Submit your post

Follow Us

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

457
शेयर्स

गुजरात और हिमाचल प्रदेश दोनों के चुनावी नतीजे आ चुके हैं. हिमाचल में तो कांग्रेस बुरी तरह हारी, मगर गुजरात में उसने बीजेपी को टफ फाइट दी. 22 साल बाद कांग्रेस गुजरात में चुनाव में दिखी. लड़ती हुई. इसके पीछे गुजरात के लड़के तो थे ही. मगर राहुल गांधी की कैंपेनिंग को आप नकार नहीं सकते. गुजरात में कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने में राहुल गांधी ने कोई कसर नहीं छोड़ी. 30 से ज्यादा रैलियां कीं. फिर आया फैसले का दिन. 18 दिसंबर. कांग्रेस को हार मिली. लोग जानना चाह रहे थे कि राहुल गांधी कहां हैं. कुछ बोलेंगे नहीं. 18 को तो नहीं बोले, मगर 19 दिसंबर को बोले. जो बोले, वो 8 पॉइंट्स में हम आपको बता दे रहे हैं-

1. मोदी जी का जो गुजरात मॉडल है उसे वहां के लोग पसंद नहीं करते हैं. प्रोपगैंडा बहुत अच्छा है, मार्केटिंग बहुत अच्छी है. मगर अंदर से खोखला है.

2. हमने जो कैंपेन किया उसका वो जवाब नहीं दे पाए. विकास की बात चुनाव के पहले कर रहे थे, मगर चुनाव के वक्त उनके पास कहने को कुछ रहा नहीं था. अपने बारे में बात कर रहे थे. कांग्रेस की बात कर रहे थे.

3. हमारे लिए अच्छा रिजल्ट है. ठीक है हार गए. जीत सकते थे. वहां कोई कमी रह गई होगी.

राहुल गांधी ने गुजरात से मिला सबक भी साझा किया.
राहुल गांधी ने गुजरात से मिला सबक भी साझा किया.

4. मेरा मेन मैसेज ये है कि नेता कहीं जाते हैं तो अपनी बात करते हैं, बताते हैं. मगर तीन महीने में गुजरात ने, वहां की जनता ने मुझे बहुत कुछ सिखाया है. सिखाया है कि आपके विपक्ष के पास चाहे कितना भी गस्सा हो, पैसा हो, फोर्स हो. उसको आप प्यार से, भाईचारे से टक्कर दे सकते हैं. हरा सकते हैं. गांधीजी ने इसे पहले सिखाया था. मगर ये गुजरात के दिल में है.

5. गुजरात ने मोदी जी को मैसेज दिया है कि जो गुस्सा आपके अंदर है, ये आपके काम नहीं आएगा. इसको प्यार हरा देगा.

6. मोदी जी ने बोला, ये विकास की जीत है, जीएसटी पर मुहर है. मगर चुनाव के वक्त ना वो विकास की बात कर रहे थे. ना जीएसटी की बात कर रहे थे. ना नोटबंदी की बात कर रहे थे. ऐसा क्यों?

राहुल गांधी ने गुजरात में तगड़ी कैंपेनिंग की थी.
राहुल गांधी ने गुजरात में तगड़ी कैंपेनिंग की थी.

7. मोदी जी की क्रेडिबिलिटी पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. जो वो कह रहे हैं, उनका संगठन आगे कह रहा है. उसे देश सुन नहीं रहा है. इसे गुजरात ने बता दिया है.

8. मोदी जी ने भ्रष्टाचार की लगातार बात की. तो राफेल के मुद्दे पर, जय शाह के मुद्दे पर कोई बात क्यों नहीं कही. उस पर क्यों चुप हैं?


ये भी पढ़ें- 

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

वो पांच वजहें जिससे हिमाचल में राहुल गांधी की कांग्रेस हार गई

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

हिमाचल में बीजेपी के वो बड़े चेहरे, जो मोदी लहर के बावजूद हारे

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पापा-बिटिया समेत कांग्रेस के ये दिग्गज और मंत्री हुए ढेर

लल्लनटॉप वीडियो देखें-

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
What Congress President Rahul Gandhi said after Gujarat And Himachal Pradesh Results

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.