Submit your post

Follow Us

फिल्म रिव्यू- 14 फेरे

ज़ी5 पर नई फिल्म रिलीज़ हुई है. नाम है 14 फेरे. इस फिल्म को देवांशू सिंह ने डायरेक्ट किया है. 2019 में उन्होंने बड़ी हार्टवॉर्मिंग फिल्म ‘चिंटु का बर्थडे’ बनाई थी. अब वही ’14 फेरे’ लेकर आए हैं. क्या है ये, क्यों है ये, क्या खबर, हां मगर जो भी है, उस पर हम आगे विस्तार से बात करेंगे.

फिल्म की कहानी

अदिती और संजय नाम के दो लोग एक ही कॉलेज में पढ़ते हैं. अदिती जयपुर की जाट फैमिली से आती है और संजय बिहार के राजपूत परिवार से. इन दोनों के बीच एक चीज़ कॉमन है. दोनों जिन इलाकों से आते हैं, वो अपनी ऑनर किलिंग वाली इमेज से पहचाने जाते हैं. खैर, इनकी मुलाकात कॉलेज में रैगिंग प्रोसेस के दौरान होती है. फिर एक गाना आता है और इनके बीच प्यार हो जाता है. ये लोग लिव-इन में रहने लगते हैं. दूसरी तरफ इनकी लव स्टोरी से अंजान, इनके घरवाले अपने बच्चों के लिए रिश्ता ढूंढ रहे हैं. ऐसे में अदिती और संजय एक-दूसरे से शादी के लिए घरवालों को मनाने के लिए एक स्वांग रचते हैं. नकली माता-पिता, अनरियलिस्टिक कहानी और कंफ्यूज़न से लबरेज इस फिल्म का क्लाइमैक्स ये है कि क्या इनकी शादी हो पाती है? अगर हां, तो वो इसके लिए अपने घरवालों के कैसे मनाते हैं?

कॉलेज की कूल सीनियर अदिती, जिसे रैगिंग के दौरान संजय प्रपोज़ करना चाहता है.
कॉलेज की कूल सीनियर अदिती, जिसे रैगिंग के दौरान संजय प्रपोज़ करना चाहता है.

एक्टर्स का काम

फिल्म में विक्रांत मैस्सी ने संजय नाम के बिहारी लड़के का रोल किया है. जो कॉलेज की पढ़ाई के लिए दिल्ली जाता है और वहीं सेटल हो जाता है. विक्रांत इस फिल्म में इकलौते एक्टर हैं, जिन्हें देखकर लगता है कि उन्हें पता है वो क्या कर रहे हैं. उनकी परफॉरमेंस सींसियर है. मगर वो लगातार ऐसी फिल्मों का हिस्सा बन रहे हैं, जो उनके टैलेंट के साथ न्याय नहीं कर पा रहीं. पिछले दिनों वो ‘गिन्नी वेड्स सनी’ नाम की नेटफ्लिक्स फिल्म में दिखे थे. और अब ये. अदिती का रोल किया है कृति खरबंदा ने. कृति स्क्रीन पर दिखने में अच्छी लगती हैं. मगर उनका काम बेहद ऐवरेज है. फिल्म में एक सीन है, जहां फ्रस्ट्रेटेड संजय अदिती से कहता है- ‘प्लीज़ एक्टिंग करना बंद करो.’ हमने बस फिल्म का एक सीन गिनाया है, इसे अदरवाइज़ न लिया जाए. इन दोनों के अलावा फिल्म में जमील खान, गौहर खान और विनीत कुमार जैसे एक्टर्स भी नज़र आते हैं. इनमें से जमील के हिस्से कुछ ढंग के डायलॉग्स और सीन आते हैं. बाकियों के करने के लिए कुछ नया या अलग नहीं होता. वो बस फिल्म की कहानी को खींचने वाली रस्सी का काम करते हैं.

सीनियर को प्रपोज़ करने की चाहत की सज़ा संजय को कुछ ऐसे मिलती है.
सीनियर को प्रपोज़ करने की चाहत की सज़ा संजय को कुछ ऐसे मिलती है.

