Submit your post

Follow Us

अखिलेश यादव की 'वर्चुअल रैली' में शामिल होने पर 2500 कार्यकर्ताओं पर FIR

कोरोना वायरस महामारी के खतरे को देखते हुए चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के चुनावों के संबंध में रैली, जनसभा, रोड शो इत्यादि पर प्रतिबंध लगााया हुआ है. लेकिन इस बीच 14 जनवरी को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी की तरफ से एक वर्चुअल रैली हुई. इसमें हजारों की तादाद में पार्टी कार्यकर्ता सपा दफ्तर के बाहर इकट्ठा हुए.

अब खबर सामने आ रही है कि इस रैली को लेकर चुनाव आयोग सख्त है. एक तरफ आयोग ने जहां एसपी समेत दूसरे पुलिस अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा है, वहीं लापरवाही बरतने के कारण एक थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है.

इन धाराओं में मामला

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार को लखनऊ के गौतम पल्ली थाना क्षेत्र में स्थित समाजवादी पार्टी के ऑफिस के बाहर करीब ढाई हजार से ज्यादा कार्यकर्ता एक वर्चुअल रैली में शामिल होने के लिए जमा हुए. इस रैली को पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने संबोधित किया. लखनऊ पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने इंडिया टुडे को बताया कि आचार संहिता को तोड़ने के कारण करीब ढाई हजार लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 (सरकारी आदेश का उल्लंघन), 269 (उपेक्षापूर्ण कार्य जिससे जीवन के लिए संकटपूर्ण रोग का संक्रमण फैलने की आशंका हो), 270, 341 (किसी व्यक्ति को गलत तरीके से रोकना) और महामारी अधिनियम के तहत इनके खिलाफ FIR दर्ज की गई है.

वहीं इस मामले में लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश ने इंडिया टुडे को बताया

“जैसे ही हमें रैली की जानकारी मिली हमने तुरंत पुलिस बल और एक मैजिस्ट्रैट को वहाँ से भीड़ हटाने के लिए भेज दिया. मैजिस्ट्रैट की रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.”

सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज हुए मुकदमें के बारे में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल का कहना है,

“ये एक वर्चुअल आयोजन था, जो हमारे ऑफिस के अंदर ही आयोजित किया गया था. हमने किसी को नहीं बुलाया, लोग खुद ही आए थे. हम सभी कोविड प्रोटोकॉल के आधार पर की काम कर रहे थे. भीड़ तो भाजपा नेताओं के घरों पर भी लगती है, बाजारों में भी भीड़ होती है, लेकिन इनको हम से ही दिक्कत है.”

‘योगी आदित्यनाथ पर हो FIR’

दूसरी तरफ इस मामले पर स्वामी प्रसाद मौर्य का कहना है कि उनको इसकी जानकारी नहीं है कि लोगों पर मामला दर्ज हुआ है. लेकिन अगर मुकदमा दर्ज हुआ ही है तो सबसे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर मुकदमा दर्ज करना चाहिए. मौर्य ने कहा कि शुक्रवार को गोरखपुर में मुख्यमंत्री ने आचार संहिता के नियमों को तोड़कर हजारों लोगों के साथ खिचड़ी खाई, उनके खिलाफ FIR करें.

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी प्रेस नोट
निर्वाचन आयोग द्वारा जारी प्रेस नोट

इस मामले में कार्रवाई करते हुए निर्वाचन आयोग ने एक प्रेस नोट जारी कर बताया कि आचार संहिता का उल्लंघन करने के मामले में आयोग ने लखनऊ के जिला अधिकारी की रिपोर्ट को संज्ञान में लेकर कार्रवाई की. आयोग ने इस मामले में गौतम पल्ली के थाना प्रभारी दिनेश सिंह बिष्ट को लापरवाही बरतने के कारण तुरंत सस्पेंड करने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही आयोग ने एसीपी अखिलेश सिंह और लखनऊ मध्य विधान सभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर गोविन्द मौर्य से स्पष्टीकरण मांगा है.


वीडियो: BJP के मंत्रियों-विधायकों के पार्टी छोड़ने से अखिलेश को क्या फायदा हो गया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.