Submit your post

Follow Us

जगत प्रसिद्ध 'गुजरात मॉडल' को गुजरात में ही क्यों नहीं बेच रही है बीजेपी!

2.18 K
शेयर्स

गुजरात मॉडल. बीजेपी का वो तुरुप का इक्का जिसे उसने लगभग हर बाज़ी में इस्तेमाल किया.  जिसके चमकीले होने का ज़िक्र कर-करके वो केंद्र में सत्ता पा गई. 2014 में दिल्ली पर काबिज़ होने के बाद वो जिस-जिस राज्य में गई, वहां गुजरात का विकास चूरन की तरह बांटा. जिसने भी पूछा वोट क्यों दे आपको, उसको पूरे कॉन्फिडेंस से एक ही बात बोली. गुजरात. गुजरात मॉडल. गुजरात का विकास. लगता था बीजेपी की वेबसाइट पर सबसे ज़्यादा ट्रैफिक इसी कीवर्ड से आता होगा. खूब बिका गुजरात का विकास. भारत में राज्यों के विकास का गुजरात पैमाना बन गया. हर राज्य की जनता से बीजेपी बोलती कि हम आपके यहां वैसा ही विकास करेंगे, जैसा गुजरात में किया.

हैरानी की बात है कि गुजरात का वही विकास गुजरात में ही बेचने से हिचक रही है बीजेपी. ये कहती नहीं दिखाई दे रही कि भाइयो-बहनो, हमने 22 सालों में इतना विकास कर दिया है, तो किसी और को आज़माने की क्या ज़रूरत! हमने काम किया है, हमें ही चुनना. ये होता नहीं दिख रहा. जिस गुजरात मॉडल का पूरे भारतवर्ष में इतना भौकाल टाइट किया गया, उसका गुजरातियों के सामने ज़िक्र तक नहीं हो रहा. दुनिया जहान की बातें कर रही है बीजेपी. सिवाय गुजरात मॉडल के.

इन चुनावों में बीजेपी का फोकस जिन चीज़ों पर रहा, उन पर नज़र मारने भर से स्थिति स्पष्ट हो जाती है. आइए देखते हैं.

rahul-modi-mos_113017011728

1. राहुल गांधी हिंदू हैं या नहीं हैं!

राहुल गांधी सोमनाथ मंदिर गए. वहां उन्होंने जिस रजिस्टर में अपनी आमद दर्ज की उसे लेकर बवाल हुआ. वो रजिस्टर हिंदुओं के लिए था या नॉन-हिंदुओं के लिए इसपर शास्त्रार्थ हुआ. राहुल गांधी के हिंदू होने पर ही सवाल उठे. कहा गया कि वो हिंदू ही नहीं हैं. कांग्रेस ने भी मूर्खता का जवाब और अधिक मूर्खता से दिया. जनेऊ दिखा दिया.

2. इंदिरा गांधी का 38 साल पुराना रुमाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी रैली करने मोरबी गए. वही मोरबी जहां 1979 में मच्छु डैम हादसा हुआ था. बारिश में डैम टूटने से सैकड़ों लोग मारे गए थे. उसका ज़िक्र करते हुए प्रधानमंत्री बोले कि जब इंदिरा गांधी ने मोरबी का दौरा किया था, तो अपनी नाक पर रुमाल रख कर आई थीं. खूब कंट्रोवर्सी हुई. कांग्रेस याद दिलाने से नहीं चूकी कि आरएसएस कार्यकर्ताओं ने भी ऐसा ही किया था. इसलिए किया था कि लाशें सड़ जाने की वजह से वहां भयानक दुर्गंध थी.

स्वयंसेवकों को भी उस दौरान मुंह पर रुमाल बांधना पड़ा था.
स्वयंसेवकों को भी उस दौरान मुंह पर रुमाल बांधना पड़ा था.

