Submit your post

Follow Us

बिहार विधानसभा चुनाव: महागठबंधन के घोषणापत्र की खास बातें जान लीजिए

बिहार चुनावों के लिए महागठबंधन ने साझा घोषणापत्र जारी किया है. इसका नाम ‘प्रण हमारा, संकल्प बदलाव का’ दिया गया है. पटना में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में शनिवार 17 अक्टूबर को घोषणापत्र जारी किया गया. इस मौके पर महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव, बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत कई नेता मौजूद थे. घोषणा पत्र में 25 सूत्रीय साझा कार्यक्रम तय किया गया है.

घोषणापत्र की बड़ी बातें-

1. महागठबंधन ने बिहार के युवाओं से 10 लाख नौकरियों का वादा किया है. कहा है कि ये प्रक्रिया पहली ही कैबिनेट बैठक में पहले दस्तखत के साथ शुरू होगी.

2. युवाओं और बेरोजगारी पर फोकस करते हुए दूसरे पॉइंट में कहा गया है कि आवेदन फॉर्म निशुल्क होंगे और साथ ही परीक्षा केंद्र तक की यात्रा भी मुफ्त होगी.

3. देश के हर राज्य में ‘कर्पूरी श्रमवीर सहायता केंद्र’ बनेंगे जहां किसी भी तरह की आपदा और आवश्यकता पड़ने पर श्रमवीर प्रवासी और उनके परिवार को बिहार सरकार की ओर से मदद मिल पाएगी.

4. गांव पर फोकस करने वाले इस चौथे पॉइंट में कहा गया है कि मनरेगा के तहत प्रति परिवार की बजाय प्रति व्यक्ति को काम का प्रावधान किया जाएगा. कार्य दिवस 100 की जगह 200 किए जाएंगे और शहरी रोजगार योजना भी लाई जाएगी.

5. निजीकरण खत्म किया जाएगा, स्थाई नौकरी दी जाएगी. संविदा प्रथा खत्म की जाएगी, समान काम पर समान वेतन दिया जाएगा.

6. 2005 से लागू नई अंशदाई पेंशन योजना को बंद किया जाएगा और पुरानी पेंशन योजना को लागू किया जाएगा.

7. इस पॉइंट में आशा, आंगनवाड़ी और जीविका दीदी जैसे कई पदों को साधने का प्रयास किया गया है. कहा है कि अधिकार बढ़ाए जाएंगे साथ ही मानदेय दोगुना किया जाएगा.

8. जीविका स्वयं सहायता समूह के कैडर को स्थाई किया जाएगा. मानदेर को दोगुना किया जाएगा. लोन में दोगुने तक का टॉप अप किया जाएगा.

9. बंद पड़ी चीनी मिल, जूट मिल जैसे उद्योग धंधों को फिर शुरू किया जाएगा. आईटी पार्क से लेकर सेज तक और सरकारी गोदाम से लेकर कोल्ड स्टोर तक बनाए जाएंगे.

10. थानों और प्रखंड कार्यालयों से भ्रष्टाचार खत्म किया जाएगा.

11. गरीबों के घर और दुकानों (सरकारी जमीन पर कब्जा) को तब तक ढहाया और बेदखल नहीं किया जाएगा जब तक कि पुनर्वास की वैकल्पिक व्यवस्था ना हो जाए.

12. बाढ़ नियंत्रण के लिए काम किया जाएगा.

13. हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा किसानों को लेकर बनाए गए कानूनों को बिहार विधानसभा द्वारा कानून पारित कर बिहार में लागू होने से रोका जाएगा.

14. कृषि लोन माफ किए जाएंगे साथ ही किसानों की मदद के लिए अन्य कदम भी उठाए जाएंगे.

15. सभी प्रमंडलों में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनाए जाएंगे साथ ही जिला अस्पतालों में डायलिसिस केंद्र बनाए जाएंगे.

16. शिक्षा पर राज्य बजट का 12 प्रतिशत खर्च किया जाएगा. शिक्षकों को स्थाई नौकरी की व्यवस्था.

17. सभी स्कूलों में ललित कला, कंप्यूटर और खेल शिक्षकों की नियुक्ति. छात्रावासों की मरम्मत आदि.

18. विश्वविद्यलयों और महाविद्यालयों के बेसिक इंफ्रास्ट्रचर को सही करना, शैक्षणिक सत्र और परीक्षा को नियमित करना.

19. नौकरशाही को राजनीतिक नियंत्रण से मुक्त करना. ट्रांसफर के लिए मेरिट आधारित SOP तैयार करना.

20. बिजली की दरों को कम किया जाएगा.

21. साफ पानी, पक्का मकान, कंप्यूटर सेंटर, सोलर ट्यूबवैल आदि की हर गांव में व्यवस्था की जाएगी.

22. राज्य के बेसिक इंफ्रास्ट्रचर को बेहतर किया जाएगा.

इस मौके पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि ये चुनाव नई दशा बनाम दुर्दशा का चुनाव है, ये चुनाव नया रास्ता और नया आसमान बनाम हिन्दू-मुसलमान का चुनाव है, ये चुनाव नए तेज़ बनाम फ़ेल तजुर्बे की दुहाई का चुनाव है, ये चुनाव खुद्दारी और तरक्की बनाम बंटवारा और नफ़रत का चुनाव है.

तेजस्वी यादव ने कहा कि अब तक केंद्र की टीम ने आकर नहीं देखा कि बाढ़ से कितने लोग प्रभावित हुए, ऐसा लग रहा है कि बस कुर्सी पाने की होड़ में सब लोग लगे हुए हैं. लोग बड़ी-बड़ी बातें करते हैं कि मेरा काम सेवा का है, मेवा का नहीं है. लेकिन मेवा के लिए बिहार में 60 घोटाले हुए हैं. तेजस्वी ने कहा कि अगर हमारी सरकार बनती है तो पहली कैबिनेट में पहला दस्तखत 10 लाख देने के फैसले पर होगा.

 


वीडियो- बिहार चुनाव: इस युवक ने शराबबंदी पर जो कहा, उसे नीतीश कुमार को सुनना चाहिए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.