Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

T Series हर बार दुनिया का सबसे बड़ा यू ट्यूब चैनल बनते-बनते कैसे रह जाता है?

1.62 K
शेयर्स

टेन… नाइन… एट… सेवन…


…उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. न न बल्कि खत्म हो चुकी है और दो यू-ट्यूब चैनल्स में बीच दौड़ शुरू भी हो चुकी है. इस दौड़ में शामिल है स्वीडन का पिउडीपाई और भारत का टी-सीरीज़. और फिनिश लाइन है सब्सक्राइबर्स.

कि कौन सब्सक्राइबर्स के हिसाब से दुनिया का नंबर एक यू-ट्यूब चैनल बन पाता है. खबर लिखे जाने तक पिउडीपाई आगे चल रहा है लेकिन शायद आपके खबर पढ़ते वक्त तक टी-सीरीज़ आगे हो जाए. क्यूंकि अंतर बहुत थोड़ा ही है. एक नहीं कितने ही यू-ट्यूब वीडियोज़ इस सब्सक्राइबर्स वाले युद्ध को लाइव दिखा रहे हैं. गूगल में सर्च करेंगे तो दोनों के बीच चल रहे युद्ध के बारे में ढेरों आर्टिकल, ढेरों लिंक आपको दिख जाएंगे. सोशल मीडिया से लेकर ऑफिस में होने वाली चर्चाओं में तक इस युद्ध का ज़िक्र गाहे बगाहे आ ही जा रहा है. तो चलिए आपको भी इस बिना खून खराबे वाले लेकिन इंट्रेस्टिंग युद्ध के कुछ इंट्रेस्टिंग फैक्ट्स बताते हैं –

# टी-सीरीज़. अस्सी के दशक में ‘दिल्ली के लौंडे’ भूषण कुमार ने पायरेटेड गीतों से कैसे पूरा साम्राज्य खड़ा कर दिया इसे आप विस्तारपूर्वक दी लल्लनटॉप पर ही पढ़ सकते हैं.

पढ़ें: बॉलीवुड का सबसे विख्यात और 'कुख्यात' म्यूजिक मैन, जिसे मार डाला गया

बेशक गुलशन कुमार की मृत्यु के बाद टी-सीरीज़ को फिर से खड़ा करने में बहुत ज़्यादा वक्त लगा लेकिन अब हालत ये है कि ये म्यूज़िक कंपनी केवल अपने यू-ट्यूब चैनलों से ही 7 अरब रुपए से ज़्यादा कमा रही है. और ये तो उसकी कमाई का सिर्फ 25 से 30 प्रतिशत है.

# जब हम चैनल के बदले ‘चैनलों‘ लिखते हैं तो इसका मतलब ये है कि टी-सीरीज़ के एकाधिक यू-ट्यूब चैनल हैं. कुल 29 चैनल. और इनमें से सिर्फ एक चैनल के ही सब्सक्राइबर इतने हैं कि ज़ल्द ही वो पूरी दुनिया का नंबर एक यू-ट्यूब चैनल बन जाएगा – सब्सक्राइबर्स के मामले में. व्यूज़ के मामले में तो पहले से ही है.

# वैसे आपको बता दें कि पिछले कुछ महीनों में एकाध बार टी-सीरीज़ ने नंबर वन की पोज़ीशन हासिल कर भी ली थी लेकिन उसे बनाए रखने में वो समर्थ नहीं हो पाया. उस दौरान क्या हुआ अगर ये आपको बताएंगे तो आप समझ जाएंगे कि पूरी दुनिया इस सब्सक्राइबर युद्ध को कितना सीरियसली ले रही है. लेकिन इससे पहले ज़रा उसके बारे में भी जान लिया जाए जिसके साथ टी-सीरीज़ का सारा कॉम्पिटीशन चल रहा है.

