Submit your post

Follow Us

क्या यूज़र्स के पइसे पर डंडी मार रही है ज़ूम कार?

ज़ूम कार. कुछ दिनों के लिए किराये पर कार देने वाला स्टार्टअप. भारत में कुछ शहरों से शुरू हुआ. कई शहरों में फैला. लेकिन अब ज़ूम कार की पॉलिसी और काम करने के तरीकों को लेकर कुछ गंभीर शिकायतें सामने आ रही हैं. ऐसी ही एक शिकायत हमसे साझा की मुंबई के रहने वाले तौहिद शेख ने. अब यहां से वो बात, जो तौहिद ने बताई.


30 अक्टूबर, 2020 को मैंने ज़ूम कार की दो बुकिंग की. पहली बुकिंग 12 नवंबर की. दूसरी 9 दिसंबर की. दोनों बुकिंग के लिए मुझसे रेंटल अमाउंट लिया. और साथ ही हर बुकिंग के लिए 2999 रुपए डिपॉज़िट अमाउंट. कहा कि ये रिफंडेबल होगा. यानी राइड पूरी होने के बाद ये पैसा मुझे वापस मिल जाएगा.

12 नवंबर को पहली बुकिंग के लिए कार मिली. पेट्रोल ज़ूम कार की तरफ से डलवाया जाना चाहिए था, लेकिन मैंने डलवाया. अब मेरा बुकिंग डिपॉज़िट (2999 रु) और पेट्रोल मिलाकर हुआ 3525 रुपए, जो कि मुझे इस राइड के बाद रिफंड हो जाने चाहिए थे. 13 नवंबर को ज़ूम कार के कस्टमर केयर कॉल की. जवाब मिला- रिफंड एक महीने में आएगा.

अब बारी आई मेरी 9 दिसंबर वाली बुकिंग की. इसके सात दिन पहले मेरे पास ज़ूम कार से फोन आता है कि आपने जो कार बुक की थी, वो आपको नहीं मिल सकती. वजह- उस कार का कहीं एक्सीडेंट हो गया है. मैंने कहा ठीक है, कोई और कार बुक कर दीजिए. दो दिन बाद फिर कॉल आता है – “जो कार आपने पहले बुक की थी, वो मिल जाएगी. लेकिन आपको कार पिक करने हमारे ऑफिस आना होगा. कार आपके दरवाजे नहीं जा पाएगी.” मैंने कहा कि मेरे घर से आपका पिक-अप पॉइंट 12 किमी दूर है. मैं यहां से कार पिक करने आऊं, फिर घर आकर अपने परिवार को पिक करूं, फिर जहां जाना है. वहां जाऊं. ये तो काफी हेक्टिक हो जाएगा. काफी मान-मनौव्वल के बाद 7 तारीख़ को ये बात फाइनल हुई कि कार मेरे दरवाजे आ जाएगी. मैसेज भी आ गया.

अब अगले ही दिन, 8 दिसंबर को रात में मेरे पास मैसेज आता है कि आपकी बुकिंग कैंसल कर दी गई है. मैंने कॉल किया तो कारण दिया गया कि मेरा ड्राइविंग लाइसेंस गुजरात का है, जिस पर वो मुंबई में बुकिंग नहीं दे सकते. ये मेरे लिए शॉकिंग था क्योंकि इसी DL पर मैं पहले भी तीन बार ज़ूम कार से बुकिंग कर चुका था. नवंबर में ही एक बुकिंग की थी. इस बार उनके पास कार अवेलबल नहीं थी, इसलिए उन्होंने दूसरा अजीब सा कारण देते हुए मेरी बुकिंग कैंसल कर दी.

तमाम कोशिश और कॉल के बाद भी ये इश्यू सुलझ नहीं पाया. 9 तारीख़ को मैंने कहा कि अब आप मेरा पैसा रिफंड कर दीजिए. मैंने इस राइड के लिए 2999 रुपए डिपॉज़िट किए थे. साथ ही 992 रुपए रेंटल. यानी कुल 3991 रुपए. लेकिन जब मेरे पास मैसेज आया तो देखा कि ज़ूम कार 2999 रुपए ही रिफंड कर रही है. वो भी महीने भर में. यानी बिना ज़ूम कार इस्तेमाल किए मुझे 992 रुपए का नुकसान.

