Submit your post

Follow Us

Youtube Vs Tik Tok की लड़ाई के नाम पर हमसे क्या झूठ बोला जा रहा है?

सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से लगातार Youtube Vs Tik Tok वाली बहस चल रही है. अगर आपको इस बारे में कोई जानकारी नहीं है, तो अचानक से आपको FOMO फील हो रहा होगा. अब आपको FOMO का मतलब नहीं पता होने पर जो भाव महसूस हो रहा है, उसे ही FOMO (Fear Of Missing Out) यानी पीछे छूट जाने का डर कहते हैं. ये जो डर है वो टिक टॉक की सुपरस्टारडम का सबसे बड़ा राज़ है. फिलहाल ये बहस चर्चा का विषय इसलिए है क्योंकि कॉमेडियन-रोस्ट कैरी मिनाटी ने टिक टॉक और उसके यूज़र्स को बुरी तरह से रोस्ट करते हुए एक वीडियो बनाया, जिसे इस खबर के लिखे जाने तक पांच दिनों में 67 मिलियन यानी 6.7 करोड़ बार देखा जा चुका है. और इस वीडियो पर लाइक्स की संख्या 10 मिलियन यानी 1 करोड़ के पार है.

टिक टॉक में ऐसा क्या है?

ये सवाल दुनियाभर के लोग पूछ रहे हैं. क्योंकि टिक टॉक यूथ के बीच कम समय में काफी पॉपुलर हो गया है. मिसालन सितंबर 2018 में टिक टॉक एक महीने में सबसे ज़्यादा डाउनलोड किया जाने वाला ऐप बन गया. इस दौरान इसने फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब और स्नैपचैट जैसे ऐप्लिकेशंस को भी पीछे छोड़ दिया. अब तक इसे दुनियाभर में 100 करोड़ से ज़्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है. वजह- इसका ईज़ी यूज़र इंटरफेस. इस चक्कर में इसने यूट्यूब को भी कॉम्प्लेक्स दे दिया. नतीजतन 2020 के अंत तक यूट्यूब भी ‘शॉर्ट्स’ नाम की सर्विस अपने मोबाइल ऐप पर लॉन्च करने वाला है, जिसके फीचर्स काफी हद तक टिक टॉक जैसे रहने वाले हैं.

टिक टॉक के फीचर्स की बात हो रही है, तो शॉर्ट में बस इतना जान लीजिए कि इस ऐप पर आप आप 1 मिनट तक के वीडियोज़ बनाकर अपलोड कर सकते हैं. टिक टॉक के पास बहुत सारे गानों की क्लिप्स, फिल्मों के डायलॉग्स मौज़ूद हैं, जिन्हें आप 15 सेकंड के वीडियो में इस्तेमाल कर सकते हैं. इसमें ड्यूएट्स नाम का भी एक फीचर है, जिसमें आप किसी के वीडियो का जवाब एक वीडियो बनाकर दे सकते हैं. और ये दोनों वीडियोज़ स्क्रीन पर एक साथ दिखाई देंगी.

यूट्यूब बनाम टिक टॉक का क्या खेल है?

ये बहस इंडिया में चल रही है, इसलिए यहीं के परिपेक्ष्य में बात होनी चाहिए. तो हुआ ये है कि टिक टॉक के वीडियोज़ को यूट्यूब के कॉन्टेंट क्रिएटर्स ‘क्रिंज’ शब्द से संबोधित करते हैं. क्रिंज का मतलब कोई ऐसी चीज़, जो आपको शर्मिंदा करे. इस तरह की तोहमतें टिक टॉक लंबे समय से झेल रहा है. 18 अप्रैल को यूट्यूबर एल्विश यादव ने एक वीडियो बनाया, जिसमें उन्होंने टिक टॉक पर पोस्ट किए जाने वाले वीडियो और उसे पोस्ट करने वालों के बारे में तमाम तरह की अपमानजनक बातें कहीं. आप वो वीडियो यहां देख सकते हैं:

