Submit your post

Follow Us

बिहार चुनाव: उपेंद्र कुशवाहा लेकर आए हैं नया गठबंधन, खुद बने सीएम कैंडिडेट

बिहार के चुनावी बयार में एक नया गठबंधन सामने आया है. नाम है- ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट. इस गठबंधन को महागठबंधन के पुराने साथी उपेंद्र कुशवाहा की पहल बताया जा रहा है. इस गठबंधन ने कुशवाहा को ही अपना नेता घोषित कर दिया है.

कौन-कौन है इस गठबंधन में

‘ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट’ नाम से इस नए गठबंधन में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM, उपेंद्र कुशवाहा की रालोसपा (RLSP), मायावती की BSP के अलावा समाजवादी जनता दल (डेमोक्रेटिक), जनतांत्रिक पार्टी (सोशलिस्ट), सुहलदेव भारतीय समाज पार्टी शामिल हैं. कुशवाहा के नेतृत्व में ही यह फ्रंट चुनाव लड़ेगा.

उपेंद्र कुशवाहा को इस गठबंधन ने अपना सीएम उम्मीदवार भी घोषित किया है. गुरुवार को इस गठबंधन की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपेन्द्र कुशवाहा, असदुद्दीन ओवैसी, देवेंद्र यादव मौजूद रहे. उपेन्द्र कुशवाहा ने इस दौरान घोषणा की कि फ्रंट के संयोजक देवेंद्र यादव होंगे और सभी दल एकसाथ बिहार में चुनाव लड़ेंगे.

Rashtriya Lok Samata Party Rlsp President Upendra Kushwaha Speaks To Media At The Party Office In Patna Bihar On November 09 2018 Image Pti 770x433
उपेंद्र कुशवाहा नए गठबंधन के नेता और सीएम उम्मीदवार होंगे.

ओवैसी ने किया सीएम के लिए कुशवाहा के नाम का ऐलान

इस मौके पर असदुद्दीन ओवैसी ने भी ऐलान किया कि इस अलायंस के मुख्यमंत्री उम्मीदवार उपेन्द्र कुशवाहा होंगे. ओवैसी ने कहा कि पिछले 15 साल में बिहार का कोई विकास नहीं हुआ, बिहार की जनता में घुटन हो रही है. बिहार में नया विकल्प देने की कोशिश है, हमारा एलायंस सभी से अलग होगा.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपेन्द्र कुशवाहा ने एनडीए और महागठबंधन की बात करते हुए कहा-

हमें जितना बांटेंगे, हम उतना ही एकजुट होंगे. बिहार में बाकी दोनों गठबंधन फेल हैं. नीतीश कुमार को हमने गद्दी इस कंपिटीशन के लिए नहीं सौंपी थी. नीतीश कुमार ने 5 साल जनता से मांगे थे, 15 साल मिले, लेकिन बिहार पीछे ही गया है.

इस मौके पर कुशवाहा ने कहा-

नया गठबंधन नौजवानों के लिए समर्पित है. बिहार के युवा बिहार से बाहर पलायन के लिए मजबूर हैं. नीतीश कुमार ने शिक्षा की हालात बुरी कर दी है. दोनों अलायंस ने 30 साल में नई पीढ़ी को बर्बाद किया. बिहार की जनता हमें 5 साल का मौका दे, तो बिहार में विकास और रोजगार कैसे मिलता है, दिखाएंगे.

इस दौरान उन्होंने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट भी जारी की. इस लिस्ट में 42 उम्मीदवारों के नाम हैं. इनमें बिहार के पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह के बेटे और जमुई के पूर्व विधायक अजय प्रताप सिंह का नाम भी शामिल है. जमुई सीट पर अजय प्रताप के पिता नरेंद्र सिंह का दबदबा रहा है.


वीडियो – उपेंद्र कुशवाहा, जिन्होंने पार्टी लाइन से इतर जाकर वोट किया, तो नीतीश का मूड खराब हो गया था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.