Submit your post

Follow Us

BJP नेता की कार में EVM मिलने पर चुनाव आयोग ने 4 अधिकारी सस्पेंड किए, वोटिंग फिर से होगी

पांच राज्यों में चल रहे चुनाव के बीच एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. असम के पथरकंडी विधानसभा क्षेत्र में सफेद रंग की बोलेरो कार में EVM मिली हैं. AS10 B 0022 नंबर की ये कार करीमगंज जिले की पथरकंडी सीट से विधायक और बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की है. उन्होंने अपने चुनावी हलफनामे में भी इसका जिक्र किया है. कांग्रेस, AIUDF जैसे दलों ने इस मामले को लेकर बीजेपी ही नहीं, चुनाव आयोग पर भी सवाल उठाए हैं. चुनाव आयोग ने अधिकारियों से घटना पर जवाब किया है. लेकिन चुनाव आयोग के सूत्र इस घटना के पीछे कुछ अलग ही कहानी बता रहे हैं. बहरहाल, चुनाव आयोग ने 4 अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है और बूथ पर फिर से वोटिंग कराने का आदेश दे दिया है. इधर कृष्णेंदु पॉल ने EVM चोरी जैसी किसी भी बात से इंकार किया है.

इलेक्शन कमीशन भी सवालों में

बोलेरो कार में ईवीएम मिलने की ये घटना गुरुवार 1 अप्रैल को रात करीब साढ़े दस बजे सामने आई थी. गुरुवार को असम में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में वोटिंग के दौरान करीमगंज में भी मतदान हुआ था. स्थानीय लोगों ने जब कार को घेरा तो ड्राइवर कार को छोड़कर भाग गया. आजतक के मुताबिक, ऐसे आरोप हैं कि उस समय कार के अंदर न तो चुनाव आयोग का कोई अधिकारी और न ही सुरक्षाकर्मी मौजूद थे. बीजेपी नेता कृष्णेंदु पॉल भी वहां नहीं थे. कार में ईवीएम मिलने की खबर फैलने के बाद बड़ी तादाद में लोग वहां लोग जमा हो गए. माहौल तनावपूर्ण हो गया. जैसे-तैसे रात को मामला शांत कराया गया. गुरुवार को असम के अलावा पश्चिम बंगाल में भी दूसरे चरण के लिए 30 सीटों पर वोट पड़े थे. वहां भी कार में ईवीएम मिलने की घटना के बाद तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया.

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. लोग इलेक्शन कमीशन के इंतजाम पर भी सवाल उठा रहे हैं. राजनीतिक दल भी आक्रामक हैं. असम कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने चुनाव के बायकॉट की धमकी दे दी है. चुनाव आयोग से तुरंत कार्रवाई की मांग की है.

रिपुन बोरा ने ट्वीट करके कहा-

हम उम्मीद करते हैं कि चुनाव आयोग तत्काल कार्रवाई करेगा. बताएगा कि ऐसा कैसे हो सकता है. ईवीएम की खुली लूट और धांधली पर तुरंत रोक नहीं लगी तो कांग्रेस पार्टी चुनाव का बहिष्कार करने पर विचार करेगी.

 कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी घटना पर चिंता जताई और ईवीएम के इस्तेमाल पर फिर से विचार करने की मांग उठा दी. प्रियंका ने शुक्रवार को ट्वीट में लिखा-

जब भी इलेक्शन होता है, ईवीएम के साथ प्राइवेट गाड़ियां पकड़ी जाती हैं. इस बात में कोई आश्चर्य नहीं है कि इन सबमें ये बातें कॉमन हैं. वाहन ज्यादातर बीजेपी या उनके सहयोगियों के ही होते हैं. ऐसी विडियो फुटेज को अक्सर बस एक घटना कहकर नकार दिया जाता है. बीजेपी की पूरी सोशल मीडिया मशीनरी वीडियो बनाने वाले को ही नाकारा साबित करने में लग जाती है. ऐसे बहुत से वीडियो आए लेकिन किसी पर भी एक्शन नहीं लिया गया. इस पर इलेक्शन कमीशन को फौरन एक्शन लेना चाहिए. सभी पार्टियों के साथ बैठ कर ईवीएम के इस्तेमाल पर पुनर्विचार होना चाहिए.

