Submit your post

Follow Us

अब बंगाल में ममता बनर्जी के नेता की रैली में गूंजा- ‘गोली मारो ** को’

BJP Bengal के ट्विटर हैंडल से 20 जनवरी को एक वीडियो ट्वीट किया गया. वीडियो में कुछ लोग नारा लगा रहे हैं – बंगला के गद्दारों को, गोली मारो ** को. वही नारा जो साल 2020 में दिल्ली विधानसभा चुनावों में सुनाई दिया था. तब आरोप भाजपा समर्थकों पर था. अबकी आरोप भाजपा ने लगाया है, तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों पर. वीडियो ट्वीट करने के साथ भाजपा ने लिखा –

“TMC एक शांतिपूर्ण रैली कह रही थी, लेकिन इसके दौरान हिंसा हुई, BJP के झंडे-पोस्टर फाड़े गए. दक्षिण कोलकाता की ‘शांतिपूर्ण रैली’ के दौरान ‘गोली मारो ** को’ के नारे लगाए गए.”

वीडियो सामने आते ही बंगाल के मंत्री फिरहाद हाकिम ने कहा –

“हम इसका बिल्कुल भी समर्थन नहीं करते. हर रैली में कुछ युवा अतिउत्साही समर्थक रहते हैं, लेकिन उनके इस तरह के काम का हम समर्थन नहीं करते. ये BJP का नारा है, जो उनके केंद्रीय मंत्री ने भी लगाया था. मैं ये पता लगवा रहा हूं कि क्या वे वाकई में TMC समर्थक थे या कहीं से रैली में घुसपैठ की थी.”

वहीं TMC नेता मदन मित्रा तो अभी भी आक्रामक मोड में हैं. उन्होंने कहा –

“क्या गोली मारो का नारा? कल तो मेरे ऊपर फायरिंग की गई. कोई नारा नहीं, असली फायरिंग. जय श्री राम के नारे लगाकर कौन हिंसा कर रहा है? अगर वो इतनी हिंसा कर सकते हैं तो मुझे भी तो सेल्फ डिफेंस का अधिकार है.”

वहीं कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी का कहना है –

“मैंने तो हमेशा कहा है कि TMC और BJP एक ही सिक्के के दो पहलू हैं. दोनों की राजनीति एक जैसी है. दोनों पार्टियों के DNA में कोई अंतर नहीं है. अनुराग ठाकुर ने मंत्री रहते हुए ये नारा लगाया था और BJP ने उन्हें हटाया तक नहीं था. यही काम अब कोलकाता में TMC कार्यकर्ताओं ने किया है.”

पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले राज्य से राजनीतिक हिंसा की तमाम छोटी-बड़ी ख़बरें आ रही हैं. ऐसे में इस तरह के उन्मादी नारे माहौल को और भी बिगाड़ने का काम कर सकते हैं. दिल्ली में जब अनुराग ठाकुर ने मंत्री रहते हुए एक सभा में ये नारा लगाया था तो उन पर पार्टी ने या सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की थी. वो ग़लत था. लेकिन उस वाकये को बाकी पार्टियां एक बहाने के तौर पर इस्तेमाल नहीं कर सकतीं. कि उनकी रैली में कोई भी आकर उन्मादी नारे लगाए और वो पार्टी के मुखिया इस बहाने की आड़ लेकर उसे बख़्श दें. वो भी ग़लत था. ये भी ग़लत है.


बंगाल में TMC को हराने के लिए मोदी-शाह ने क्या ‘मास्टर-प्लान’ तैयार किया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.