Submit your post

Follow Us

अटल सरकार का ये मंत्री मोदी कैबिनेट में भी है

141
शेयर्स

नाम- मुख़्तार अब्बास नकवी.
कहां से सांसद हैं- झारखंड से राज्यसभा सांसद.
रहने वाले कहां के हैं- प्रयागराज.

कौनसा मंत्रालय मिला- अल्पसंख्यक मामलों का मंत्रालय.

मंत्रालय देने की वजह-

मुख़्तार अब्बास नकवी कॉलेज के दिनों से ही राजनीति में हैं. इमरजेंसी के वक़्त से एक्टिव हैं. वो राजनारायण के करीबी हुआ करते थे. सोशलिस्ट विचारों से काफी प्रभावित थे. भारतीय जनता पार्टी के गिने-चुने मुस्लिम चेहरों में से एक हैं. पिछली सरकार में मंत्री बनने का मौका नहीं मिला था. लम्बे समय तक पार्टी प्रवक्ता रहे हैं.

विवादों से दूर रहने वाले मुख़्तार 2014 में उस वक़्त विवादों में आए थे जब उन्होंने उन्होंने साबिर अली पर आतंकवादियों का दोस्त होने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, दाऊद भी जल्द हो बीजेपी जॉइन कर सकता है. साबिर की पत्नी मुख़्तार के खिलाफ धरने पर बैठ गईं. विवाद बढ़ा तो साबिर अली को पार्टी छोड़नी पड़ी लेकिन बाद में वो वापस शामिल हो गए थे.

फन फैक्ट-

मुख्तार अब्बास नकवी अपने करियर के पहले 3 विधानसभा चुनाव हार गए थे. 1998 में लोकसभा चुनाव लड़कर संसद पहुंचे और अटल सरकार में सूचना प्रसारण मंत्री बनाए गए.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.