Submit your post

Follow Us

जल्दी ही 5G स्पीड पर मूवी डाउनलोड करने का सपना देखने वाले ये पढ़ लें

केंद्र सरकार ने अगले दो साल में 6G सर्विस लॉन्च करने का टारगेट रखा है. केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मंगलवार 23 नवंबर को ये जानकारी दी थी. मतलब सब ठीक रहा तो 2023 के अंत में या 2024 के शुरू में भारतीयों को 6G सर्विस यूज करने के लिए मिल सकती है. लेकिन क्या सब ठीक रहेगा? जानने की कोशिश करेंगे कि 6G का भारत में क्या भविष्य है और हमारे दूरसंचार मंत्री के दावे में कितना दम है. लेकिन पहले 5G की स्थिति पर बात कर लेते हैं.

सरकार ने कन्फर्म किया है कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी 2022 की दूसरी तिमाही में होने की संभावना है. इसके लिए TRAI ने काम शुरू कर दिया है. भारत की तीनों प्रमुख मोबाइल कंपनियों एयरटेल, वोडाफ़ोन आइडिया और जियो ने अपने 5G नेटवर्क परीक्षण के लिए एक साल का वक्त और मांगा है. इसका मतलब साफ़ है कि भले ही आपके स्मार्टफ़ोन नई तकनीक के साथ आ रहे हैं, लेकिन आपको तेज गति वाला इंटरनेट इंजॉय करने के लिए शायद 2023 के मध्य तक इंतज़ार करना पड़े. बता दें कि 5वीं पीढ़ी की इस उन्नत सेलुलर तकनीक से अपलोड और डाउनलोड स्पीड को 4G की 1 Gbps (गीगा बीट्स प्रति सेकंड) की तुलना में 20 Gbps तक बढ़ाया जा सकता है.

अपनी भाषा में कहें तो एक मूवी को डाउनलोड करने में अभी अगर 7 मिनट लगते हैं तो 5G में सिर्फ 6 सेकेंड लगेंगे. ये तो हुई अपनी, यानी एक आम इंटरनेट यूजर की बात. इसके अलावा इस तकनीक से और भी कई काम आसान हो जाएंगे. जैसे रोबोट से ऑपरेशन करवाना, क्योंकि रियल टाइम में तेज और बिना रुके इंटरनेट मिल सकेगा.

इकनॉमिक टाइम्स की एक खबर के मुताबिक़ देश की तीनों टेलीकम्युनिकेशन कंपनियों ने Department of Telecom (DoT) को लिखे एक पत्र में 5G को लेकर अपनी तैयारी के लिए एक और साल का वक्त मांगा है. इससे पहले 5G सर्विस की तैयारी पूरी करने के लिए इन कंपनियों को मिली समयसीमा 26 नवंबर को ख़त्म हो गई है.

एयरटेल और जियो ने इसी साल जून से 5G का परीक्षण शुरू किया था. वहीं वोडाफ़ोन आइडिया ने पिछले महीने से ट्रायल शुरू किया. अब चूंकि इन कंपनियों ने एक और साल का वक्त मांगा है, तो इसका मतलब है कि कम से कम नवंबर 2022 तक ये सर्विस देश में शुरू नहीं होने वाली. हालांकि सरकार पहले इसे अगले साल के पहले तिमाही में करने की योजना बना रही थी.

टेलीकॉम कंपनियों का कहना है कि अभी वो जिस तकनीक का परीक्षण कर रही हैं, वो पहले आई 5G  तकनीक से बिल्कुल अलग है. तकनीकी दिक्कतों, जैसे हैंड्सेट, डिवाइस और टेस्टिंग किट्स के अलावा बुनियादी ढांचे का पूरी तरह तैयार ना होना भी देरी का एक  बड़ा कारण है. इसके साथ बजट भी एक समस्या है, जिसकी भरपाई के लिए हाल ही में कंपनियों की तरफ से प्रीपेड प्लांस में बढ़ोतरी भी की गई है.

कंपनियो का ये भी कहना है कि हालांकि इस तकनीक पर तैयारी काफ़ी पहले से ही की जा रही है, लेकिन अभी भी जिस ईकोसिस्टम की ज़रूरत है, उसके लिए पर्याप्त साझेदार नहीं मिल पाए हैं.

तो मोटी बात ये कि हम जो सपने देख रखे थे कि इस साल के अंत तक 5G  हमारे स्मार्टफ़ोन पर चलने लगेगा, वो अब पूरा होता नज़र नहीं आता. बहुत आशावादी होकर भी सोचें तो 2022 के अंत में या 2023  के शुरुआती महीने में 5G  मिल पाएगा.

6G का भविष्य क्या है?

ये भी आप समझ ही गए होंगे. जब हमें 4G से 5G तक आने में तकरीबन एक दशक से भी ज्यादा का समय लगा है तो सिर्फ अगले दो सालों में 6G का आना दूर की कौड़ी ही लगती है. टैक टारगेट नाम की वेबसाइट की एक खबर के मुताबिक इस तकनीक पर काम ही 2020 में चालू हुआ है. रिपोर्ट के मुताबिक इस टेलीकॉम सर्विस का कमर्शियल यूज 2030 तक शुरू होने की संभावना है.

दुनिया के दूसरे देशों में 6G पर काम हो रहा है. लेकिन सब शुरुआती दौर में है. चीन ने कुछ समय पहले एक टेस्ट सेटेलाइट लांच किया था, लेकिन उसके बाद से कोई ठोस डेवलेपमेंट नहीं दिखने को मिला. फिनलैंड की ओलू यूनिवर्सिटी ने भी जापान के साथ मिलकर 6G तकनीक पर रिसर्च करना शुरू किया है, जिसका टारगेट 2030 में इसको लॉन्च करना है.

साउथ कोरिया के इलेक्ट्रॉनिक एंड टेलीकम्युनिकेशन रिसर्च इंस्टीट्यूट ने भी टेराहर्ट्ज (6G फ्रिक्वेंसी ) पर प्रारम्भिक रिसर्च शुरू ही किया है. वहीं नोकिया, इरिक्सन, सैमसंग ने सिर्फ सिग्नल दिए हैं कि वो 6G तकनीक पर रिसर्च कर रहे हैं.

इतनी जानकारी से साफ लगता है कि 6G तकनीक अभी आरंभिक दौर में है और इस तकनीक में 5G से आगे क्या-क्या होगा, उस पर अभी ठोस तरीके से कुछ कहना भी बेमानी होगी.


एंड्रॉयड स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों के फ़ोन में कब Android 12 अपडेट आने वाला है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.