Submit your post

Follow Us

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021: जानिए मंगलकोट सीट से किसकी हुई जीत

सीट का नाम: मंगलकोट (पूर्व बर्धमान)

कौन जीता?

नाम-अपूर्बा चौधरी (TMC)
कितने वोट मिले- 107596

कौन हारा?

नाम- राणा प्रताप गोस्वामी (BJP)
कितने वोट मिले- 85259

पिछले चुनावों के नतीजे:

– साल 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में यहां से तृणमूल कांग्रेस के सिद्दीकुल्लाह चौधरी (Siddiqullah Chowdhury) जीते थे. उनको 89,812 वोट मिले थे. दूसरे स्थान पर सीपीआई (एम) के शाहजहां चौधरी रहे थे जिनको 77,938 वोट मिले थे.

– साल 2011 में सीपीआई (एम) के शाहजहां चौधरी यहां से जीते थे. उनको 81,316 वोट मिले थे. दूसरे स्थान पर तृणमूल कांग्रेस के अपूर्बा चौधरी रहे जिनको 81,190 वोट मिले थे. 126 वोटों से शाहजहां चौधरी जीत गए थे. ये चुनाव काफी कांटे की टक्कर का रहा.

सीट ट्रिविया

# पश्चिम बंगाल की 294 विधानसभा सीटों में से एक है मंगलकोट विधानसभा सीट. 2021 विधानसभा चुनावों में यहां 22 अप्रैल को वोट डाले गए थे. साल 2016 में यहां 2,27,826 मतदाता थे. जिनमें से 1,18,457 पुरुष और 1,09,367 महिला मतदाता थीं.

# मंगलकोट विधानसभा सीट पर राजनीतिक हिंसा का लंबा इतिहास रहा है. ऐसा माना जाता है कि यहां जो भी पार्टी सत्ता में आई, उसने यहां के बाहुबलियों को पार्टी में शामिल किया. वैसे तो यहां मुस्लिम आबादी अधिक है लेकिन इस बार बीजेपी भी मजबूत स्थिति में है. स्थानीय मीडिया में छपी खबरों के मुताबिक लेफ्ट से जुड़े नेताओं ने टीएमसी को हराने के लिए बीजेपी को सपोर्ट किया है.

# यहां अधिकतर आबादी खेती-किसानी करती है और इस बार स्थानीय मुद्दों के ज्यादा ममता-मोदी चर्चा में हैं. टीएमसी के सिद्दीकुल्लाह चौधरी ने इस बार यहां से चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया था जिसके बाद पार्टी ने अपूर्बा चौधरी को टिकट दिया था. जिनसे टक्कर लेने के लिए बीजेपी ने राणा प्रताप गोस्वामी को मैदान में उतारा.


वीडियो- बंगाल चुनाव: लोग क्यों बोले ममता के राज में सिर्फ़ लूट-खसोट और तोलबाज़ी है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.