Submit your post

Follow Us

दुबई के शासक शेख मोहम्मद ने अपनी एक्स-वाइफ़ प्रिंसेज़ हया के फ़ोन हैक क्यों करवाए?

‘मैं उनके काम करने के तरीके से अचंभित रहती हूं. मैं हर दिन ईश्वर को शुक्रिया अदा करती हूं. मैं बेहद भाग्यशाली हूं कि मुझे उनके करीब रहने का मौका मिला है.

2016 में एक मैगज़ीन को दिए इंटरव्यू में प्रिंसेज़ हया ने ये बातें कहीं थी. किसके लिए? अपने पति और दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम के लिए. शेख मोहम्मद, दुबई के शासक होने के साथ-साथ संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के उप-राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी हैं. प्रिंसेज़ हया जॉर्डन के किंग अब्दुल्लाह की सौतेली बहन हैं. शेख मोहम्मद से उनकी शादी 2004 में हुई थी. वो शेख मोहम्मद की छठी पत्नी थी और सबसे प्यारी भी. शेख मोहम्मद को प्रिंसेज़ हया से दो संतानें हुई. दोनों पब्लिक प्लेस में साथ नज़र आते. दोनों को घोड़ों का शौक था. प्रिंसेज़ हया ने 2000 के सिडनी ओलंपिक्स में जॉर्डन का प्रतिनिधित्व भी किया था. वहीं, शेख़ मोहम्मद के कई अस्तबल थे. वे घोड़ों की रेस में जमकर हिस्सा लेते थे. एक समय शेख़ मोहम्मद और प्रिंसेज़ हया की जोड़ी की मिसालें दी जाने लगीं थी.

Haya 3
प्रिंसेज हया अपने पति शेख मोहम्मद बिन राशिद के साथ.

2016 का इंटरव्यू देखकर आपको लग रहा होगा कि ये रिश्ता कितना प्यारा होगा. फिर तीन साल बाद ऐसा क्या हुआ कि प्रिंसेज़ हया अपने दोनों बच्चों को लेकर दुबई से भाग गईं. प्रिंसेज़ हया को किस बात का डर सताने लगा था? उन्होंने ब्रिटेन की अदालत में केस क्यों दायर किया? और, आज हम प्रिेंसेज़ हया की चर्चा क्यों कर रहे हैं? सब विस्तार से बताएंगे.

बेटी शम्सा चुपचाप घर से क्यों निकली?

साल 2000. शेख़ मोहम्मद की एक बेटी शम्सा जून महीने में लंदन आई. छुट्टियां मनाने के लिए. एक दिन वो चुपचाप घर से बाहर निकली और फिर लौटकर नहीं आई. उसने इसके बारे में किसी को नहीं बताया था. छुट्टी वाले घर से निकलने के बाद वो साउथ लंदन गई. वहां कुछ दिनों तक वो एक हॉस्टल में रही. फिर उसने एक वकील से संपर्क किया. वो ब्रिटेन में रहने का कानूूनी ऑप्शन तलाश रही थी.

उसके बाद वो कैम्ब्रिज़ आई. एक दिन एक कार ने उसका रास्ता रोक लिया. कार में चार बंदूकधारी सवार थे. ये लोग शेख़ मोहम्मद के लिए काम करते थे. उन्होंने ज़बरदस्ती शम्सा को अंदर बिठा लिया. इसके बाद उसे बेहोशी के दो इंजेक्शन लगाए गए. उसी हालत में शम्सा को शेख़ मोहम्मद के प्राइवेट जेट में लादकर दुबई लाया गया. उसके बाद शम्सा को किसी ने नहीं देखा. सालों बाद बस उसका एक ईमेल बाहर आया. इसमें उसने बताया था कि उसे नज़रबंद करके रखा गया है. उसे घर से बाहर निकलने की इजाज़त तक नहीं है. यहां तक कि किडनैप किए जाने के बाद उसने अपने पिता तक का चेहरा नहीं देखा है.

Shamsa
शेख मोहम्मद की एक बेटी शम्सा

प्रिंसेज़ लतीफ़ा का क्या हुआ?

शम्सा के गायब होने के दो साल बाद शेख़ की एक और बेटी ने दुबई से भागने की कोशिश की. उसका नाम था प्रिंसेज़ लतीफ़ा. 2002 में भागने के दौरान उसे ओमान बॉर्डर पर पकड़ लिया गया. फिर उसे साढ़े तीन साल तक क़ैद में रखा गया. इस दौरान लतीफ़ा को बुरी तरह टॉर्चर किया जाता था. आधी रात को उसे बिस्तर से उतारकर पीटा जाता था.