# पिउडीपाई. एक यू-ट्यूब चैनल. लेकिन कोई कंपनी नहीं. जैसे कि टी-सीरीज़ है. इसको बनाने वाला एक यू-ट्यूबर है. यू-ट्यूबर मतलब जिसकी आय का मुख्य स्रोत यू-ट्यूब वीडियो बनाकर गूगल से पैसे कमाना है. स्वीडन के इस यू-ट्यूबर नाम है फेलिक्स जेलबर्ग. बचपन से ही वीडियो गेम खेलने का शौकीन. मां का जॉब भी कम्प्यूटर से संबंधित. बड़ा हुआ तो यू-ट्यूब चैनल बना डाला. नाम रखा पिउडी या पिउडाई (PewDie) जिसमें Pew लेज़र वाली बंदूक की आवाज़ और Die मतलब तो हम सब ही जानते हैं. मृत्यु.

# लेकिन फिर एक दिन इस वाले अकाउंट के क्रेडेंशियल्स खो गए. तो एक और चैनल बनाया. नाम रखा पिउडीपाई या पिउडाईपाई (PewDiePie). ये 2010 की बात थी. इस वाले चैनल की वीडियोज़ में से ज़्यादातर वीडियोज़ में या तो वो वीडियो गेम खेलना सिखाता है या उनके बारे में जानकरी उपलब्ध कराता. इस तरह के वीडियो को लेट’स प्ले विधा के यू-ट्यूब वीडियो कहा जाता है. बेशक आजकल उसके कंटेंट में बाकी चीज़ें भी जुड़ गई हैं, जैसे किसी खबर या कंट्रोवर्सी पर अपनी राय रखना. ज़्यादातर व्यंग करते हुए. कई वीडियोज़ में उसने भारत के लोगों की अंग्रेज़ी और उनके कमेंट्स का भी मजाक उड़ाया है. हाल ही में एक गीत भी गाया है – बिच लसांगा. जिसमें टी-सीरीज़ और साथ ही इंडियंस को भी पोक किया गया है. पिछले कुछ वीडियोज़ देखकर साफ़ पता चलता है कि इन दिनों पिउडीपाई का सारा ध्यान टी-सीरीज़ के बढ़ते सब्सक्राइबर्स पर ही है. ये सारा कंटेंट आप यू-ट्यूब में सर्च कर सकते हो.

# सभी लोगों ने प्रिडिक्ट किया था कि अक्टूबर में टी-सीरीज़ पिउडीपाई को हरा देगा. और लोगों का ये प्रिडिक्शन सही भी साबित हुआ. लेकिन ये केवल कुछ समय के लिए रहा जब पिउडीपाई दूसरे नंबर पर पहुंचा हो. फिर विश्व भर में एक कैंपेन के चलते और बाकी यू-ट्यूबर्स के सपोर्ट के चलते एक ही दिन में कई सब्सक्राइबर्स पिउडीपाई चैनल के साथ जुड़ गए और टी-सीरीज़ पीछे हो गया. ऐसा ही नवंबर के शुरुआत में भी हुआ था.

# पिउडीपाई नंबर एक पर बने रहने के लिए ढेरों जतन कर रहा है. जहां एक तरफ वो भारतीयों को बेईज्ज़त करने से नहीं चूकता वहीं दूसरी तरफ कई यू-ट्यूबर्स के साथ सांठ-गांठ करके एक ही दिन में अपने सब्सक्राइबर्स लाखों की संख्या में बढ़ा देता है.

# उसके समर्थक भी कभी दुनिया भर के प्रिंटर्स को हेक करके उसमें पिउडीपाई को सब्सक्राइब करने का मैसेज प्रिंट कर देते हैं तो कभी यू-ट्यूब में ही दस हज़ार बार लगातार पिउडीपाई का जाप करते हैं. उसके एक फैन ने तो सबसे सपोर्ट मांगने के लिए न्यूयॉर्क में एक बड़ा सा बोर्ड ही लगा दिया.