एल्विश के जवाब में टिक टॉकर रिवॉल्वर रानी और आमिर सिद्दीकी ने एक वीडियो बनाया, जहां उन्होंने टिक टॉक और वहां वीडियो बनाने वाले लोगों को यूट्यूबर्स से बेहतर बताया. आमिर ने ये भी कहा कि यूट्यूब वाले उनके कॉन्टेंट का इस्तेमाल करके पैसे कमाते हैं और साथ में कई सारी धमकियां भी दे डालीं. हालांकि आमिर के बात करने का तरीका काफी डीसेंट था. मगर टिक टॉक को सेकंड क्लास चीज़ मानने वाले यूट्यूबर्स इस तुलना पर भड़क गए. इस तरह से यूट्यूब वर्सज़ टिक टॉक वाले मामले की शुरुआत हुई. आमिर का वो वीडियो आप यहां देख सकते हैं:

आमिर के खिलाफ जवाबी फायर करते हुए एल्विश और सम्राट समेत कई यूट्यूबर्स ने तमाम वीडियोज़ बनाए, जिससे ये मामला तूल पकड़ता चला गया. आमिर सिद्दीकी इन यूट्यूबर्स की बातों का जवाब अपने इंस्टाग्राम स्टोरीज़ और पोस्ट्स पर दे रहे थे. इस दौरान उन्होंने ये कह दिया कि अगर कैरी मिनाटी उन्हें रोस्ट करते हुए वीडियो बनाते हैं, तो वो बहुत खुश होंगे. ये कहना था कि कैरी ने आमिर का रोस्ट वीडियो बना डाला. जहां तक कैरी के रोस्ट का सवाल है, तो वो काफी औसत था. सिर्फ गाली-गलौज से कॉन्टेंट मजबूत या इंट्रेस्टिंग नहीं बनाया जा सकता. जिस तरह की सफलता कैरी मिनाटी के इस वीडियो को मिल रही है, उससे आमिर की टिक टॉकर्स का कॉन्टेंट इस्तेमाल करके पैसे कमाने वाली बात भी सच होती दिखाई दे रही है. अब सवाल ये है कि जब सबकुछ इतना ऐवरेज है, तो फिर कैरी का वीडियो इतना देखा क्यों जा रहा है? इसका जवाब दूसरे यूट्यूबर आशीष चंचलानी ने बॉलीवुड हंगामा से बात करते हुए दिया. आशीष कहते हैं- ”पब्लिक को लफड़ा देखना बहुत पसंद है. और पूरे देश को ऐसा लफड़ा देखने को मिल गया ऑनलाइन.”

कैरी का वो रोस्ट वीडियो आप यहां देख सकते हैं:

कमाल की बात ये कि कैरी के इस वीडियो पर उनके फैंस टिक टॉक वालों को ट्रोल कर रहे हैं. और उनके साथी यूट्यूबर्स यानी भुवन बाम, आशीष चंचलानी और हर्ष बेनीवाल उस रोस्ट वीडियो के 2 मिलियन लाइक्स पूरे होने पर कैरी के लिए ताली बजा रहे हैं. ये हम नहीं कह रहे, ये बात खुद कैरी मिनाटी ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर एक फोटो डालकर बताई. यहां देखिए वो फोटो-

गंगाधर ही शक्तिमान है!

