Submit your post

Follow Us

बंगाल: BJP के 5 सांसद विधायकी का चुनाव जीते या हार गए?

भारतीय जनता पार्टी ने इस चुनाव में अपने पांच सांसदों को भी मैदान में उतारा था. लोकसभा के चार सांसद और राज्यसभा से एक सांसद. हालांकि टिकट मिलते ही विवाद होने के बाद राज्यसभा के लिए नॉमिनेटेड स्वपनदास गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया था लेकिन जब बीजेपी ने उनके नाम का ऐलान किया था तब वो राज्यसभा सदस्य थे. सांसद रहते जिन्हें टिकट मिला वो नेता हैं बाबुल सुप्रियो, लॉकेट चटर्जी, निशित प्रमाणिक, जगन्नाथ सरकार और स्वपनदास गुप्ता. जानते हैं कि सांसदी जीतने वाले नेता विधायकी का चुनाव जीत पाए कि नहीं.

लॉकेट चटर्जी

प्रसिद्ध बंगाली अभिनेत्री और हुगली से लोकसभा सांसद लॉकेट चटर्जी. चटर्जी पहले तृणमूल कांग्रेस में थीं. साल 2015 में उन्होंने बीजेपी ज्वाइन की थी. पश्चिम बंगाल के इस विधानसभा चुनाव में पार्टी ने उन्हें चुरचुरा विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा था.

नतीजा क्या रहा?

तृणमूल कांग्रेस के असित मजुमदार ने लॉकेट चटर्जी को हरा दिया. जीत का अंतर रहा 18417 वोट. असित मजुमदार को 117104 वोट मिले वहीं लॉकेट चटर्जी को 98687 वोट मिले.

Loket Churchura

बाबुल सुप्रियो

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री बाबुल सुप्रिजयो ने साल 2014 में बीजेपी ज्वाइन की थी. इसी साल लोकसभा चुनाव भी जीते थे. साल 2019 में एक बार फिर आसनसोल सीट से वो सांसद बने. वह प्रसिद्ध गायक और आसनसोल से सांसद हैं. बीजेपी ने इस चुनाव में उन्हें टॉलीगंज से मैदान में उतारा था.

नतीजा क्या रहा?

तृणमूल कांग्रेस के अरूप विश्वास ने जीत हासिल की. जीत का अंतर रहा 50080 वोट. अरूप विश्वास को मिले 101440 वोट वहीं बाबुल सुप्रियो को 51360 वोट मिले.

Tallyganj

सांसद स्वपन दास

राज्यसभा सांसद स्वपन दास गुप्ता की पहचान एक पत्रकार की रही है. स्वपन दासगुप्ता वर्ष 2016 में राज्यसभा सांसद के लिए मनोनीत हुए थे. बंगाल के इस चुनाव में बीजेपी ने प्रत्याशी बनाया तो विपक्ष ने कहा कि यह संविधान का उल्लंघन है. इसके बाद स्वपन दासगुप्ता ने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया था. पार्टी ने उन्हें तारकेश्वर विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा था.

नतीजा क्या रहा?

तृणमूल कांग्रेस के रामेंदु सिंघा रॉय ने 7484 वोटों के अंतर से जीत हासिल की. रामेंदु सिंघा रॉय को 96698 वोट मिले. वहीं स्वपन दास गुप्ता  को 89214 वोट मिले.

Tarakeshwer
Tarakeshwer

निसिथ प्रामाणिक

कूचबिहार से लोकसभा सांसद निसिथ प्रामाणिक ने साल 2019 में बीजेपी ज्वाइन की थी. इससे पहले वो तृणमूल कांग्रेस में थे. पार्टी ने इस चुनाव में उन्हें दीनहाटा विधानसभा सीट से मैदान में उतारा था.कूचबिहार में ही वोटिंग के दौरान केंद्रीय बलों की फायरिंग में चार लोग मारे गए थे.

नतीजा क्या रहा?

निसिथ प्रामाणिक ने सिर्फ 57  वोटो टीएमसी ने उदयन गुहा को हरा दिया. निसिथ को 116035 वोट मिले वहीं उदयन गुहा को 115978 वोट मिले.

Dinhata Nisith

जगन्नाथ सरकार

लोकसभा सांसद जगन्नाथ सरकार ने 2019 में राणाघाट लोक सभा सीट से बीजेपी के टिकट पर जीत हासिल की थी. इस चुनाव में पार्टी ने उन्हें शांतिपुर सीट से चुनाव मैदान में उतारा था. एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि 200 तो पार होगा ही 235 सीटें भी जीत सकते हैं.

नतीजा क्या रहा?

जगन्नाथ सरकार ने टीएमसी के अजॉय देव को 15878 वोटों के अंतर से हरा दिया. जगन्नाथ सरकार को 109722 वोट मिले. वहीं अजॉय देव को 93844 वोट मिले.

Santipur Jagnath Sarkar


बंगाल में एग्जिट पोल के मुताबिक़ TMC और BJP में कौन चुनाव जीत रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.