3. खिलजी का वंशज, बाबर भक्त और औरंगज़ेबी राज

विरोधी की आलोचना के लिए मुग़लों को बीच में लाया गया. बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिंह राव ने राहुल गांधी को बाबर का भक्त बताया. खिलजी का वंशज तक कह डाला. उधर राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने की ख़बर को नरेंद्र मोदी ने वलसाड रैली में कैश किया. कहा कि ये औरंगज़ेबी राज है. खिलजी, बाबर, औरंगज़ेब जैसे तमाम प्रतीक किधर इशारा करते हैं ये बताने की ज़रूरत नहीं.

4. राहुल के परनाना

गुजरात का शहर प्राची. पीएम की एक और रैली. रैली में नरेंद्र मोदी ने राहुल की सोमनाथ यात्रा पर कटाक्ष किया. कटाक्ष भी ऐसा कि परनाना तक पहुंच गए. बोले राहुल उस मंदिर में गए हैं जिसका उनके परनाना ने विरोध किया था. चुनावों में बाप पर जाने के उदाहरण तो कभी-कभार पॉलिटिक्स ने देखे भी थे लेकिन परनाना वाला नया था.

5. गुजरात में भी जेएनयू

जब पीएम ने ही कोई कसर न छोड़ी तो सीएम क्यों पीछे रहते! उन्होंने देशभक्ति और देशद्रोह को अलग करने वाला नया पैमाना इस्तेमाल कर लिया. जिग्नेश मेवानी को जेएनयू का प्रॉडक्ट बता दिया. जैसे जेएनयू से होना सर्टिफाइड देशद्रोही होना हो. इस हक़ीकत को भूल गए कि मौजूदा रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण भी जेएनयू से ही हैं.

ऊना में दलित युवकों के साथ हुई घटना के बाद गुजरात में दलितों का आंदोलन शुरू हुआ. इस आंदोलन ने जिग्नेश को काफी पहचान दी. इसी दौरान वो JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार से भी मिले.
दलितों के आंदोलन के दौरान जिग्नेश JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार से मिले थे.

6. हाफ़िज़ सईद का गुजरात कनेक्शन

पाकिस्तानी अदालत ने हाफीज़ सईद को रिहा करने का फरमान सुनाया. भुज की रैली में प्रधानमंत्री बोले कि कांग्रेस हाफीज़ सईद की रिहाई का जश्न मना रही है. राज्य के चुनाव में पड़ोसी देश के आतंकवादी का ज़िक्र क्या कर रहा था ये किसी ने न पूछा.

7. हार्दिक पटेल की सीडी वाला कांड

हार्दिक पटेल की एक सीडी रिलीज़ हुई. जिसमें वो किसी महिला के साथ एक होटल के कमरे में दिखाई देते हैं. 24 साल के युवा का किसी महिला के साथ उसकी रज़ामंदी से कहीं मौजूद होना चुनावी मुद्दा था. इस पर अब क्या ही कहें.

कथित सेक्स की कथित सीडी.
कथित सेक्स की कथित सीडी.

कहने की बात ये कि गुजरातियों की आंखों में आंखें डालकर ये कोई नहीं कह रहा कि हमने विकास किया है, हमें वोट दो. ऐसा एक भी बीजेपी नेता नज़र नहीं आया है जो गुजरात मॉडल का ज़िक्र करे. आपको दिखे तो बताना.


गुजरात चुनाव की लल्लनटॉप कवरेज यहां पढ़ें:
मोदी जी PM तो बन गए, पर PM वाला बड़प्पन कब सीखेंगे?
मितरों, राहुल गांधी के हिंदू होने का प्रमाण मिल गया है!
गुजरात का वो गांव जो सरकार की नाकामी के कारण आत्मदाह करने वाला है
सोमनाथ मंदिर: बीजेपी और कांग्रेस, दोनों को कोई ‘चुल्लू भर पानी’ दे दो

Video: राजकोट में मिले कमाल के स्कूली बच्चे

Video: सोमनाथ मंदिर देखिए और यहां के सारे विवाद जानिए

Video: भद्रा के किले से लाल किले को चुनौती देने वाला मुख्यमंत्री- बाबू जसभाई पटेल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.