फिल्म की अच्छी बातें

’14 फेरे’ को सोशल कॉमेडी कहकर प्रमोट किया गया था. क्योंकि इस फिल्म में कास्ट पॉलिटिक्स से लेकर ऑनर किलिंग और डाउरी सिस्टम तक पर बात होती है. दो अलग जाति के लोगों की शादी में किस तरह की समस्याएं आती हैं, वो चीज़ ये फिल्म दिखाने की कोशिश करती है. ’14 फेरे’ को देखते हुए एक बार को अली फज़ल और अंगीरा धर की सीरीज़ ‘बैंग बाजा बारात’ याद आती है. मगर दोनों कहानियों में बहुत अंतर है. दूसरी खास बात ये कि बिहारी कल्चर को ये फिल्म काफी ऑथेंटिक तरीके से पेश करती है. शादी के दौरान होने वाले छोटे-बड़े इवेंट्स में ये चीज़ देखने को मिलती है. साथ में वहां की भाषा को प्रॉपर लहज़े के साथ पकड़ा गया है. मगर किसी भी भाषा या एक्सेंट से ज़रूरी वो बात होती है, जो कही जा रही है. वहां ये फिल्म कमज़ोर पड़ जाती है.

’14 फेरे’ शुरू होने के बाद मेन मुद्दे तक पहुंचने में ज़्यादा समय नहीं लेती. ये फिल्म के लिए अच्छी बात भी है और बुरी बात भी. फौरन पॉइंट पर पहुंचे से समय बचता है, ये बात ठीक लगती है. मगर दिक्कत वाली बात ये है कि इतने कम समय में संजय और अदिती की लव स्टोरी कायदे से एस्टैब्लिश नहीं हो पाती. तिस पर कहानी के जिस हिस्से तक पहुंचने के लिए इतनी जल्दबाज़ी दिखाई गई है, वो भी कुछ खास इंट्रेस्टिंग नहीं लगती. मगर जब फिल्म खत्म होने के बाद आप सोचते हैं कि ये फिल्म क्या कहना चाह रही थी, वहां इसे बनाने वालों की नीयत ठीक लगती है.

एक गाना के बाद इन दोनों के हालात, जज़्बात सब बदल जाते हैं और बात शादी तक पहुंच जाती है.
एक गाना के बाद इन दोनों के हालात, जज़्बात सब बदल जाते हैं और बात शादी तक पहुंच जाती है.

फिल्म की बुरी बातें

’14 फेरे’ की सबसे बुरी बात ये है कि ये बहुत सारी चीज़ों को छूने की कोशिश करती है. उस पर इसका स्क्रीनप्ले इतना जटिल है कि फिल्म का कंफ्यूज़िंग होना लाज़िमी था. कंफ्यूजिंग होना एक बात है और फिल्म से एंटरटनेमेंट फैक्टर का मिसिंग होना दूसरी बात है. ये फिल्म इन दोनों ही जगहों पर फेल होती है. क्योंकि इसकी लिखावट ढीली है. किसी कहानी की प्रासंगिकता पर नज़र तब जाती है, जब उसे देखने का अनुभव ठीक हो. ये अनुभव मजेदार, ज्ञानप्रद या विचारोत्तेजक कुछ भी हो सकते हैं. मगर ये अधपकी स्क्रिप्ट पर जल्दी में बनाई गई फिल्म लगती है. इसलिए ये दर्शकों के भीतर कोई भाव पैदा नहीं कर पाती.

शुरुआत में लगता है कि कुछ नया देखने को मिलने वाला है. मगर बीतते समय के साथ आपका कनेक्ट इस कहानी से खत्म होने लगता है. ऊपर से क्वर्की और फनी बनने के चक्कर में ये असलियत से कोसों दूर चली जाती है. बहुत सारी फिल्में बुरी तरह फैलने के बाद आखिर में खुद को समेट लेती हैं. मगर मुझे ध्यान नहीं आ रहा कि इस फिल्म जितना मेस्सी और अन-कन्विंसिंग क्लाइमैक्स मैंने आखिरी बार किस फिल्म में देखा था.

