Submit your post

Follow Us

रैलियों में बड़ी भीड़ का शो-ऑफ कर रहे थे नेता, चुनाव आयोग ने सबको नाप दिया

बिहार चुनावों में प्रचार के दौरान सोशल डिस्टैनसिंग की धज्जियां उड़ाने को लेकर चुनाव आयोग ने राजनीतिक पार्टियों को फटकार लगायी है. इसके अलावा स्टेट इलेक्शन ऑफिसर्स को भी निर्देश दिए गए हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने और भीड़ न संभाल पाने की स्थिति में उम्मीदवारों पर उचित कार्रवाई की जाए.

क्या कहा चुनाव आयोग ने?

चुनाव आयोग ने कहा,

“आयोग के पास ऐसी जनसभाओं की खबरें आई हैं, जहां बड़ी संख्या में भीड़ इकठ्ठा कर सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया गया था और राजनेता और चुनाव प्रचारक भी बिना मास्क के चुनाव आयोग के निर्देशों को अनसुना करते दिखे. ऐसा करने से राजनीतिक पार्टियां और उम्मीदवार न सिर्फ़ चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन कर रहे थे बल्कि महामारी के दौर में रैली में आने वाले सभी लोगों के साथ खुद को भी संक्रमण के हवाले कर रहे थे.”

कमल नाथ के ‘आइटम’ वाले बयान पर भी मांगा जवाब

बिहार चुनाव में नेताओं को फटकारने के अलावा चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ से भी बीजेपी उम्मीदवार इमरती देवी पर उनकी ‘आइटम’ वाली टिपणी के लिए 48 घंटों के भीतर जवाब देने को कहा है.

कमल नाथ के इस बयान पर खूब विवाद हुआ. राहुल गांधी ने भी इस बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया, फिर भी कमल नाथ ने माफ़ी मांगने से साफ़ इनकार कर दिया. बीजेपी के नेताओं ने उनका विरोध किया, तो कमल नाथ बोले इसमें कुछ भी गलत नहीं है. बाद में उन्होंने इस बयान पर खेद जताया मगर माफ़ी मांगने से इनकार दिया.

Kamalnath1
बीजेपी के नेताओं ने उनका विरोध किया, तो कमल नाथ बोले इसमें कुछ भी गलत नहीं है.

आपको बता दें कि चुनाव प्रचार करने पहुंचे कमल नाथ ने इमरती देवी के बारे में कहा था, ‘मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, यह क्या आइटम है.’


वीडियो – बिहार चुनाव: इन बच्चों की बातें सुनकर आपके चेहरे पर भी स्माइल आ जाएगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.