Submit your post

Follow Us

पहली चुनावी सभा में PM मोदी को याद आए गलवान-पुलवामा में बिहार के शहीद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत कर दी है. पहली रैली उन्होंने रोहतास जिले के वियाडा सुअरा मैदान डेहरी में की. पीएम ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी से की. साथ ही रामविलास पासवान और रघुवंश प्रसाद को श्रद्धांजलि दी. पीएम ने बिहार के शहीदों को याद किया.

पीएम मोदी ने कहा,

बिहार के सपूत गलवान घाटी में तिरंगा के खातिर शहीद हो गइलें, लेकिन भारत माता के माथा ना झुके देलें. पुलवामा हमले में भी बिहार के जवान शहीद भइलें. हम उनके चरण में शीश झुकावत बानी.

पीएम ने कहा कि बिहार को अब कोई बीमारू राज्य नहीं कह सकता. लालटेन का जमाना गया. बिहार के लोग भूल नहीं सकते वो दिन जब सूरज ढलने का मतलब होता था सबकुछ बंद हो जाना. आज वो माहौल है जिसमें राज्य का नागरिक बिना डरे रह सकता है. पीएम ने कहा कि बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन बिहार को इतनी मुश्किल में डालने वाले कौन थे. ये युवा पीढ़ी को याद रखना होगा.

370 का जिक्र

पीएम ने कहा,

आप मुझे बताइए जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने का इंतजार देश वर्षों से कर रहा था, ये फैसला हमने लिया. एनडीए की सरकार ने लिया. लेकिन आज ये लोग इस फैसले को पलटने की बात कह रहे हैं. ये लोग कह रहे हैं कि सत्ता में आए तो आर्टिकल 370 फिर लागू कर देंगे. और इनका दुस्साहस देखिए. इतना कहने के बाद भी ये लोग बिहार के लोगों से वोट मांगने की हिम्मत दिखा रहे हैं. जो बिहार अपने-बेटे-बेटियों को सीमा पर देश की रखवाली के लिए भेजता है क्या ये उसकी भावना का अपमान नहीं है. मैं जवानों और किसानों की भूमि बिहार से इन लोगों को एक बात स्पष्ट करना चाहता हूं. ये लोग जिसकी चाहें मदद ले लें. देश अपने फैसलों से पीछे नहीं हटेगा. भारत अपने फैसलों से पीछे नहीं हटेगा.

इसके अलावा पीएम मोदी ने इस बात का भी जिक्र किया कि तकनीकी शिक्षा भी मातृभाषा में दी जाएगी. इसके लिए सरकार प्रयास कर रही है. पीएम ने कहा कि अब कोशिश होगी, मेडिकल, इंजीनियरिंग समेत सभी तकनीकि कोर्सेस को भी मातृभाषा में पढ़ाया जाए.


बिहार चुनाव: तेजस्वी की रैली में जुटी भीड़ पर लोगों ने चुनाव आयोग से क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.