मगर शादी में इस तरह की खूंखार अड़चनें हैं. जो सीधे गोली-बंदूक और ऑनर किलिंग की बात करती हैं.
मगर शादी में इस तरह की खूंखार अड़चनें हैं. जो सीधे गोली-बंदूक और ऑनर किलिंग की बात करती हैं.

ओवरऑल एक्सपीरियंस

’14 फेरे’ अपने पौने दो घंटे के रनिंग टाइम में कभी भी वो फिल्म नहीं बन पाती, जो ये बनना चाहती थी. इसलिए जो बात ये फिल्म कहना चाहती है, वो भी सही से कन्वे नहीं हो पाता. हां ये एक साफ-सुधरी रोमैंटिक कॉमेडी है, जिसे परिवार के साथ बैठकर देखा जा सकता है. मगर तब जब आपके पास देखने के लिए इससे बेहतर कुछ नहीं है.

’14 फेरे’ को ज़ी5 पर स्ट्रीम किया जा सकता है.


वीडियो देखें: फिल्म रिव्यू- सारपट्टा परंबरै

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सलमान के पड़ोसी का आरोप, उनके फार्महाउस में गड़ी हैं स्टार्स की लाशें

सलमान के पड़ोसी का आरोप, उनके फार्महाउस में गड़ी हैं स्टार्स की लाशें

सलमान खान ने उन्हीं के खिलाफ डिफेमेशन केस किया था, अब जवाब दिया है.

सुशांत सिंह राजपूत की फिल्मों के 16 बेहतरीन डायलॉग्स, जो ज़िंदगी जीने का तरीका समझाते हैं

सुशांत सिंह राजपूत की फिल्मों के 16 बेहतरीन डायलॉग्स, जो ज़िंदगी जीने का तरीका समझाते हैं

कुछ ऐसे हैं, जिन्हें सुनकर आपको लगेगा जैसे ये आपके लिए ही लिखे गए हों.

22 बातों में जानिए 'पुष्पा' वाले सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की पूरी कहानी

22 बातों में जानिए 'पुष्पा' वाले सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की पूरी कहानी

वो सुपरस्टार, जिसकी फैमिली में पहले ही 12 स्टार्स हैं.

'सर' वाली एक्ट्रेस ने अंडर आर्म के बाल वाली फोटो डाली, लोग हल्ला करने लगे

'सर' वाली एक्ट्रेस ने अंडर आर्म के बाल वाली फोटो डाली, लोग हल्ला करने लगे

कुछ लोग उनका मैसेज समझ रहे हैं, तो कुछ 'महिला के बदन पर बाल कैसे' वाले थॉट से ग्रसित कमेंट्स कर रहे हैं.

परवीन बाबी के किस्से, जिन्हें डर था कि अमिताभ बच्चन उन्हें मरवा देंगे

परवीन बाबी के किस्से, जिन्हें डर था कि अमिताभ बच्चन उन्हें मरवा देंगे

जिन्होंने हिंदुस्तान को बताया कि एक औरत किसी के साथ रह भी सकती है. खुलेआम. बिना शादी के.

CID के ACP प्रद्युम्न ने बताया, काम नहीं मिल रहा, घर बैठकर थक गए

CID के ACP प्रद्युम्न ने बताया, काम नहीं मिल रहा, घर बैठकर थक गए

'मैं ये नहीं कहूंगा कि मुझे बहुत ऑफर्स मिल रहे हैं. नहीं है, तो नहीं है.'

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

KRK के इस ह्रदय परिवर्तन का राज़ क्या है?

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

इस तरह का एक्शन आपने इससे पहले इंडियन सिनेमा में नहीं देखा होगा.

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

पड़ोसी केतन ने सलमान के पनवेल वाले फार्महाउस के बारे में कुछ ऐसा बोल दिया, जो उन्हें ठीक नहीं लगा.

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

'अला वैकुंठपुरमुलो' के हिंदी रीमेक 'शहज़ादा' में कार्तिक आर्यन और कृति सैनन लीड रोल्स कर रहे हैं.