Submit your post

Follow Us

हार्दिक पटेल Interview: परिवार जिस बीजेपी का कट्टर समर्थक था, उससे वो नफरत क्यों करते हैं

1.78 K
शेयर्स

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बीजेपी से अपनी नफरत का खुलासा किया है. 9 दिसंबर को जब गुजरात में पहले चरण की वोटिंग हो गई थी, तो हार्दिक पटेल अहमदाबाद में अपने घर लौट रहे थे. बाइक से लौटते वक्त उन्होंने इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में बताया कि वो और उनका परिवार जिस बीजेपी में था, उसे वो इतना नापसंद क्यों करते हैं. उन्होंने बोलाः ‘मेरा परिवार जिस बीजेपी में था, वो बीजेपी अटल बिहारी वाजपेयी की थी. वो बीजेपी केशुभाई पटेल की थी. अब की बीजेपी अमितभाई शाह जैसे गुंडागर्दी करने वालों की है, इसलिए ये बीजेपी अब हमारी नहीं है.’

इसके अलावा हार्दिक ने और भी कई सवालों के करारे जवाब दिए.

hardik 12
हार्दिक ने अपने भविष्य के राजनीतिक करियर के बारे में साफ किया है.

#1. कांग्रेस में शामिल होने के सवाल पर
जहां अच्छा रहेगा, वहां जाएंगे. अगर जनता चाहेगी तो मैं सोचूंगा.

#2. सेक्स सीडी पर
अधिकांश लोग जन्म लेते हैं, लेकिन वो टेस्ट ट्यूब बेबी नहीं होते हैं. मैंने गलत नहीं किया. मैं अपने काम में व्यस्त हूं. सेक्स सीडी के आने से फायदे या नुकसान के बारे में नहीं सोचा है.

#3. साथियों के छोड़कर जाने पर
वो उनकी अपनी व्यक्तिगत दिक्कतें हैं, राजद्रोह का केस भी वजह हो सकती है. जो सत्ता में हैं, वो सब करते हैं.

#4. आंदोलन वापस लेने पर
कई बार ऑफर मिला है. मुकेश पटेल की सत्ता में अच्छी भागीदारी है. उसने पांच करोड़ का ऑफर कई बार दिया है.

#5. परिवार के सपोर्ट पर
पिताजी भले ही बीजेपी के रहे हैं, लेकिन उन्होंने कहा है कि तुम ठीक कर रहे हो. मैं गलत नहीं कर रहा हूं.

#6. कांग्रेस की बात नहीं मानने पर
कांग्रेस की सरकार बनेगी और अगर वो आरक्षण नहीं देंगे तो उनसे भी लड़ेंगे. आरक्षण के लिए कानून बनाना संसद का काम है.

#7. राहुल से दोस्ती के सवाल पर
राहुल गांधी से जल्दी से दोस्ती करूंगा. राहुल सीख रहे हैं, वो नरेंद्र मोदी और अमित शाह को चैलेंज कर सकते हैं. जो भी आदमी सीखेगा, वो चैलेंज कर सकता है.

#8. शादी करने के सवार पर
शादी का कोई दबाव नहीं है.

#9. अपने सीखने के सवाल पर
अब भी सीख रहा हूं. पहले से ज्यादा सीखा है. जब आंदोलन शुरू किया था तो नहीं पता था कि मुख्यमंत्री क्या होता है.

हार्दिक पटेल ने पाटीदार आरक्षण का मुद्दा उठाकर पाटीदारों को ही एक बड़ा चुनावी मुद्दा बना दिया. अब कांग्रेस ने उसके साथ हाथ तो मिलाया है, लेकिन उनके गठबंधन का भविष्य डंवाडोल लग रहा है.
हार्दिक पटेल ने राहुल गांधी से जल्दी दोस्ती की बात कही है. कांग्रेस में शामिल होने के सवाल पर भी संभावना जताई है.

#10. सरदार पटेल को सम्मान नहीं मिलने के सवाल पर
सरदार का मतलब प्रतिनिधित्व होता है. जो भी प्रतिनिधित्व करता है, वो सरदार है. सरदार को देर से भारत रत्न मिला है, लेकिन क्या सम्मान भारत रत्न से ही होता है. भारत रत्न तो सचिन तेंडुलकर को भी मिला है.

#11. विपक्ष के सवालों पर
अंडर 19 खेलते वक्त स्कूल बंक किया था. अच्छा आलराउंडर था. वन डाउन क्रिकेट खेलता था, अब भी क्रिकेट खेलता हूं. बाउंस खेलना पसंद है. कभी न कभी तो कैच पकड़ ही लेंगे.

#12. राष्ट्रभक्ति के सवाल पर
सुबह का गुंडा शाम को बीजेपी में आ जाए तो राष्ट्रभक्त हो जाता है.

Hardik insta
पाटीदार आंदोलन ने हार्दिक को गुजरात के साथ ही पूरे देश में एक नई पहचान दी है.

#13. गुजरात चुनाव में एजेंडे पर
देश को इमोशनल होना है कि विकास की ओर जाना है. फिर से राम मंदिर का मुद्दा शुरू हो गया. लगा था कि कहा जाएगा कि हमने विकास किया. लेकिन विकास छोड़कर सारी बातें हो रही हैं. वहां मंदिर और मस्जिद दोनों बननी चाहिए, लेकिन मंदिर बनने से विकास नहीं होता है. सड़कें और रास्ते शहरों में है, गांवों में क्या है. सिर्फ शहरों के विकास के कुछ नहीं होगा. गांव खाली हो रहे हैं. मेक इन इंडिया नहीं, मेड इन इंडिया की जरूरत है.

#14. चुनाव लड़ने के सवाल पर
पॉलिटिक्स में नया आया आदमी समझदार नहीं होता है. पहले इंटरव्यू में समझदार नहीं था. सत्ता के लालच में नहीं आया. जनता का एजेंट बनकर रहना है. उम्र होती तब भी चुनाव नहीं लड़ा होता. अभी पार्टी बनाने के लिए सोचा नहीं है.

#15. पाटीदार आंदोलन में गोलियां चलने पर
अमित शाह के इशारे पर गोलियां चली थीं. हमारे पास इसके सबूत नहीं हैं, लेकिन किसी ने तो गोली चलवाई ही थी. पुलिस कहती है ऊपर से दवाब है, ऊपर वाले कहते हैं पुलिस ने गोलियां चलवाईं. अभी तक नहीं बताया गया कि गोली किसके आदेश पर चली थी.

Hardik Patel का पूरा इंटरव्यू यहां देखिए:

ये भी पढ़ें:

वो नेता जो खुद चुनाव नहीं लड़ सकता, लेकिन उसके लिए बीजेपी-कांग्रेस के बीच तलवारें खिचीं हैं

बीजेपी और कांग्रेस के वो चार चेहरे, जो तय करते हैं कि आज आपके फोन में क्या भेजा जाएगा

जगत प्रसिद्ध ‘गुजरात मॉडल’ को गुजरात में ही क्यों नहीं बेच रही है बीजेपी!

गुजरात का वो जिला, जहां से निकला नारा गुजरात चुनाव का सबसे हॉट टॉपिक बन गया

गुजरात चुनावः ‘अमूल’ की कामयाबी के कसीदों में खेड़ा-आणंद इलाके की ये सच्चाई छुप जाती है


Video: गुजरात की वो जगह, जहां विकास पागल हो गया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Hardik Patel Interview where he talks about Gujarat Elections, his hate for Narendra Modi’s BJP, gundagardi of Amit Shah and making friends with Congress party leader Rahul Gandhi

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.