Submit your post

Follow Us

यूपी चुनाव: अखिलेश का इस सीट से चुनाव लड़ना तय, BSP ने जारी की दूसरी लिस्ट

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) इस बार अपने पिता मुलायम सिंह यादव के गढ़ करहल सीट से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. यह उनका पहला विधानसभा चुनाव होगा. शनिवार, 22 जनवरी को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने प्रेस कान्फ्रेंस में इसकी घोषणा की. इसी दौरान तीन और नेताओं ने समाजवादी पार्टी का दामन थामा. दूसरी तरफ, बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने भी प्रदेश चुनाव के मद्देनजर दूसरे चरण के लिए अपने 51 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की. इस दौरान उन्होंने एक नया नारा भी दिया है- ‘हर पोलिंग बूथ को जिताना है, BSP को सत्ता में लाना है.’

मुलायम का गढ़ रहा है करहल

मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट पर साल 1992 से ही मुलायम सिंह यादव का दबदबा रहा है. इस सीट से वे तीन बार विधायक रहे. बाद में साल 2002 में बीजेपी के सोबरन सिंह यादव यहां से चुनाव जीते. फिर वो समाजवादी पार्टी में आ गए. वर्ष 2007 से लेकर 2017 तक सोबरन सिंह यादव ही समाजवादी पार्टी की टिकट पर इस सीट से विधायक चुने गए. फिलहाल मैनपुरी जिले की चार में से तीन विधानसभा सीटों पर समाजवादी पार्टी का ही कब्जा है. मोदी लहर में भी मैनपुरी, किशनी और करहल में सपा की साइकिल ही चली थी. केवल भोगांव सीट पर ही बीजेपी का कमल खिला था. सपा कार्यकर्ताओं ने अखिलेश यादव के विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद से मैनपुरी से ही चुनाव लड़ने की अपील शुरू कर दी थी.

इस बीच सपा के राष्ट्रीय महासचिव राम गोपाल यादव ने शनिवार, 22 जनवरी को लखनऊ में पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में कांग्रेस और बीजेपी से सपा में शामिल हुईं नेताओं को शपथ दिलाई. उन्हें टिकट भी दिया गया. बरेली से पूर्व सांसद प्रवीण सिंह और उनकी पत्नी पूर्व मेयर सुप्रिया एरन सपा में शामिल हुए. इसके साथ ही पूर्व बीजेपी विधायक महावीर सिंह की पत्नी रीता भी सपा में शामिल हुईं. सुप्रिया बरेली की कैंट विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगी. वहीं हरदोई की संडीला सीट से सपा का टिकट रीता को दिया गया.

बसपा की दूसरी लिस्ट

दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी की तरफ से उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी की गई. प्रदेश में दूसरे चरण में जिन 55 सीटों पर चुनाव होने हैं, उनमें से 51 पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की. गौर करने वाली बात यह है कि दूसरे चरण में पहली लिस्ट से भी ज्यादा मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दिया गया है. मायावती ने जिन 51 उम्मीदवारों की घोषणा की है, उनमें से 23 मुस्लिम समुदाय के हैं.

बसपा ने सहारनपुर की बेहट सीट से रईस मलिक, नकुड़ से साहिल खान और गंगोह से नोमान मसूद को टिकट दिया है. वहीं बिजनौर के नजीबाबाद से शाहनवाज आलम, बढ़ापुर से मोहम्मद गाजी, धामपुर से कमाल अहमद, चांदपुर से शकील हाशमी और नूरपुर से हाजी जियाउद्दीन अंसारी पर भरोसा जताया है. इसके अलावा मुरादाबाद की कांठ सीट से आफाक अली खां, ठाकुरद्वारा से मुजाहिद अली, मुरादाबाद देहात से अकील चौधरी, मुरादाबाद नगर से इरशाद हुसैन सैफी और कुंदरकी से हाजी चांद बाबू मलिक को टिकट दिया गया है.

वहीं संभल की असमोली से रफत उल्ला, संभल से शकील अहमद कुरैशी और गुन्नौर से फिरोज को टिकट दिया गया है. रामपुर की चमरौव्वा सीट से अब्दुल मुस्तफा हुसैन और रामपुर से सदाकत हुसैन को टिकट दिया गया है. अमरोहा की नौगांव सादात सीट पर शादाब खान, अमरोहा से मोहम्मद नावेद अयाज को टिकट मायावती ने दिया है. बदायूं की सहसवान से हाजी बिट्टन मुसर्रत और शेखुपुर से मुस्लिम खान पर भरोसा जताया है. शाहजहांपुर की तिलहर सीट से नवाब फैजान अली खान को मायावती ने टिकट दिया है.


UP चुनाव: उम्मीदवारों की दूसरी सूची में कांग्रेस ने कितनी महिलाओं को टिकट दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.