लतीफ़ा को उस समय तो काबू में कर लिया गया. लेकिन उसने दुबई से बाहर जाने का प्लान नहीं छोड़ा था. प्रिंसेज़ लतीफ़ा ने 2018 में दोबारा दुबई से भागने की कोशिश की. इस बार उसने नाव के ज़रिए दुबई छोड़ा था. लेकिन भारत के समुद्री तट पर उसे पकड़ लिया गया और बाद में दुबई वापस भेज दिया गया. इसके बाद से लतीफ़ा की अलग-अलग जगहों से तस्वीरें रिलीज़ होती हैं. हालांकि, ये स्पष्ट नहीं है कि वो अपनी मर्ज़ी की ज़िंदगी जी पा रहीं है या नहीं.

Latifa 3
शम्सा के गायब होने के दो साल बाद शेख़ की एक और बेटी ने दुबई से भागने की कोशिश की. उसका नाम था प्रिंसेज़ लतीफ़ा.

जब एक तरफ़ लतीफ़ा वाला मैटर चल रहा था. वहीं दूसरी तरफ़, प्रिंसेज़ हया के ब्रिटिश बॉडीगार्ड के साथ अफ़ेयर की अफ़वाहें उड़ रहीं थी. शेख़ मोहम्मद ने इसको लेकर प्रिेंसेज़ हया से झगड़ा भी किया. उस समय तक हया को इस बात का डर सताने लगा था कि उनका हश्र भी शम्सा और लतीफ़ा के जैसा हो सकता है. इसलिए, 15 अप्रैल 2019 को प्रिेंसेज़ हया अपने दोनों बच्चों को लेकर ब्रिटेन भाग आईं. उन्होंने पहले जर्मनी में शरण मांगी. जब वहां बात नहीं बनी तो वो ब्रिटेन आ गईं.

प्रिंसेज़ हया, शेख़ मोहम्मद से बचकर निकल तो आईं थी. लेकिन शेख़ मोहम्मद ने उनका पीछा नहीं छोड़ा था. उन्होंने फ़रवरी में शरिया कानून के तहत तलाक ले लिया था. लेकिन वो बच्चों की कस्टडी छोड़ने के लिए तैयार नहीं थे.

Haya 5
शेख मोहम्मद ने कभी प्रिंसेस हया का पीछा नहीं छोड़ा

मई 2019 में ब्रिटिश हाईकोर्ट में दोनों बच्चों की कस्टडी को लेकर मुकदमा शुरू हुआ. ये पूरा मुकदमा सीक्रेट था. इसकी जानकारी बाहर नहीं आ रही थी. लेकिन मार्च 2020 में कुछ जानकारी बाहर आ गई. दरअसल, अदालत ने शेख़ मोहम्मद पर लगाए आरोपों को मान लिया था. अदालत ने ये माना था कि लतीफ़ा और शम्सा की किडनैपिंग में शेख़ मोहम्मद का ही हाथ था. मई 2021 में अदालत ने दोनों बच्चों की कस्टडी प्रिंसेज़ हया को दे दी थी.

आज हम ये कहानी क्यों सुना रहे हैं?

दरअसल, 06 अक्टूबर 2021 को ब्रिटिश हाईकोर्ट का एक फ़ैसला पब्लिक डोमेन में आया है. फ़ैसला मई 2021 में ही सुनाया गया था. इसे सावर्जनिक अब किया गया है. इसके मुताबिक, दुबई के शासक शेख मोहम्मद ने अपनी एक्स-वाइफ़ प्रिेंसेज़ हया, उनके वकीलों और सिक्योरिटी से जुड़े लोगों का फ़ोन हैक करवाया. ये सब उस दौरान हुआ, जब ब्रिटिश अदालत में उनके बच्चों की कस्टडी को लेकर सुनवाई चल रही थी.

अदालत ने अपने आदेश में कहा कि ये ब्रिटेन के आपराधिक कानूनों का उल्लंघन है. इसके जरिए बुनियादी अधिकारों और यूरोपियन कन्वेंशन ऑन ह्यूमन राइट्स (ECHR) का हनन किया गया है. अदालत ने ये भी कहा कि एक देश के मुखिया ने अपनी शक्तियों का ग़लत इस्तेमाल किया और कोर्ट की सुनवाई के बीच न्याय में बाधा पहुंचाने की साज़िश की है.