 

कांग्रेस ही नहीं, इस कार में ईवीएम मिलने के वीडियो को AIUDF के अध्यक्ष और सांसद मौलाना बदरुद्दीन अजमल ने भी शेयर किया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा-

ध्रुवीकरण फेल, वोटों की खरीद फेल, प्रत्याशियों की खरीद फेल, जुमलेबाजी फेल, दोहरे सीएम फेल, सीएए पर दोहरी बातें फेल. हार चुकी बीजेपी के पास अब एक ही रास्ता बचा है, ईवीएम की चोरी. यह लोकतंत्र की हत्या है.

हलफनामे में है बोलेरो का जिक्र

शुरुआत में इस तरह का बाते आईं कि क्या वाकई में कार बीजेपी प्रत्याशी की है. लेकिन बाद में यह साफ हो गया कि कार बीजेपी प्रत्याशी कृष्णेंदु पॉल की ही है. असल में पॉल ने चुनाव लड़ने के लिए जो हलफनामा दाखिल किया था, उसमें इस कार का भी जिक्र है. बता दें कि जब भी कोई प्रत्याशी चुनाव लड़ता है तो उसे अपनी और परिवार की चल-अचल संपत्ति का ब्यौरा एक हलफनामे की शक्ल में इलेक्शन कमीशन को देना होता है. इस हलफनामे में कृष्णेंदु पॉल ने अपनी महिंद्रा बोलेरो एसयूवी का जिक्र किया है जिसका नंबर AS10 B 0022 है.

हालांकि शुक्रवार शाम को कृष्णेंदु पॉल ने मामले पर बयान दिया. उन्होंने इंडिया टुड़े को बताया कि

ईवीएम चोरी जैसे आरोप पूरी तरह से गलत हैं. कार मेरा ड्राइवर चला रहा था. जब उससे मदद मांगी गई तो उसने बस मदद कर दी. कार के ऊपर एक स्टिकर चिपका हुआ है जिससे लिखा है कि मैं बीजेपी कैंडिडेट हूं. मुझे नहीं पता कि इसे पोलिंग ऑफिसर ने देखा या नहीं. हमने तो सिर्फ मदद की थी.

Assam Evm Bolero Krishnendu Bjp
जिस बोलेरो में ईवीएम मिली हैं वह कार बीजेपी प्रत्याशी कृष्णेंदु पॉल की ही है इसका पता उस हलफनामे से चला जो उन्होंने इलेक्शन कमीशन को दिया था.

‘वोटिंग के बाद की घटना’

बीजेपी नेता की कार में ईवीएम मिलने के मामले पर निर्वाचन आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी से पूरी तफसील रिपोर्ट तलब की है. शुक्रवार को आयोग ने लापरवाही बरतने के आरोप में 4 अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया. घटना की एफआईआर भी दर्ज कराई जा रही है.

समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से अलग ही कहानी बताई है. एएनआई के मुताबिक, इलेक्शन कमीशन की जिस गाड़ी में ईवीएम ले जाई जा रहीं थीं, वह खराब हो गई थी. इस वजह से अधिकारियों ने एक गाड़ी में लिफ्ट ले ली. बाद में पता चला कि वो कार बीजेपी कैडिडेट की है. सूत्रों ने बताया कि उन लोगों के खिलाफ FIR भी कराई गई है, जिन लोगों ने EVM ले जा रही कार पर हमला किया था. इस पूरी घटना के दौरान ईवीएम को किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है. सभी ईवीएम प्रशासन की कस्टडी में हैं.


वीडियो – आधार कार्ड की तर्ज़ पर आया डिजिटल वोटर आई कार्ड कैसे काम करेगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.