में बदल जाना खतरनाक है


Video देखें: इरशाद ने अतीत में भी दी लल्लनटॉप से ढेरों ‘दिल दियां गल्लां’ की हैं:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

नसीरुद्दीन शाह और अनुपम खेर की रगों में क्या है?

एक लघु टिप्पणी दोनों के बीच विवाद पर. जिसमें नसीर ने अनुपम को क्लाउन यानी विदूषक कहा था.

पंगा: मूवी रिव्यू

मूवी देखकर कंगना रनौत को इस दौर की सबसे अच्छी एक्ट्रेस कहने का मन करता है.

फिल्म रिव्यू- स्ट्रीट डांसर 3डी

अगर 'स्ट्रीट डांसर' से डांस निकाल दिया जाए, तो फिल्म स्ट्रीट पर आ जाएगी.

कोड एम: वेब सीरीज़ रिव्यू

सच्ची घटनाओं से प्रेरित ये सीरीज़ इंडियन आर्मी के किस अंदरूनी राज़ को खोलती है?

जामताड़ा: वेब सीरीज़ रिव्यू

फोन करके आपके अकाउंट से पैसे उड़ाने वालों के ऊपर बनी ये सीरीज़ इस फ्रॉड के कितने डीप में घुसने का साहस करती है?

तान्हाजी: मूवी रिव्यू

क्या अपने ट्रेलर की तरह ही ग्रैंड है अजय देवगन और काजोल की ये मूवी?

फिल्म रिव्यू- छपाक

'छपाक' एक ऐसी फिल्म है, जिसके बारे में हम ये चाहेंगे कि इसकी प्रासंगिकता जल्द से जल्द खत्म हो जाए.

हॉस्टल डेज़: वेब सीरीज़ रिव्यू

हॉस्टल में रह चुके लोगों को अपने वो दिन खूब याद आएंगे.

घोस्ट स्टोरीज़ : मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

करण जौहर, अनुराग कश्यप, ज़ोया अख्तर और दिबाकर बनर्जी की जुगलबंदी ने तीसरी बार क्या गुल खिलाया है?

गुड न्यूज़: मूवी रिव्यू

साल की सबसे बेहतरीन कॉमेडी मूवी साल खत्म होते-होते आई है!