Submit your post

Follow Us

शिवसेना के संजय राउत ने कहा, यहां कोई दुष्यंत नहीं, जिसके पिता जेल में हों

5
शेयर्स

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी और शिवसेना में खींचतान जारी है. एक के बाद एक किसी न किसी नेता का बयान आ ही रहा है. लेटेस्ट बयान आया है शिवसेना के नेता संजय राउत का. उनसे जब महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर सवाल किया गया, तब वो हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला और उनकी पार्टी JJP को बीच में लेकर आ गए. समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक राउत ने कहा,

‘यहां कोई दुष्यंत (चौटाला) नहीं है, जिसके पिता जेल में हो. यहां हम हैं, जो ‘धर्म और सत्य’ की राजनीति करते हैं. महाराष्ट्र में बहुत जटिल पॉलिटिक्स है. शरद (पवार) ने बीजेपी के खिलाफ माहौल बनाया है और कांग्रेस कभी भी बीजेपी के साथ नहीं जाएगी. अगर कोई हमें सत्ता से दूर रखना चाहता है, तो ये हमारे लिए गर्व की बात है. फैसला जल्द ही ले लिया जाएगा. हमारी यही मांग है कि लोकसभा चुनाव के पहले जो निर्णय लिया गया था, उसी के मुताबिक फैसला लिया जाए. उद्धव ठाकरे जी ने कहा था कि हमारे पास दूसरे विकल्प भी है, लेकिन हम उन विकल्पों को चुनकर पाप नहीं करना चाहते. क्योंकि शिवसेना ने हमेशा सच्चाई की राजनीति की है. हम सत्ता के भूखे नहीं हैं. हम लोकतंत्र का मर्डर नहीं कर सकते. हर किसी को नैतिकता नहीं सिखा सकते. शिवसेना ने हमेशा से खुद को इस तरह की राजनीति से दूर रखा है.’

संजय राउत के बयान पर दुष्यंत चौटाला का भी रिएक्शन आ गया. उन्होंने कहा,

‘इसका ये मतलब हुआ कि वो जानते हैं कि दुष्यंत चौटाला कौन है. मेरे पिता पिछले 6 साल से जेल में हैं. उन्होंने (संजय राउत) कभी भी ये नहीं पूछा कि वो कैसे हैं. अजय चौटाला जी कभी भी अपना टर्म पूरा किए बिना नहीं निकले हैं. ऐसे बयान संजय जी को शोभा नहीं देते.’

संजय राउत आए दिन बयान दे रहे हैं. शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में भी कुछ न कुछ छप ही रहा है. इस पर देवेंद्र फडणवीस का भी बयान आ गया है. उन्होंने कहा,

‘सामना हमेशा बातचीत को पटरी से उतारने का काम करता है. हम संजय राउत को ज्यादा महत्व नहीं देते हैं, लेकिन लोग ये सोचते हैं कि साथ में चुनाव लड़ने के बाद इस तरह के बयान क्यों दिए जाते हैं.’

इसके अलावा फडणवीस ने ये भी कहा कि अगले 5 साल तक बीजेपी ही गठबंधन को लीड करेगी. और सरकार बनाएगी. और वो ही यानी फडणवीस ही अगले 5 साल तक सीएम रहेंगे. ये भी कहा कि बीजेपी ने कभी भी शिवसेना से 50-50 का वादा नहीं किया था.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.