Submit your post

Follow Us

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

118
शेयर्स

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के रिजल्ट आ गए हैं. दोनों ही जगह बीजेपी ने फतह हासिल की है. जीत के तमाम फैक्टर बताए जा सकते हैं. मगर एक फैक्टर ऐसा है जिसके आगे सभी फेल हैं. जो सब पर भारी है. ये फैक्टर है पीएम नरेंद्र मोदी. 2014 के चुनाव में खड़ी हुई मोदी लहर खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. जीत के बाद हर किसी की नजर पीएम मोदी पर थी कि वो कब और क्या बोलेंगे. 18 की शाम को इंतजार खत्म हुआ. बीजेपी मुख्यालय में नरेंद्र मोदी पहुंचे और कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. उनके भाषण की 5 खास बातें हम आपको बता रहे हैं –

1. बुद्धिजीवियों पर हमला

मोदी बोले- उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनाव हो रहे थे तो कहा जा रहा था जीएसटी के कारण यूपी के शहरों में बीजेपी खत्म हो जाएगी. गुजरात में भी ऐसी ही अफवाहों का जोर था. महाराष्ट्र में भी पिछले दिनों निकाय चुनाव में यही भ्रम फैलाया गया. मगर जनता ने हमारा साथ दिया. मैं बुद्धिजीवियों से कहना चाहता हूं, जो यहां से बैठकर देश की सामान्य जनता का आंकलन करते हैं और गलत दिशा में चले जाते हैं. उससे ना लोगों का भला होता है और ना देश का भला होता है. इस चुनाव ने तय किया है कि देश रिफॉर्म के लिए तैयार है.

बीजेपी मुख्यालय पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी.
बीजेपी मुख्यालय पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी.

2. विकास की बात की

हिमाचल के रिजल्ट का जिक्र करते हुए कहा कि अगर आप काम नहीं करते हैं. गलत कामों में लिप्त रहते हैं तो 5 साल बाद जनता आपको स्वीकार नहीं करती है. हिमाचल की जनता ने विकास के लिए वोट दिया है. आज के जमाने में दोबारा सरकार आती है तो बड़े-बड़े एडिटोरियल लिखे जाते हैं. गुजरात में बीजेपी 30 साल से लगातार ऐसा कर रही है. 2014 के बाद इस देश में विकास का माहौल बना है. सरकारों की प्रॉयरिटी विकास बन गई है. भाजपा आपको पसंद हो या ना हो, लेकिन देश को विकास के रास्ते से डीरेल करने की हरकतें ना करें.

3. ‘गुजरात चुनाव डबल खुशी’

मोदी बोले- गुजरात की जीत मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से खुशी की बात है. जो व्यक्ति लगातार वहां मुखिया रहा हो, उसके हटने के बाद गिरावट आने की चर्चा होती है. तुलना होने लगती है. कहां मोदी थे, कहां ये हैं. डिमोरलाइज करने की कोशिश होती है. मगर आज मेरे लिए खुशी की बात है कि तीन साल पहले मेरे गुजरात छोड़ने के बाद जिस तरह कार्यकर्ताओं ने गुजरात को संभाला, नेतृत्व दिया. जिस तरह गुजरात का विकास जारी रखा और कोई कमी नहीं रखी, वो मेरे लिए डबल खुशी की बात है. गुजरात बीजेपी नेताओं-कार्यकर्ताओं को विशेष बधाई देना चाहता हूं.

पूरे भाषण का वीडियो देखें-

4. विरोधियों पर करारा हमला

आगे बोले- चारों ओर से मेरे ऊपर हमले हो रहे थे. अपप्रचार की आंधी चली थी. कांग्रेस पार्टी तो सिर्फ दिखती थी कि मैदान में हैं. जबकि कितनी ताकतें गुजरात में लगी थीं कि बस एक बार मोदी को गिरा लो. कैसे-कैसे षडयंत्र रचे गए. कैसी-कैसी चालाकियां की गईं. विकास के संबंध में राजी-नाराजगी हो सकती है, मगर कोई उसका मजाक उड़ाए. ऐसा कभी हिंदुस्तान के सार्वजनिक जीवन में नहीं हुआ. जब से एग्जिट पोल आए तब से कुछ लोग इतने परेशान थे कि बीजेपी फिर गुजरात जीत जा रही है. पिछले तीन दिनों से तैयारी की जा रही थी कि किस तरह इस जीत के मजे को खराब किया जाए. मोदी बोले- अगर एक दल विकास के मुद्दे पर जीत रहा है तो कभी ना कभी इस सच्चाई को स्वीकार करने का साहस हमारे विरोधी मित्र जरूर करेंगे. इतनी आशा करना गलत नहीं होगा. जो लोग हमारी जीत स्वीकार नहीं करते उन्हें समझाने की जरूरत नहीं है. हम सबको न्यू इंडिया बनाने के लिए जुटना है.

बीजेपी कार्यालयों पर दिखा जश्न का माहौल.
बीजेपी कार्यालयों पर दिखा जश्न का माहौल.

5.जातिवाद पर भड़के

मोदी बोले- देश में एक ऐसी सरकार है जिसमें निर्णय लेने की ताकत है. जिसकी नीयत में कोई खोट नहीं है. ऐसी सरकार है, जिसकी नीतियां साफ-सुथरी है. जो कलेक्टिव लीडरशिप लेकर चलती है, जो सबका साथ, सबका विकास का मंत्र लेकर चल रही है. ये विजय इस बात पर जनता की मुहर है. बोले- गुजरात में जो जातिवाद का जहर बोया गया था, उसे खत्म करने में 30 साल गुजर गए. मेरे जैसे कितने कार्यकर्ता खप गए. कितनी मुश्किल से हमने उसे खत्म किया. गुजरात को खड़ा किया. लेकिन सत्ता की भूख के कारण कुछ लोगों ने फिर से एक बार जातिवाद के बीज बोने की कोशिश की, जिसे गुजरात की जनता ने नकार दिया. उसके लिए मैं उनका अभिनंदन करता हूं. मोदी ने गुजरात से अपील की- जो हुआ उसे छोड़ दो, जिसने किया उसे भूल जाओ. फिर से एकता दिखाएं. सबको गले लगाएं.


गुजरात चुनाव से जुड़ी बाकी खबरों के लिए पढ़ेंः 
क्यों चुनाव आयोग पर बीजेपी को फेवर करने के आरोप पहली नज़र में ठीक लग रहे हैं
गुजरात का वो ज़िला, जहां सत्याग्रह कराके वल्लभ भाई आगे चलकर सरदार पटेल बने
गुजरात चुनाव में जो-जो नहीं होना था, अब तो वो सब हो गया है
जिसके रथ ने भाजपा को आगे बढ़ाया, उसके इलाके में कांग्रेस भाजपा से आगे कैसे है?
बनासकांठा, कांग्रेस का वो गढ़ जहां हर साल बाढ़ में दर्जनों लोग मर जाते हैं

नरेंद्र मोदी का ये लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.