Submit your post

Follow Us

करावल नगर: कपिल मिश्रा खुद हारे लेकिन उनकी पुरानी सीट पर बीजेपी ने कर दिया किला फतेह

सीट: करावल नगर

प्रत्याशी:
दुर्गेश पाठक, आम आदमी पार्टी

मोहन सिंह बिष्ट, भारतीय जनता पार्टी

अरबिंद सिंह, कांग्रेस पार्टी


करावल नगर से बीजेपी के मोहन सिंह बिष्ट ने आम आदमी पार्टी के दुर्गेश पाठक को 8223 वोटों से हराया.

Karawal Nagar 1
करावल नगर सीट के नतीजे. फोटो: ECI

करावल नगर विधानसभा सीट, उत्तरी पूर्वी दिल्ली की वो विधानसभा सीट है. जिसपर 2015 में आम आदमी पार्टी के नेता कपिल मिश्रा ने जीत दर्ज की थी. लेकिन कपिल ने बाद में पार्टी का साथ छोड़ा और बाघी हो गए. अगस्त 2019 में कपिल ने बीजेपी का दामन थाम लिया. और बीजेपी ने उन्होंने दिल्ली से अपना उम्मीदवार भी बनाया. लेकिन करावल नगर से नहीं.

इस सीट पर बीजेपी की तरफ से उनके अनुभवी नेता मोहन सिंह बिष्ट मैदान में हैं. जिन्हें इस इलाके की जनता ने एक बार नहीं बल्कि कई बार मौका दिया. 1998 से 2015 तक बिष्ट इस सीट से विधायक रहे. जबकि आम आदमी पार्टी ने इस बार कपिल की जगह दुर्गेश पाठक को मैदान में उतारा है. इसके अलावा कांग्रेस ने अरबिंद सिंह पर भरोसा किया है. दिल्ली के बॉर्डर एरिया से जुड़ा ये इलाका विकास से बहुत दूर है. आज भी इलाके के लोग लास्ट माइल कनेक्टिविटी पर बहुत ज्यादा निर्भर हैं.

ये इलाके गाज़ियाबाद बॉर्डर से भी जुड़ा हुआ है. इलाके में ज्यादातक मजदूर वर्ग के लोग रहते हैं. जो कि अपने काम के लिए दिल्ली के मुख्य इलाकों में जाते हैं.


तीस हज़ारी कोर्ट के वकीलों ने दिल्ली चुनाव को लेकर क्या कहा?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.