अब कुछ तथ्यात्मक बातें. 2014 में चीनी आंत्रप्रेन्योर एलेक्स झू और लुयु यैंग ने म्यूज़िकली नाम का एक ऐप लॉन्च किया. इस ऐप में वो सारे फीचर्स थे, जो अब टिक टॉक में हैं. इसलिए ये ऐप भी कुछ ही दिनों में बम्पर हिट हो गया. 2017 में चाइनीज़ टेक कंपनी डांस बाइट्स ने 1 बिलियन डॉलर यानी (2017 के हिसाब से) 6400 करोड़ रुपए में खरीद लिया.तब तक डांस बाइट्स के स्वामित्व वाला टिक टॉक भी बाज़ार में उतर चुका था. अगस्त 2018 में म्यूज़िकली और टिक टॉक का विलय हो गया. म्यूज़िकली वाले सारे अकाउंट्स-हैंडल्स ऑटोमैटिक तरीके से टिक टॉक में ट्रांसफर हो गए. अब गंगाधर ही शक्तिमान था. तब तक ये ऐप किसी नए खोज की तरह देखा जा रहा था. सबकुछ नॉर्मल था. न्यू टाइम्स ने टिक टॉक के तारीफों के पुल बांधते हुए इसे इकलौता और सबसे रोचक सोशल मीडिया ऐप करार दिया. क्योंकि तब इस ऐप में विज्ञापन और न्यूज़ जैसी चीज़ें दिखलाई नहीं पड़ती थीं. हालांकि 2019 में यहां भी ऐड्स दिखने शुरू हो गए.

टिक टॉक पर आप आए नहीं, लाए गए हैं!

टिक टॉक बेसिकली दुनिया का पहला वो ऐप है, जो पूरी तरह से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर काम करता है. फेसबुक-ट्विटर-इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया ऐप्लिकेशन जहां आपकी पसंद-नापसंद जांचने के बाद कॉन्टेंट परोसते है, वहीं टिक टॉक आपको कॉन्टेंट देता ही चला जाता है. चुनाव आपको करना है कि आप क्या देखना चाहते हैं और क्या नहीं. यहां काम आता है इसका आसान यूज़र इंटरफेस, जहां आप बिना किसी को फॉलो किए सिर्फ स्क्रीन सरकाकर अनगिनत वीडियोज़ देख सकते हैं. और तमाम अनोखे फीचर्स जो आपको किसी और ऐप में नहीं मिलते. यहां पर कई सारे सेलेब्रिटीज़ हैं. बहुत सारे मशहूर लोग, जो वीडियोज़ बनाकर यहां डाल रहे हैं. इतनी लुभावनी और एक्साइटिंग दुनिया देखकर आपको लगता है कि यहां तो अलग फिल्म चल रही है. आप अब तक यहां क्यों नहीं हैं? इस बात से अंजान कि जिन सेलेब्रिटीज़ का वीडियो आप देख रहे हैं, उन्हें उस ऐप के मालिकाना हक़ वाली कंपनी पैसे देकर अपने यहां ले आई है. और जिन अनगिनत वीडियोज़ को स्कॉल करते हुए आप यहां पहुंचे हैं, उनमें से अधिकतर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की देन हैं.

मशहूर अमेरिकन रैपर कार्डी बी का शुरुआती वीडियो आप यहां देख सकते हैं, जिसे टिक टॉक ने स्पॉन्सर किया था-