# लेकिन इन सबके बावज़ूद पिउडीपाई के सब्सक्राइबर्स में अचानक आते हुए उछाल बिलकुल बुझते दिए के लौ की मांनिंद हैं क्यूंकि बिना कोई एक्स्ट्रा एफर्ट्स के टी-सीरीज़ ज़ल्द ही पिउ को यूं पार कर जाएगा कि फिर उसे हराना मुश्किल हो जाएगा और फिर गैप भी बढ़ता चला जाएगा. टी सीरीज़ ने इन सब के ज़वाब में कोई कदम नहीं उठाया है. उनका तो कहना बस इतना है कि हम नंबर एक बनने से बस एक ‘छोटे से’ कदम की दूरी पर हैं.

# टी-सीरीज़ ने 2006 में ही अपना यू–ट्यूब चैनल बना दिया था. लेकिन इसके सब्सक्राइबर्स बढ़ना हाल ही में तेज़ हुए हैं. जिसका सबसे बड़ा कारण है जियो का मोबाइल नेटवर्क. उसके चलते भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इंटरनेट यूज़र हो गया. और जो पहला सबसे बड़ा यूज़र है, यानी चाइना, वहां पर तो यू-ट्यूब बैन ही है. यूं सभी भारतीय यू-ट्यूब चैनल्स के सब्सक्राइबर बढ़ने ही बढ़ने हैं.

# बेशक 2010 में यानी 8 साल पहले से ही टी-सीरीज़ ने कुछ कुछ कंटेंट डालने शुरू कर दिए थे, लेकिन पिछले कुछ सालों में ही इनके कंटेंट अपलोड करने की फ्रीक्वेंसी में तेज़ वृद्धि हुई है.

# जब ढेर सारा कंटेंट डाला जाता है वो भी प्रीमियम क्वालिटी का तो उसमें कुछ कंटेंट तो वायरल हो ही जाते हैं. अभी एक दो दिन पहले ही टी-सीरीज़ के चैनल में अपलोड हुआ गीत दिलबर-दिलबर – अरेबिक वर्ज़न न केवल भारत में बल्कि मोरक्को में भी नंबर एक पर ट्रेंड कर रहा था. गुरु रंधावा का लाहौर तो खैर सबसे ज़्यादा देखा जाने वाला गीत है ही.

# एक और बात जो टी-सीरीज़ के पक्ष में जाती है वो ये कि कोई एक शख्स इसे नहीं चलाता इसलिए न केवल इस यू-ट्यूब चैनल में वीडियो रेगुलर डाले जाते हैं बल्कि काफी अधिक मात्रा में डाले जाते हैं. वैसे भी टी-सीरीज़ का एक मात्र आय का साधन यू-ट्यूब नहीं है. बल्कि यू-ट्यूब तो उनके साम्राज्य का एक छोटा हिस्सा भर. इसलिए वो इतना लोड भी नहीं लेते हैं.

# साथ ही जहां पिउडीपाई का कंटेंट रॉ या एमेच्योर होता है वहीं टी-सीरीज़ का अधिकतर कंटेट प्रीमियम की श्रेणी में आता है. बढ़िया तरीके से एडिट किया हुआ, बेहतरीन कैमरे, ग्राफिक्स. और टी-सीरीज़ वैसे भी फिल्म और संगीत से जुड़ा हुआ है. यही तो 125 करोड़ जनसंख्या वाले देश की नब्ज़ है.

ग्राफिक्स और स्टेटिस्टिक्स साभार - internetworldstats.com
ग्राफिक्स और स्टेटिस्टिक्स साभार – internetworldstats.com

# इस वक्त भारत में 30% के लगभग लोग ही इंटरनेट यूज़ करते हैं, सोचिए अभी कितना ज़्यादा पोटेंशियल है इस मार्केट में. और इस पाई केक का सबसे बड़ा हिस्सा भारतीय कंपनीज़ को ही मिलेगा. अभी केवल 30% में ही व्यूज़ के हिसाब दुनिया के टॉप 50 यू-ट्यूब चैनल में से 8 चैनल भारत के हैं. और नंबर वन पर है टी-सीरीज़. व्यूज़ वाली इस लिस्ट में पिउडीपाई आता है आठवें नंबर पर.

