Submit your post

Follow Us

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

186
शेयर्स

गुजरात और हिमाचल प्रदेश दोनों में ही बीजेपी सरकार बनाने जा रही है. गुजरात में 99 तो हिमाचल में 44 सीटें बीजेपी के हाथ लगी हैं. वहीं, कांग्रेस के हाथ गुजरात में 77 तो हिमाचल में 21 सीटें लगी हैं. ये आंकड़े तो देश-दुनिया में बताए ही जा रहे हैं. मगर एक और आंकड़ा है जो पौराणिक कालों से आप तक पहुंचाया जा रहा है. सबसे कम वोटों से जीतने का और सबसे ज्यादा वोटों से जीतने का आंकड़ा. सबसे ज्यादा वोटों से जीतने वाले जहां पूरे भौकाल में रहते हैं. कसके जश्न मनता है. वहीं चंद वोटों से जहां चुनाव तय होता है, वहां लोगों को सालों का सदमा एक्कै दिन में मिल जाता है. सो ऐसी ही सीटों के बारे में हम भी आपको बताए दे रहे हैं, देखें-

गुजरात- 170 वोटों से जीता एक आदमी 

सबसे बड़े अंतर से जीत :

घाटलोडिया में बीजेपी ने कांग्रेस को 1,17,000 वोटों से हराया

बीजेपी के प्रत्याशी भूपेंद्र पटेल को- 1,75,652 वोट मिले

कांग्रेस के शशिकांत पटेल को – 57,902 वोट मिले

ये वही सीट है, जहां से पिछले चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल जीतकर विधानसभा पहुंची थीं. खास बात ये है कि रिकॉर्ड के मामले में भूपेंद्र पटेल ने आनंदीबेन का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया है. आनंदीबेन ने यहां करीब 1 लाख 10 हजार वोटों से जीत दर्ज की थी. घाटलोडिया सीट 2008 से ही अस्तित्व में आई थी.

आनंदी बेन का रिकॉर्ड तोड़ दिया
आनंदी बेन का रिकॉर्ड तोड़ दिया भूपेंद्र पटेल ने.

सबसे कम अंतर से जीत :

कपराडा में कांग्रेस ने बीजेपी को 170 वोटों से हराया

कांग्रेस के जीतू चौधरी को – 93,000 वोट मिले

बीजेपी के मधु राउत को – 92,830 वोट मिले

2012 में भी यहां से कांग्रेस के चौधरी जीतूभाई ने जीत दर्ज की थी और अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बीजेपी उम्मीदवार प्रकाशभाई पटेल को 18 हजार से हराया था. सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित थी. गुजरात के वलसाड जिले में आती है.

कांग्रेस के जीतू चौधरी ने बीजेपी के मधु राउत को करीबी मुकाबले में हराया.
कांग्रेस के जीतू चौधरी ने बीजेपी के मधु राउत को करीबी मुकाबले में हराया.

हिमाचल प्रदेश में 120 वोटों से जीतने वाले की हालत सोचिए

सबसे बड़ी जीत :

नाचन में बीजेपी ने कांग्रेस को 15,896 वोट से हराया

बीजेपी के विनोद कुमार को- 38,154

कांग्रेस के लाल सिंह कौशल को- 22,258

2012 में यहां विनोद कुमार ने 3031 वोटों से चुनाव में जीत हासिल की थी. इस बार और बड़े अंतर से जीते.

हिमाचल में सबसे बड़े अंतर से जीते हैं विनोद.
हिमाचल में सबसे बड़े अंतर से जीते हैं विनोद.

सबसे कम अंतर से जीत :

किन्नौर में कांग्रेस ने बीजेपी को 120 वोट से हराया

कांग्रेस के जगत सिंह नेगी को – 20,029

बीजेपी के तेजवंत सिंह नेगी को -19,909

2012 में इसी सीट पर जगत सिंह नेगी ने 6,288 वोटों से चुनाव जीता था. इस बार किसी तरह सीट बचाने में कामयाब रहे.

नेगी ने बचा ली अपनी विधायकी
जगत सिंह नेगी ने बचा ली अपनी विधायकी.

ये भी पढ़ें- 

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

वो पांच वजहें जिससे हिमाचल में राहुल गांधी की कांग्रेस हार गई

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

हिमाचल में बीजेपी के वो बड़े चेहरे, जो मोदी लहर के बावजूद हारे

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पापा-बिटिया समेत कांग्रेस के ये दिग्गज और मंत्री हुए ढेर

लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Biggest and Smallest win of Gujarat and Himachal Pradesh Elections in terms of vote

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.