Submit your post

Follow Us

बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने के बाद सबसे पहले करें ये दस काम

CBSE ने 12वीं के रिजल्‍ट जारी कर दिए हैं. रिजल्‍ट उनकी साइट पर देखे जा सकते हैं. सुझाव हमारी साइट पर.  हमें रिजल्ट्स से चौकन्ना रहना चाहिए, उससे भी ज्यादा रिश्तेदारों से चौकन्ना रहना चाहिए. रिश्तेदारों और रिजल्ट की राशि सेम होती है. आपने जंगल के नियम सुने होंगे, शिकारी हर वक्त शिकार का मौक़ा खोजता है. रिश्तेदार रिजल्ट का. इस वक़्त हमें सावधानी से काम लेना है. कुछ सावधानियां रखनी हैं. वो ये रहीं.

1.

किसी भी संदिग्ध चीज को हाथ न लगाएं. उसमें रिश्तेदार हो सकते हैं.

2.

मुस्कुराते हुए चेहरे हर बार आपको देखकर खुश हों जरूरी नहीं, हर बार मुस्कुराकर उनका जवाब देना भी जरूरी नहीं. हो सकता है आपके मुस्कुराते ही वो आपका रिजल्ट पूछ दें.

3.

हर किसी से सतर्क रहिए. हर वक्त सतर्क रहिए.  किराने की दुकान वाले भईया से कैंपस के सिक्योरिटी गार्ड तक. जाने कब कौन किधर से नंबर पूछ ले.

4.

घर पर अकेले हों तो अपरिचितों के लिए दरवाजे न खोलें, वो लुटेरे हो सकते हैं. जान-पहचान वालों के लिए भी न खोलें. वो रिजल्ट पूछ सकते हैं.

5.

ध्यान रखिए, खराब रिजल्ट कोई बुरी बात नहीं है, आत्महत्या जैसे ख्याल मन में आने ही न दीजिए. रिश्तेदार जीते-जी आपकी जिंदगी नरक बनाने आ रहे हैं.

6.

घर पर पुराना लैंडलाइन कनेक्शन हो तो उसकी घंटी बजने पर फोन हर्गिज न उठाएं. उधर से कोई पुराना रिश्तेदार हो सकता है, जिसने आपको आखिरी बार आपके बरहों पर देखा रहा हो.

7.

रिजल्ट में हमेशा 10 प्रतिशत जोड़कर बताएं, इस परिस्थिति में भी ‘10% कम रह गए’ सुनने के लिए तैयार रहें.

8.

घरवालों से भी रिश्तेदारों को उतना ही रिजल्ट बताने को कहें. कई बार होता क्या है कि आप 93 बता देते हैं, पापा 87 और सामने वाले को भनक पड़ जाती है कि 77 भी नहीं आए हैं.

9.

रिजल्ट्स अगर सही भी आ गए हैं तो बहुत खुश न हों, अंत में पापा का उड़ता हुआ जूता फिर भी आएगा.

10.

तमाम सावधानियों के बाद भी खुद को सुरक्षित न समझें, शाम तक में ‘शर्मा जी के बेटे’ के परसेंट आपसे ज्यादा ही निकलेंगे.

ishant


और पढ़ेंः

कुमकुम भाग्य में अटके दुखियारों, ये 5 TV शो देखो
बाहुबली-3 भी बनेगी, ये रही जानकारियां
पावेल कुचिंस्की के 52 बहुत ही ताकतवर व्यंग्य चित्र
बाहुबली-2 से पहले साउथ की इन हिंदी फिल्मों ने की थी खूब कमाई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

कामयाब: मूवी रिव्यू

एक्टिंग करने की एक्टिंग करना, बड़ा ही टफ जॉब है बॉस!

फिल्म रिव्यू- बागी 3

इस फिल्म को देख चुकने के बाद आने वाले भाव को निराशा जैसा शब्द भी खुद में नहीं समेट सकता.

देवी: शॉर्ट मूवी रिव्यू (यू ट्यूब)

एक ऐसा सस्पेंस जो जब खुलता है तो न सिर्फ आपके रोंगटे खड़े कर देता है, बल्कि आपको परेशान भी छोड़ जाता है.

ये बैले: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

'ये धार्मिक दंगे भाड़ में जाएं. सब जगह ऐसा ही है. इज़राइल में भी. एक मात्र एस्केप है- डांस.'

फिल्म रिव्यू- थप्पड़

'थप्पड़' का मकसद आपको थप्पड़ मारना नहीं, इस कॉन्सेप्ट में भरोसा दिलाना, याद करवाना है कि 'इट्स जस्ट अ स्लैप. पर नहीं मार सकता है'.

फिल्म रिव्यू: शुभ मंगल ज़्यादा सावधान

ये एक गे लव स्टोरी है, जो बनाई इस मक़सद से गई है कि इसे सिर्फ लव स्टोरी कहा जाए.

फिल्म रिव्यू- भूत: द हॉन्टेड शिप

डराने की कोशिश करने वाली औसत कॉमेडी फिल्म.

फिल्म रिव्यू: लव आज कल

ये वाली 'लव आज कल' भी आज और बीते हुए कल में हुए लव की बात करती है.

शिकारा: मूवी रिव्यू

एक साहसी मूवी, जो कभी-कभी टिकट खिड़की से डरने लगती है.

फिल्म रिव्यू: मलंग

तमाम बातों के बीच में ये चीज़ भी स्वीकार करनी होगी कि बहुत अच्छी फिल्म बनने के चक्कर में 'मलंग' पूरी तरह खराब भी नहीं हुई है.