# आपक शायद ये जानकर आश्चर्य होगा कि टी-सीरीज़ के यू-ट्यूब चैनल की 40% व्यूवरशिप भारत के बाहर से आती है. यानी न केवल भारत के व्यूवर्स का बड़ा हिस्सा बल्कि विश्व भर के व्यूवर्स का भी एक हिस्सा (छोटा ही सही) इसके पास आता है.

T Series v/s PewDiePiw (Screen Shot courtesy - socialblade.com)
T Series v/s PewDiePiw (Screen Shot courtesy – socialblade.com)

# एक और बात बताते हैं. यू-ट्यूब सब्सक्राईबर्स को लेकर इतना रोना केवल एक का दूसरे पर ‘मनोवैज्ञानिक जीत’ पाने को लेकर ही नहीं है. बल्कि सोशल मीडिया के अर्थशास्त्र को जान चुकने पर आपको पता चलेगा कि किसी यू-ट्यूब चैनल की कमाई का उसको मिलने वाले व्यूज़ से चोली दामन का संबध है. और जितने ज़्यादा किसी चैनल के सब्सक्राइबर उतने ज़्यादा व्यूज़. इलसिए ही तो आप देखते हैं हर यू-ट्यूबर अपनी वीडियो के अंत या बीच में चैनल को सब्सक्राइबर करने की रिक्वेस्ट करता ही करता है.

इधर पिउडीपाई ने भी भारत की मार्केट में अपने पांव पसारने के लिए कुछ कार्य करने शुरू कर दिए हैं. न केवल उसने अपने फैन्स से भारत और भारतीयों के बारे में दुष्प्रचार न करने का अनुरोध किया है बल्कि अपने सबसे लेटेस्ट वीडियो में उसने भारत की एक एनजीओ क्राई के लिए फंड इकट्ठा करने की भी सूचना दी है.

‘क्राई’ बच्चों के लिए काम करती है.

लेकिन जो भी हो पिछले पांच सालों का बादशाह पिउडीपाई, अपनी सत्ता एक भारतीय यू-ट्यूब से गंवाता हुआ लग रहा है.


वीडियो देखें –

क्या सचिन पायलट को कांग्रेस के बड़े नेता बीडी कल्ला को कोई शिकायत है?

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
You Tube War of subscription Between PewDiePie and T Series is taking many twists and turns

कौन हो तुम

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला के बारे में 9 सवाल

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

कोहिनूर वापस चाहते हो, लेकिन इसके बारे में जानते कितना हो?

आओ, ज्ञान चेक करने वाला खेल खेलते हैं.

कितनी 'प्यास' है, ये गुरु दत्त पर क्विज़ खेलकर बताओ

भारतीय सिनेमा के दिग्गज फिल्ममेकर्स में गिने जाते हैं गुरु दत्त.

इंडियन एयरफोर्स को कितना जानते हैं आप, चेक कीजिए

जो अपने आप को ज्यादा देशभक्त समझते हैं, वो तो जरूर ही खेलें.

इन्हीं सवालों के जवाब देकर बिनिता बनी थीं इस साल केबीसी की पहली करोड़पति

क्विज़ खेलकर चेक करिए आप कित्ते कमा पाते!

सच्चे क्रिकेट प्रेमी देखते ही ये क्विज़ खेलने लगें

पहले मैच में रिकॉर्ड बनाने वालों के बारे में बूझो तो जानें.

कंट्रोवर्शियल पेंटर एम एफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एम.एफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद तो गूगल कर आपने खूब समझ लिया. अब जरा यहां कलाकारी दिखाइए

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

अगर सारे जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.