Pegasus Afp 1 11zon
जांच में सामने आया है कि प्रिंसेज़ हया और उनके सहयोगियों का फ़ोन हैक करने के लिए पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल किया गया.

पेगासस के जरिए फोन हैक किया

जांच में सामने आया है कि प्रिंसेज़ हया और उनके सहयोगियों का फ़ोन हैक करने के लिए पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल किया गया. इसे इज़रायली कंपनी NSO बनाती है. इसमें फ़ियोना शैकल्टन का नाम भी है. फ़ियोना, प्रिंसेज़ हया की वकील होने के साथ-साथ ब्रिटिश संसद के ऊपरी सदन हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की मेंबर भी हैं. मतलब ये कि एक ब्रिटिश सांसद को भी पेगासस का शिकार बनाया गया. शेकल्टन को इस बारे में चेरी ब्लेयर से टिप मिली थी. चेरी पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर की पत्नी हैं. वो NSO ग्रुप ने सलाहकार के तौर पर नियुक्त थीं. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, ये जानाकरी मिलने के दो घंटे के भीतर दुबई का सिस्टम बंद कर दिया. ये सब पिछले साल अगस्त में हुआ था. दिसंबर 2020 में NSO ने इसकी जानकारी कोर्ट को दी थी. हालांकि, उसने अपने कस्टमर का नाम नहीं लिया था. लेकिन जो कुछ सबूत और बयान उपलब्ध हैं, उससे तस्वीर साफ़ हो जाती है.

पेगासस को लेकर बवाल क्यों मचा?

जुलाई 2021 में 17 मीडिया संस्थानों ने एक इन्वेस्टिगेटिव रिपोर्ट पब्लिश की थी. इस रिपोर्ट में बताया गया था कि किस तरह से दुनियाभर की सरकारें पेगासस के जरिए अपने आलोचकों और विरोधियों की जासूसी कर रही है. इनमें पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता के अलावा आम लोग भी शामिल थे. NSO ग्रुप ने दावा किया कि पेगासस संभावित आतंकी घटनाओं और दूसरे संगीन अपराधों को रोकने के काम आता है. कंपनी ने ये भी कहा था कि ये स्पाईवेयर सिर्फ़ और सिर्फ़ सरकारों को ही बेचा जाता है.

पेगासस को लेकर इतना बवाल क्यों मचा? पेगासस दुनिया के सबसे ख़तरनाक स्पाईवेयर्स में से एक है. पुराने दौर में फ़ोन हैक करने के लिए कोई लिंक भेजा जाता था. उस लिंक पर क्लिक करने के बाद यूज़र का फ़ोन हैकर्स के काबूू में आ जाता था. पेगासस के साथ ऐसा नहीं है. पेगासस बिना किसी लिंक के भी आपके फ़ोन में दाखिल हो सकता है. मान लीजिए, आपको एक वॉट्सऐप कॉल आया. आपने उसको रिसीव नहीं किया. फिर भी पेगासस आपके फ़ोन को हैक कर सकता है. यानी आप ठान भी लो कि किसी ऐसी-वैसी वेबसाइट पर नहीं जाएंगे, या किसी लिंक पर क्लिक नहीं करेंगे या ज्यादा ऐप्स डाउनलोड नहीं करेंगे, तब भी पेगासस बड़े आराम से आपकी डिवाइस में घुस सकता है.

Cherry Blair And Tony Afp
चेरी ब्लेयर पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर की पत्नी हैं. वो NSO ग्रुप ने सलाहकार के तौर पर नियुक्त थीं.

पेगासस क्या-क्या कर सकता है? ये आपके फ़ोन के डेटा को बाहर भेज सकता है, आपके फ़ोन कॉल को रेकॉर्ड कर सकता है. आपके फ़ोन के कैमरा और माइक्रोफ़ोन को एक्टिवेट कर सकता है. वो भी आपकी जानकारी के बिना. ये कुछ ज्ञात फ़ीचर हैं. जानकारों का मानना है कि पेगासस इससे कहीं अधिक शातिर स्पाईवेयर है. पेगासस का एक हाई-प्रोफ़ाइल उदाहरण सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोग़ी थे. जिन्हें तुर्की स्थित सऊदी दूतावास में क़त्ल कर दिया गया था. जांच में पता चला कि खशोग़ी और उनकी मंगेतर के फ़ोन में पेगासस डाला गया था. इसके बाद से उनके हर मूवमेंट की जानकारी सरकार के पास पहुंच रही थी. जब पेगासस के बारे में खुलासे हो रहे थे, तब लिस्ट में प्रिेंसेज़ हया का नाम भी सामने आया था. कहा गया कि शेख मोहम्मद अपनी एक्स-वाइफ़ की जासूसी करवा रहे हैं. उस समय यूएई ने इन आरोपों से इनकार किया था.