अब जब मैं ज़ूम कार के कस्टमर केयर कॉल कर रहा हूं तो सिस्टम जेनरेटेड जवाब मिल रहा है कि अपने रजिस्टर्ड नंबर से कॉल करिए. जबकि मेरा यही नंबर रजिस्टर्ड है. इसी नंबर से मैंने ज़ूम कार पर बुकिंग्स की हैं. लेकिन मेरा नंबर रिकॉर्ड से हटा दिया गया ताकि मैं शिकायत भी न कर सकूं. दोनों बुकिंग मिलाकर मेरे कुल 7516 रुपए ज़ूम कार के पास अटके हैं.


ये थी तौहिद की बात, जो उन्होंने मेल पर और फोन पर दी लल्लनटॉप को बताई. तौहीद से बात करने के बाद हम पहुंचे ज़ूम कार के ट्विटर अकाउंट पर. ये सोचकर कि शायद ज़ूम की रिफंड पॉलिसी के बारे में यहां कुछ मिले. लेकिन मिला कुछ और. यूज़र्स की पिटारा भर शिकायतें. सारी रिफंड के लिए. किसी के 25 हज़ार रुपए अटके हैं, किसी के 8 हज़ार, किसी के 12 हज़ार. कस्टमर केयर से कोई भी बात नहीं कर पा रहा है. माने तौहिद अकेले नहीं हैं. ज़ूम कार से दो तरह की शिकायतें लगातार आ रही हैं –

एक – डिपॉज़िट के नाम पर बड़ा अमाउंट लेना और फिर रिफंड न करना.

दो – जब यूज़र रिफंड न मिलने की शिकायत के लिए कॉल करे तो कस्टमर केयर पर बात न होना.

ट्वीट्स पढ़ते जाइए..

ज़ूम कार से बात करने की कोशिश

अब बचता है उनसे बात करना, जिनके नाम शिकायत है. हम सबसे पहले पहुंचे ज़ूम कार की वेबसाइट पर. इस उम्मीद में कि यहां से किसी अधिकारी की ई-मेल आईडी या फोन नंबर मिल जाएगा. ज़ूम कार की वेबसाइट पर एक पेज है, जिस पर इसकी टॉप अथॉरिटी के नाम हैं. लेकिन कोई कॉन्टैक्ट डिटेल नहीं है. वेबसाइट से हम खाली हाथ लौट आए. ज़ूम कार के CEO हैं ग्रेग मोरन. हमने उनके फोन नंबर का जुगाड़ किया. कॉल किया. रिसीव नहीं हुआ. तो मैसेज किया कि साब पत्रकार हैं, ज़ूम कार से जुड़ी एक ख़बर को लेकर बात करनी है. रिप्लाई नहीं. फिर कई बार कॉल किया, जवाब नहीं. आख़िरकार हमने मैसेज में ही सवाल पूछे कि ज़ूम कार की रिफंड की अनियमितताओं की शिकायतें लगातार आ रही हैं. इस पर आपका क्या कहना है? ख़बर लिखे जाने तक इस पर भी रिप्लाई नहीं आया है. हमने भी हिम्मत नहीं हारी है. जैसे ही ज़ूम कार के किसी ज़िम्मेदार अधिकारी से संपर्क होता है, तो हम उनकी बात भी आप तक पहुंचाएंगे.

तब तक के लिए तो हम यही कहेंगे कि ज़ूम कार से बुकिंग कर रहे हैं तो एक बार उनका रिफंड लौटाने का ये रिकॉर्ड ज़रूर देख लें. कौन-कितनी जवाबदेही ले रहा, वो भी हमने आपको बता दिया. बाकी आप खुद समझदार हैं.


दो साल पहले चोरी हुई कार थानेदार साहब चला रहे थे, इसका पता कैसे चला?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

जानते हो ऋतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था, जिससे ऋतिक हो गए थे नाराज़? क्विज़ खेल लो. जान लो.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

किसान दिवस पर किसानी से जुड़े इन सवालों पर अपनी जनरल नॉलेज चेक कर लें

कितने नंबर आए, ये बताते हुए जाइएगा.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?