अमेरिका ने ठोका इतिहास का सबसे बड़ा जुर्माना

टिक टॉक और उसके पूर्वज म्यूज़िकली पर बहुत सारे अकाउंट्स 13 साल से कम उम्र के बच्चों के थे. दूसरी बात, ये ऐप्लिकेशन अकाउंट बनाने के साथ ही पब्लिक हो जाता था. अगर आपने कोई पोस्ट डाला, तो उसे दुनिया में कोई भी, कभी भी देख सकता था. कोई भी कमेंट कर सकता था. अगर आप प्राइवेसी सेटिंग में बदलाव कर भी लेते हैं, तब भी कोई भी आपको पर्सनल मैसेज भेज सकता था. इस चक्कर में कई बच्चों-बच्चियों के साथ होने वाले अपराधों की बात सामने आई. कई बड़े उम्र के लोग इन बच्चों से उनके अंग विशेष की तस्वीरें मंगवाते पाए गए. तो कई बच्चे कमेंट बॉक्स में बुलिंग के शिकार हुए. साथ ही इस ऐप्लिकेशन पर अवैध तरीकों से बच्चों की जानकारियां जुटाने और चुराने के आरोप भी लगे. आरोप सिद्ध होने के बाद फरवरी 2019 में फेडरल ट्रेड कमिशन ने टिक टॉक पर 5.7 मिलियन डॉलर यानी तकरीबन 43 करोड़ रुपए का जुर्माना ठोका, जो कंपनी देने को तैयार हो गई. ये अमेरिका के इतिहास में बच्चों की प्राइवेसी से जुड़े मामलों में लगने वाली सबसे बड़ी पेनल्टी थी. साथ टिक टॉक को COPPA (Children’s Online Privacy Protection Act) का अनुपालन करते हुए 13 साल से कम उम्र के बच्चों द्वारा अपलोड किए गए सभी वीडियोज़ को हटाने का आदेश दिया गया.

इंडिया ने किया बैन, तो हाथ-पांव जोड़ लिए

टिक टॉक पर आपत्तिजनक कॉन्टेंट पोस्ट किए जाने के खिलाफ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की आर्थिक शाखा स्वदेशी जागरण मंच ने लेटर लिखकर पीएम मोदी से टिक टॉक और हेलो जैसे ऐप्स पर बैन लगाने की मांग की थी. कई लोगों ने भी इस ऐप्लिकेशन पर अश्लीलता फैलाए जाने की शिकायत की, जिस पर संज्ञान लेते हुए मद्रास हाई कोर्ट ने इंडिया में टिक टॉक पर बैन लगा दिया. हालांकि बाद में जब इसकी पेरेंट कंपनी बाइट डांस ने बताया कि इंडिया में इस बैन की वजह से उसे प्रति दिन 5 मिलियन डॉलर यानी तकरीबन 38 करोड़ रुपए का नुकसान होगा. और 250 से ज़्यादा लोगों की नौकरियां खतरे में पड़ जाएंगी. साथ ही वो किसी भी तरह के पोर्नोग्राफिक कॉन्टेंट उनके ऐप पर न जाए, इसका वो खास ख्याल रखेंगे. इसके बाद मद्रास हाई कोर्ट ने टिक टॉक पर से बैन हटा लिया.

Youtube Vs Tik Tok की लड़ाई का झूठ 

यूट्यूब और टिक टॉक में कभी लड़ाई नहीं हुई. ये भिड़ंत इन सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स के यूज़र्स के बीच हुई थी. वो मामला कैरी मिनाटी के वीडियो के बाद थोड़ा शांत पड़ता दिख रहा है. हालांकि ऐसी छोटी-मोटी लड़ाइयों से ऐप्स पर कुछ खास फर्क नहीं पड़ता. जहां तक सवाल यूट्यूब और टिक टॉक के कंपटीशन का है, तो ज़ाहिर तौर पर यूट्यूब मार्केट का बड़ा और पैसेवाला खिलाड़ी है. वहां आपको अपना चैनल बनाने से पहले यूट्यूब के नियम-कानून मानने पड़ते हैं, जो काफी सख्त हैं. जबकि टिक टॉक पर ऐसी कोई पाबंदी नहीं है. यूट्यूब पर आप कितनी भी लंबी वीडियो बनाकर अपलोड कर सकते हैं, लेकिन टिक टॉक पर समय सीमा निर्धारित है. इस वजह से इसके कॉन्टेंट की क्वॉलिटी पर भी असर पड़ता है. कॉन्टेंट की चोरी पर यूट्यूब सख्त कार्रवाई करता है, जबकि टिक टॉक पर इसके लिए कोई प्रावधान नहीं है.


वीडियो देखें: क्या है नेटफ्लिक्स जो टीवी को वैसे ही निगल जाएगा, जैसे टीवी रेडियो को खा गया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!