Nso Pegasus Afp

अब ब्रिटिश हाईकोर्ट ने आरोपों को सच करार दिया है. इससे यूएई और NSO, दोनों की साख को बट्टा लगा है. NSO का ये दावा ग़लत साबित हुआ है कि पेगासस को सिर्फ़ आपराधिक या आंतरिक घटनाओं पर लगाम कसने के लिए बेचा गया. प्रिेंसेज़ हया के मामले में यूएई को ऐसा कोई ख़तरा नहीं था. इसके बावजूद उनकी निगरानी कराई गई. वो भी एक पारिवारिक मामले में.

कोर्ट की तरफ से जारी दस्तावेज से और क्या पता चला है?

इससे पता चला है कि हैकिंग सफ़ल रही. प्रिेंसेज़ हया के फ़ोन से लगभग 265 एमबी का डेटा चुराया गया. हालांकि, फ़ोन से क्या डेटा चुराया गया, इस बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है. इसके अलावा, शेख के एजेंट्स ने प्रिेंसेज़ हया के घर के पास एक प्रॉपर्टी खरीदने की कोशिश भी की थी. ये जगह इतनी पास थी कि प्रिंसेज़ हया के घर को आसानी से टारगेट किया जा सकता था. प्रिंसेज़ हया की लीगल टीम ने इस पर आपत्ति जताई. इसके बाद ही डील रोकी गई थी.

Sheikh And Elizabeth
ब्रिटेन में शेख़ मोहम्मद की कई महंगी संपत्तियां हैं. ब्रिटेन की महारानी के साथ उनके अच्छे संबंध रहे हैं.

शेख़ मोहम्मद ने फिर से इन सभी आरोपों को नकारा है. उन्होंने कहा कि उन्हें इस हैकिंग के बारे में कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने पेगासस के जरिए जासूसी का आदेश देने के आरोप से भी इनकार किया. उन्होंने कहा कि ये मसला स्टेट की सिक्योरिटी से जुड़ा है. इसलिए वो इस पर अधिक जानकारी नहीं दे सकते. शेख़ मोहम्मद की तरफ़ से जारी बयान में कहा गया कि जो कुछ खुलासे हुए हैं, उसके बारे में उन्हें या उनकी लीगल टीम को कोई जानकारी नहीं दी गई. उन्होंने जांच को पक्षपाती बताया है.

क्या शेख़ मोहम्मद से कभी पूछताछ हो सकेगी?

इसकी संभावना न के बराबर है. दुबई का शासक होने के नाते उन्हें इन सबसे छूट मिली हुई है. इसके अलावा, ब्रिटेन और यूएई के हित आपस में गुत्थम-गुत्था हैं. ब्रिटेन के एक लाख से अधिक नागरिक यूएई में रहते हैं. ब्रिटेन में शेख़ मोहम्मद की कई महंगी संपत्तियां हैं. ब्रिटेन की महारानी के साथ उनके अच्छे संबंध रहे हैं. इसके अलावा, यूएई और ब्रिटेन एक-दूसरे के सहयोगी भी हैं. प्रिेंसेज़ हया और उनके बुनियादी अधिकारों के लिए ब्रिटेन इन संबंधों की तिलांजलि दे देगा, ये संभव नहीं लगता. हालांकि, अदालत का ताज़ा फ़ैसला शेख़ मोहम्मद की इमेज़ के लिए बड़ा झटका है.


दुनियादारी: बच्चों को लेकर दुबई से भागने वाली प्रिंसेज़ हया को किस बात का डर सता रहा था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

कहानी 'मनी हाइस्ट' के 'बर्लिन' की, जिनका इंडियन देवी-देवताओं से ख़ास कनेक्शन है

कहानी 'मनी हाइस्ट' के 'बर्लिन' की, जिनका इंडियन देवी-देवताओं से ख़ास कनेक्शन है

'बर्लिन' की लोकप्रियता का आलम ये था कि पब्लिक डिमांड पर उन्हें मौत के बाद भी शो का हिस्सा बनाया गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.