Submit your post

Follow Us

जानिए इन 10 फेसबुकियों को जो सबकी फ्रेंडलिस्ट में घुसे हैं

4 फरवरी 2004 को फेसबुक शुरू हुआ. जकरबर्ग ने फेसबुक बनाते वक्त शायद ही सोचा होगा कि कैसे-कैसे लोग उसे यूज करने वाले हैं. लेकिन सबसे बढ़िया यूज किया है हम भारत वालों ने. आप भारत में रहते हैं. नेट इस्तेमाल करते हैं. फेसबुक पर हैं. तब आपको इन लोगों को भी जानना चाहिए क्योंकि ये हमेशा फेसबुक पर आपके आसपास ही रहते हैं.

1. नवजात

इनकी प्रोफाइल पर अल्लू अर्जुन से लेकर जिगर कलेजा वाले महेश बाबू तक नजर आते हैं. इनबॉक्स की बातें ये कमेंट बॉक्स में लिख जाते हैं. सर्च बॉक्स में किसी लडकी का नाम सर्च करने की बजाय ये अपनी ही वॉल पर पोस्ट कर जाते हैं. कुल जमा ये उस छूने की तरह होते हैं जो अभी-अभी हुआ हो और उसे मार्बल वाले फर्श पर छोड़ दिया जाए.facebook 1

2. छद्म नाम वाले

ये भयंकर क्रिएटिव लोग होते हैं लेकिन इनकी क्रिएटिविटी छुपे हुए नामों के पीछे से निकलती है. ऐसी प्रोफाइल्स का फायदा ये होता है कि इनसे जासूसी भी बड़े आराम से की जा सकती है और मौका आने पर जमकर गरिआया भी जा सकता है. इनका सबसे ज्यादा इस्तेमाल तब होता है जब मूल प्रोफाइल ब्लॉक कर दी जाए. इन्हें चलाने वाले घुटे-पिटे फेसबुक यूजर होते हैं.

facebook 2

3. बुर्ज खलीफा सरीखी अपडेट्स वाले

इनकी पोस्ट को बिल्डिंग मानिए और आप खुद को उसके नीचे खडा. अब यहां से उनका नाम देखने कि कोशिश कीजिए. आपके सिर की टोपी पैरों पर आ गिरेगी. ये उन लोगों में से होते हैं जिन्हें लगता है जनता इतनी खलिहर बैठी है कि See More पर क्लिक कर दो मील की पोस्ट पढ़ने आएगी.

Barack Obama

4. हनीमून वाले कपल

नीली वाली जींस और पूरे हाथों में भर-भर कर लाल चूड़ियां. और उसी फोटो में एयरपोर्ट से जो फोटो अपलोडिंग शुरू होती है पूछिए मत. ऐसे कपल्स को देख बहुत प्यार आता है, ये हनीमून पर जाते हैं. एक-दूसरे की फोटो खींचते हैं. खुद के अकाउंट पर अपलोड करते हैं और दिन भर उस पर दिल और  चुम्मे बनाकर हनीमून मनाते हैं. इनकी किसी post पर एक कमेंट कर दो तो अगले 4 साल तक रिप्लाई के नोटिफिकेशन आते हैं.

honeymoon-gif

5. कविता लिखने वाली महिलाएं

जब तक फेसबुक पर लव पोएम्स लिखने वाली महिलाएं हैं. जकरबर्ग का चूल्हा जलता रहेगा. ऐसा नहीं है कि मर्द कविता नहीं लिखते, या बेकार कविताएं नहीं लिखते. लेकिन उनके अंदर का बुरा कवि लाइक्स के अभाव में जल्द ही दम तोड़ देता है.

Source-monitorbacklinks
Source-monitorbacklinks

6. भलाई की सप्लाई

युगांडा का आईसीयू में एडमिट बच्चा हो या नोएडा सिटी सेंटर के बाहर फुटपाथ पर पढ़ रहा बच्चा. ये फेसबुक पर शेयर कर हर किसी की मदद को तैयार रहते हैं. भले उनके सौ बार शेयर करने पर भी माइक्रोसॉफ्ट युगांडा वाले बच्चे को डेढ़ डॉलर न भेजे.

facebook 5

7. भक्त

सुबह ये गुड मॉर्निंग के साथ अपने इष्ट की फोटो डालते हैं और फिर दिन भर वैसी फोटोज डालकर आपका भगवान से भरोसा उठवा देते हैं. अत्याचार तब होता है जब ये आपके गले पर तलवार रख जबरिया फोटो शेयर करने को कहते हैं.

