Submit your post

Follow Us

'बाहुबलियों के गुरु' कहे जाने वाले काली पांडे ने लगातार चुनाव हारने का रिकॉर्ड बनाया!

बिहार का एक जिला है गोपालगंज. यहां की कुचायकोट सीट से चुनाव मैदान में उतरे काली पांडे हार गए. अब आप कहेंगे कि ये कौन-सी बड़ी खबर है. दरअसल, काली पांडे कोई छोटी-मोटी शख्सियत नहीं हैं. उन्हें बिहार के तमाम बाहुबलियों का गुरु माना जाता है. बल्कि कहने वाले तो यहां तक कहते हैं कि 80 के दशक में पूरे उत्तर भारत में जो सबसे बड़े बाहुबली थे, काली पांडे को उनमें गिना जाता था.

1987 में एक फिल्म आई थी ‘प्रतिघात’. एन. चंद्रा की इस फिल्म के विलेन का नाम था काली प्रसाद. ऐसा कहा जाता है कि उस किरदार की प्रेरणा असल जिंदगी के काली पांडे थे. ये कितना सच है, कोई नहीं जानता. लेकिन गोपालगंज में सब ये जरूर जानते हैं कि काली पांडे को कोई हल्के में नहीं ले सकता. 2015 में उन्होंने जो हलफनामा चुनाव आयोग को दिया था, उसके मुताबिक उन पर आठ मामले दर्ज हैं.

काली पांडे सांसद भी रहे हैं और विधायक भी. बाहुबली तो रहे ही हैं. लेकिन उनकी जिंदगी में एक दौर वो भी था, जब वो टीचर बनना चाहते थे. ‘लल्लनटॉप’ के साथ हाल ही में हुई बातचीत में उन्होंने बताया था कि वो टीचर ही बनना चाहते थे, लेकिन किस्मत उन्हें राजनीति में खींच लाई.

इंदिरा गांधी की हत्या के बाद जब देश में लोकसभा चुनाव हुए, तब कांग्रेस के लिए एक लहर थी. लेकिन उस लहर में भी काली पांडे ने कांग्रेस उम्मीदवार को हरा दिया था और चुनाव जीतकर संसद पहुंच गए थे. कुछ वक्त बाद वो कांग्रेस में शामिल हो गए थे. कांग्रेस के बाद वो लालू यादव की आरजेडी के साथ हो गए. इसके बाद वो एलजेपी में पहुंच गए. एलजेपी में उनका मन बहुत दिन नहीं लगा और आखिरकार वो फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए.

लगातार दूसरा चुनाव हारे हैं काली

इस बार उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर कुचायकोट सीट से चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए. उनके खिलाफ जीत दर्ज कराई है अमरेंद्र कुमार पांडे ने, जिनको 74,359 वोट मिले. काली पांडे को 53,729 वोट मिले. साल 2015 में भी अमरेंद्र कुमार पांडे ने काली पांडे को हरा दिया था. उस वक्त काली एलजेपी में थे. हार-जीत का अंतर रहा था 3,562 वोटों का.

माने लगातार दो बार काली पांडे कुचायकोट विधानसभा सीट से चुनाव हार गए हैं. हालांकि विजेता बने अमरेंद्र कुमार पांडे को भी बाहुबली ही माना जाता है. अब काली पांडे भी यही सोच रहे होंगे कि आखिर लगातार दूसरी बार वो चुनाव क्यों हारे?


वीडियो- बिहार चुनाव में जनता ने बाहुबलियों का बल भी चेक कर लिया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.