Submit your post

Follow Us

कहानी उस रेप केस की, जिसे लेकर कांग्रेस ने पीएम मोदी पर हमला बोला है

248
शेयर्स

गुजरात. विधानसभा चुनाव. बीजेपी और कांग्रेस में से कोई भी एक दूसरे पर हमले का मौका नहीं चूक रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी का हर छोटा-बड़ा नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहा है. राहुल गांधी रैली करते हैं तो पीएम मोदी जवाब देते हैं. पीएम मोदी रैली करते हैं तो उनकी बातों को खारिज करने के लिए राहुल गांधी आ जाते हैं. सिलसिला लगातार चल रहा है. कभी बीजेपी कांग्रेस को घेरती है तो कभी कांग्रेस बीजेपी को घेरती है. ये तब तक चलता रहेगा, जब तक गुजरात में चुनाव बीत न जाएं, यानि 14 दिसंबर के बाद से दोनों दलों के नेता कुछ दिन के लिए वादे करना और सपने दिखाना बंद कर देंगे.

पीएम मोदी ने 27 नवंबर को भुज में रैली की थी.
पीएम मोदी ने 27 नवंबर को भुज में रैली की थी.

चुनाव को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 नवंबर को गुजरात के भुज में रैली की. इस रैली के बारे में उन्होंने 26 नवंबर को ही ट्वीट कर दिया था. उन्होंने लिखा था, ‘कल से मैं गुजरात में अपनी रैलियां शुरू करूंगा. मेरी पहली रैली भुज कच्छ में होगी. यह जिला मेरे दिल के करीब है. 2001 के भूकंप के बाद भुज के विनाश को पूरी दुनिया ने देखा था. उसके बाद से कच्छ का हर क्षेत्र में विकास हुआ है.’

पीएम मोदी ने ट्वीट किया तो कांग्रेस की ओर से जवाब आना ही था. कांग्रेस की डिजिटल मीडिया हेड और नेशनल मीडिया कोऑर्डिनेटर राधिका खेरा ने भी एक ट्वीट किया. राधिका ने लिखा कि अगर कच्छ आपके दिल के इतना ही करीब है तो इस साल फरवरी में हुए नलिया रेप केस में आप चुप क्यों थे, जब आपकी ही पार्टी के 10 लोगों ने एक महिला के साथ कई बार गैंगरेप किया था.

बीजेपी नेताओं की हुई थी गिरफ्तारी

रेप केस में बीजेपी से जुड़े कई नेताओं की गिरफ्तारी हुई थी.
रेप केस में बीजेपी से जुड़े कई नेताओं की गिरफ्तारी हुई थी.

कांग्रेस की डिजिटल मीडिया प्रभारी राधिका खेरा ने पीएम मोदी का ध्यान जिस केस की ओर दिलाया है, उसमें बीजेपी के चार लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. कच्छ जिले नलिया में कुछ लोगों ने 24 साल की एक महिला को पैसे देने के लिए अपने घर बुलाया था. महिला का कहना था कि उन लोगों ने उसे पीने के लिए शरबत दिया, जिसमें बेहोशी की दवा मिली थी. सभी लोगों ने बेहोशी की हालत में उससे बलात्कार किया और इस दौरान महिला का वीडियो भी बना लिया. इस वीडियो के आधार पर आरोपित उसे ब्लैकमेल करते रहे और अलग-अलग जगहों पर ले जाकर उससे रेप करते रहे. महिला जब बुरी तरह से टूट गई तो उसने अपने पति को पूरी बात बताई. थाने पहुंचने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और जांच का आश्वासन दिया.

2017 के आखिरी में चुनाव था तो बीजेपी किसी तरह का कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी. उसनें भी चारों लोगों शांतिलाल सोलंकी, गोविंद परूमलानी, अजीत रामवानी और वसंत भानुशाली को पार्टी से निलंबित कर दिया. वहीं जब मामले ने राजनीतिक रंग लिया तो सरकार की ओर से मामले की जांच के लिए एसआईटी (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) बना दी, जिसने इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार किए गए लोगों में विनोद ठक्कर, उसका बेटा चेतन और अश्विन ठक्कर था. महिला ने ये भी कहा था कि इन लोगों का पूरा नेटवर्क है, जिसने 50-60 महिलाओं की वीडियो क्लिप बना रखी है.


वीडियो में देखें मोदी जी बनने से पहले नरेंद्र भाई के सात पर्सनल किस्से

ये भी पढ़ें:

गुजरात चुनावः ‘अमूल’ की कामयाबी के कसीदों में खेड़ा-आणंद इलाके की ये सच्चाई छुप जाती है

गुजरात चुनाव: कहानी उस जगह की, जहां खुद नरेंद्र मोदी भी बीजेपी को नहीं हरा सकते

पीएम मोदी से जुड़ी एक चीज, जो अमित शाह को नापसंद है!

गुजरात में चुनाव लड़ रहे दलितों के नेता जिग्नेश को किससे खतरा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.