11254088_761700553959679_415281262066140852_n

8. फेंकू, खुजली, आउल वाले

ये वो लोग होते हैं कि जिनकी वॉल पर गलती से भी पहुंच जाओ तो लगता है किसी पार्टी मुख्यालय में आ गए हैं. देश और राजनीति कि खुद मोदी, केजरीवाल या राहुल गांधी को इतनी फ़िक्र नहीं होती जिनकी इन्हें होती है. फेसबुक पर सबसे ज्यादा यही लोग पाए जाते हैं. सबसे ज्यादा पेज, ग्रुप्स और प्रोफाइल्स ऐसे ही लोगों की होती है  इनका सबसे बड़ा हथियार फोटोशॉप होता है.

unnamed

 

9. एटीट्यूट वाले चोमू

इज्जत करो हमारी वरना गर्लफ्रेंड चुरा लेंगे तुम्हारी.

अगर लड़की मुझे ना बोल दे तो बोलते है ‪#‎dada_साहब‬ आप मेरी वाली रख लो ……
दिल से चाहोगे तो JaaN ‪#‎लूटा‬ देंगे ,0r…..‪#‎HurT‬ करोगो तो जिंदगी से ‪#‎उठा‬ देंगे…।

ये बस नमूना है. ढेर से हैशटैग और ढेर सी फोटो एडिटिंग वाले इन लड़कों की हर अपडेट में सिर्फ ये बताया जाता है कि ये बड़े अहंकारी हैं. लड़कियां हजारों में इनके पीछे पड़ी हैं. बस यही है जो किसी को भाव नहीं देते.
12650353_1148987851804319_1656695998_n

10. टैगासुर

फेसबुक की सबसे खूंखार प्रजाति. ये अगर पिज्जा भी खाएं तो आधा बघेलखंड टैग होता है. ये रेलवे स्टेशन से कहीं के लिए निकल रहे हों तो आधे राज्य को टैग कर बताना जरुरी समझते हैं. और भगवान न करे किसी दिन इन्होने प्रोफाइल पिक बदल दी. तो उस दिन ये इस नश्वर संसार के हर एक सजीव-निर्जीव को उस फोटो में टैग कर डालते हैं.

FACEBOOK 8

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू- हीरोपंती 2

फिल्म रिव्यू- हीरोपंती 2

ये फिल्म सिनेमा माध्यम का उपहास करती है.

मूवी रिव्यू: रनवे 34

मूवी रिव्यू: रनवे 34

‘रनवे 34’ की सबसे अच्छी बात ये है कि वो लाउड हीरोज़ के दौर में वैसा बनने की कोशिश नहीं करती.

सीरीज रिव्यू : गिल्टी माइंड्स

सीरीज रिव्यू : गिल्टी माइंड्स

कुछ बढ़िया ढूंढ़ रहे हैं, तो इसे देखना बनता है.

फिल्म रिव्यू- ऑपरेशन रोमियो

फिल्म रिव्यू- ऑपरेशन रोमियो

'ऑपरेशन रोमियो' एक फेथफुल रीमेक है. मगर ये किसी भी फिल्म के होने का जस्टिफिकेशन नहीं हो सकता.

फिल्म रिव्यू: जर्सी

फिल्म रिव्यू: जर्सी

फिल्म अपने इमोशनल मोमेंट्स को जितना जल्दी बिल्ड अप करती है, ठीक उतना ही जल्दी नीचे भी ले आती है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

सीरीज़ की सबसे अच्छी और शायद बुरी बात सिर्फ यही है कि इसका पूरा फोकस सिर्फ शील पर है.

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

एक मौलवी और बच्चे की ये फिल्म इस दौर में बेहद ज़रूरी है.

फिल्म रिव्यू- KGF 2

फिल्म रिव्यू- KGF 2

KGF 2 एक धुआंधार सीक्वल है, जो 2018 में शुरू हुई कहानी को एक सैटिसफाइंग तरीके से खत्म करती है.

फ़िल्म रिव्यू: बीस्ट

फ़िल्म रिव्यू: बीस्ट

विजय के फैन हैं तो ही फ़िल्म देखने जाएं. नहीं तो रिस्क है गुरु.

वेब सीरीज रिव्यू: अभय-3

वेब सीरीज रिव्यू: अभय-3

विजय राज ने महफ़िल लूट ली.