Submit your post

Follow Us

गुजरात चुनाव में जो-जो नहीं होना था, अब तो वो सब हो गया है

27
शेयर्स

गुजरात में हो रहे विधानसभा चुनाव के लिए 14 दिसंबर को आखिरी वोटिंग हुई. सुबह से ही लोग वोट देने के लिए लंबी कतारों में लगे थे. कैमरे कुछ वीआईपी लोगों को घूर रहे थे, तो वो भी मिल गए. सबसे पहले नजर आईं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन. उन्होंने गांधीनगर में अपना वोट डाला. इसके बाद तो वीआईपी लोगों की लाइन लग गई. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला, क्रिकेटर यूसुफ पठान, गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल के चेहरों से अभी मीडिया के कैमरे नजर हटाते कि उससे पहले उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिख गए.

Celebrity
अमित शाह, मोदी की मां हीराबेन, यूसुफ पठान और उप-मुख्यमंंत्री नितिन पटेल ने भी चुनाव के अंतिम दिन वोट डाला.

प्रधानमंत्री साबरमती में अपना वोट डालने के लिए गए थे. अपने सिक्योरिटी गार्ड्स से घिरे प्रधानमंत्री अभी वोट देने ही जाते कि भीड़ में खड़े उन्हें उनके बड़े भाई सोमाभाई मोदी दिख गए. फिर तो पीएम ने सिक्योरिटी घेरा तोड़ दिया और जाकर बड़े भाई के पैर छुए और आशीर्वाद लिया. यहां तक तो सब ठीक था, लेकिन इसके बाद प्रधानमंत्री ने जो किया, वो कांग्रेस को नाराज करने के लिए काफी था.

Indian Prime Minister Narendra Modi displays his inked finger after casting his vote in the second phase of the Gujarat state assembly elections in Ahmadabad, India, Thursday, Dec. 14, 2017. The result will be declared on Dec. 18. (AP Photo/Ajit Solanki)
प्रधानमंंत्री ने अपना वोट डालने के बाद लोगों का अभिवादन किया. (फोटो : AP)

वोटिंग खत्म होने में कुछ ही घंटे बचे थे. ऐसे में प्रधानमंत्री के लिए भी यही वक्त था, जब वो गुजरात की जनता से चुनाव के लिए वोट मांग सकते थे. प्रधानमंत्री को अपना अंतिम हथियार इस्तेमाल करना था, सो वो अपनी गाड़ी में बैठकर वापस जाने के बजाय उसके दरवाजे पर खड़े हो गए. गाड़ी के दरवाजे पर खड़े होकर उन्होंने लोगों का अभिवादन किया और ऐसा करते हुए वो कुछ दूर तक चले. इसके बाद तो कांग्रेस ने त्यौरियां चढ़ा लीं. कांग्रेस ने इसे रोड शो करार देते हुए आचार संहिता का उल्लंघन बताया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद एक टीवी चैनल को इंटरव्यू दिया था. बीजेपी ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए चुनाव आयोग से शिकायत की थी. आयोग ने राहुल के साथ ही चैनलों को भी नोटिस जारी कर दिया. कांग्रेस पहले से ही आयोग के रवैये से नाराज थी और फिर जब प्रधानमंत्री खुली गाड़ी में सवार हुए तो कांग्रेस को हमले का मौका मिल गया. आनन-फानन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें गुजरात प्रभारी अशोक गहलोत और रणदीप सुरजेवाला मीडिया के सामने आए. सुरजेवाला ने कहा कि चुनाव आयोग ने कांग्रेस के लिए अलग मापदंड और बीजेपी के लिए अलग मापदंड बना रखा है. राहुल के इंटरव्यू को गुजरात के चैनलों के दिखाने पर रोक लगाता है, लेकिन बीजेपी नेताओं पर किसी तरह की कोई कार्यवाई नहीं करता है. अशोक गहलोत ने कहा कि पीएम मोदी का रोड शो पूरी तरह चुनाव उल्लंघन है. इस पर चुनाव आयोग ने किसी तरह की कोई कार्यवाई नहीं की है.

जब तक बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाती, गुजरात चुनाव में वो हो गया, जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी. अभी तक एक-दूसरे के साथ जुबानी जंग कर रहे कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ता सचमुच में भिड़ गए. वोटिंग के दौरान कई जगहों पर हिंसा हो गई. वडोदरा और मेहसाणा में दो गुटों के बीच जमकर हंगामा हुआ. उग्र लोगों ने तोड़फोड़ की और पत्थरबाजी की, जिसमें छह से ज्यादा लोग घायल हो गए. चुनाव में आगजनी भी हो गई और कई बाइक्स और गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया. वडोदरा की सावली तहसील के वांकनेर गांव में भी भीड़ ने एक बाइक को आग के हवाले कर दिया.

violence
ये गुजरात चुनाव में हुई हिंसा की तस्वीरें हैं. बाईं तस्वीर मेहसाणा की है, जबकि दाईं तस्वीर वडोदरा की है.

ईवीएम को तो सामने आना ही था

अब तक जिन चुनावों में ईवीएम का इस्तेमाल हुआ है, सवाल उठते रहे हैं. गुजरात चुनाव का भी आखिरी दिन था. लगा था कि ईवीएम गड़बड़ नहीं करेगी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका. एक बार फिर कांग्रेस चुनाव आयोग पहुंची और ईवीएम से छेड़छाड़ का मुद्दा उठाया. कांग्रेस ने मेहसाणा में एक बूथ पर ईवीएम के ब्लूटूथ से कनेक्ट होने का आरोप लगाया. मेहसाणा विधानसभा सीट से डिप्टी सीएम नितिन पटेल बीजेपी के उम्मीदवार हैं और उनका मुकाबला कांग्रेस के जीवाभाई पटेल से है. कांग्रेस ने कहा कि बूथ पर मोबाइल फोन का ब्लूटूथ ऑन करने पर ‘ईसीओ 105’ उपकरण दिखता है, जिससे लगता है कि ईवीएम को ब्लूटूथ से कनेक्ट किया गया है.


Also Read:

जिसके रथ ने भाजपा को आगे बढ़ाया, उसके इलाके में कांग्रेस भाजपा से आगे कैसे है?

गुजरात चुनाव में ये ‘मौसी’ पहली बार वोट डालने जा रही हैं

बनासकांठा, कांग्रेस का वो गढ़ जहां हर साल बाढ़ में दर्जनों लोग मर जाते हैं

गुजरात चुनाव के बारे में इस पत्रकार की ये 10 बातें सबसे सटीक साबित हो सकती हैं

Video: गुजरात की वो सीट, जहां से जीतने वाला ही सरकार बनाता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
In 2017 Gujarat elections everything undemocratic happens : From violence in Mehsana Vadodara, breaking model code of conduct, lies about Pakistan manipulating Gujarat elections and PM Modi doing rally on the polling day

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.