Submit your post

Follow Us

एड्स के बारे में 10 बातें समझ लो कोई और नहीं बताएगा

एड्स के बारे में सरकार और दूसरी संस्थाओं के द्वारा फैलाई गई जागरुकता के कारण आप इस बीमारी के बारे में काफी सारी बातें जानते होंगे. आज वर्ल्ड एड्स डे है. ऐसे में हम आपको एड्स के बारे में कुछ ऐसे तथ्य बता रहे हैं,  जो आपको शायद न पता हों.

एड्स मच्छर के काटने से नहीं होता.

एड्स ओरल सेक्स से भी फैलता है, हालांकि इसकी सम्भावना सामान्य सेक्स के मुकाबले कम होती है.

स्ट्रेट सेक्स के मुकाबले होमोसेक्सुअलटी से एड्स होने की सम्भावना ज़्यादा होती है.

एड्स के रोगी को शारीरिक लक्षणों से नहीं पहचाना जा सकता. इस बीमारी के लक्षण 20 साल तक छिपे रह सकते हैं. मेडिकल जांच ही इसकी पुष्टि कर सकती है.

एड्स अभी भी लाइलाज है. कुछ दवाएं उपलब्ध हैं मगर इनकी भी एक सीमा है. साथ ही ये बहुत महंगी हैं और इनके कई साइड इफेक्ट हैं.

एड्स के रोगी भी सामान्य संतान पैदा कर सकते हैं. ये मुश्किल तो है मगर असंभव नहीं.

अगर दो एड्स रोगी सेक्स कर रहे हों तो भी उन्हें प्रोटेक्शन लेना चाहिए. इससे वो लम्बे समय तक तंदुरुस्त रहेंगे.

एड्स से सीधे कोई नहीं मरता. HIV के वायरस से व्यक्ति इतना कमज़ोर हो जाता है कि उसे तमाम बीमारियां घेर लेती हैं.

खराब स्वास्थ्य सेवाओं के चलते ही अफ्रीकी देशों में एड्स के कारण होने वाली मौतों की गिनती ज़्यादा है.

रोगी HIV पॉज़िटिव या निगेटिव होता है. एड्स पॉज़िटिव या निगेटिव नहीं.


 ये स्टोरी ‘दी लल्लनटॉप’ के लिए अनिमेष ने की थी.


वीडियो-तारीख: 58 हत्याएं, लक्ष्मणपुर बाथे नरसंहार का दोषी कौन, कोई खोज ही नहीं पाया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लैक माफिया फैमिली

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लैक माफिया फैमिली

'नार्कोस' और 'ब्रेकिंग बैड' जैसे शोज़ पसंद हैं, तो ये शो आपके लिए ही है.

फिल्म रिव्यू: मिन्नल मुरली

फिल्म रिव्यू: मिन्नल मुरली

ये देसी सुपरहीरो फिल्म कभी नहीं भूलती कि सुपरहीरो का कॉन्सेप्ट ही विदेशी है.

फिल्म रिव्यू- अतरंगी रे

फिल्म रिव्यू- अतरंगी रे

'अतरंगी रे' बोरिंग फिल्म नहीं है. इसे देखते हुए आपको फन फील होगा. मगर फन के अलावा इसमें कुछ भी नहीं है.

प्रभास की 'राधे श्याम' का ट्रेलर देख 'टाइटैनिक' की याद आ गई

प्रभास की 'राधे श्याम' का ट्रेलर देख 'टाइटैनिक' की याद आ गई

'राधे श्याम' के ट्रेलर की ये ख़ास बातें नोट की आपनें ?

मूवी रिव्यू: The Matrix Resurrections

मूवी रिव्यू: The Matrix Resurrections

'मेट्रिक्स' फैन्स खुश तो होंगे, लेकिन फिल्म को कोसेंगे भी.

फिल्म रिव्यू: 83

फिल्म रिव्यू: 83

'83' जीते जी अमर हुए लोगों की कहानी है. वो नींव के पत्थर, जिनकी वजह से आज भारतीय क्रिकेट की इमारत इतनी बुलंद है.

फिल्म रिव्यू- पुष्पा: द राइज़

फिल्म रिव्यू- पुष्पा: द राइज़

'पुष्पा' को देखते वक्त लॉजिक की तलाश मत करिए. थिएटर से निकलते वक्त फिल्म को नहीं, उसे देखने के अनुभव को अपने साथ लेकर जाइए.

फिल्म रिव्यू - 420 IPC

फिल्म रिव्यू - 420 IPC

हिसाब-किताब एक दम दिल्ली के मौसम जैसा है. ठंडा.

मूवी रिव्यू - स्पाइडरमैन: नो वे होम

मूवी रिव्यू - स्पाइडरमैन: नो वे होम

फिल्म को लेकर जितनी हाइप बनी, क्या ये उस पर खरी उतरती है?

वेब सीरीज़ रिव्यू- आरण्यक

वेब सीरीज़ रिव्यू- आरण्यक

इस सीरीज़ के मेकर्स ये तय नहीं कर पाए कि इस सीरीज़ को सुपरनैचुरलर बनाया जाए, थ्रिलर वाले गुण डाले जाएं, whodunnit वाले ज़ोन में रखें या पुलिस प्रोसीजरल शो बनाएं.